Saturday, December 3, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Shaniwar Ke Upay: शनिवार को इन उपायों से करियर में मिलती है तरक्की, दरिद्रता भी होती है दूर

Shaniwar Ke Upay: आज 22 अक्टूबर और कार्तिक मास का दूसरा शनिवार है। शनिदेव सच्ची निष्ठा और पवित्र ह्रदय से किए गए काम से प्रसन्न होते हैं।

Shaniwar Ke Upay: आज साल 2022 के अक्टूबर महीने का चौथा और कार्तिक मास का दूसरा शनिवार (Shaniwar) है। मान्यता के मुताबिक आज दिन शनिदेव (Shani Dev) का होता है। शास्त्रों में शनिदेव (Shani Dev) को न्याय का देवता कहा गया है। नाराज होने से राजा को रंक बना देते हैं तो खुश होने पर भक्तों पर कृपा बरसाते हैं। शनिदेव को खुश करना आसान नहीं हैं। लेकिन सच्ची निष्ठा और पवित्र ह्रदय से किए गए काम से शनिदेव प्रसन्न होते हैं।

अभी पढ़ें Rama Ekadashi 2022: रमा एकादशी पर आज जरूर पढ़ें ये कथा, विष्णु जी पूरी करेंगे हर इच्छा

शनिदेव की नियमानुसार पूजा और व्रत करने से शनिदेव की कृपा होती है और सारे दुख खत्म हो जाते हैं. वहीं अगर शनिदेव नाराज हो जाते हैं तो मनुष्य पर कई तरह के संकट आते हैं। बहुत से ऐसे लोग हैं जिनका बना हुआ काम बिगड़ जाता है। खासकर शनिवार को तो कुछ न कुछ नुकसान जरूर होता है। अगर आपके साथ भी कुछ ऐसा ही होता है, तो आपको शनि को शांत करने के लिए कुछ उपाय करने के साथ विशेष पूजन विधि से शनिदेव को प्रसन्न करने का प्रयास करना चाहिए।

आज हम आपको कुछ ऐसे उपाय बता रहें हैं जिनसे आप शनिदेव  को प्रसन्न कर सकते हैं। शनिदेव (Shani Dev) के प्रसन्न होने पर आपके जीवन के हर दुख का अंत हो जाएगा।

– ब्रह्म मुहूर्त में पीपल के पेड़ पर जल चढ़ाएं और ‘ऊं शं शनैश्चराय नम:’ मंत्र का जाप करें । फिर पीपल को छूकर प्रणाम करने के बाद सात परिक्रमा करें। शनिवार को एक बार ही भोजन करें और 7 बार शनि मंत्र दोहराएं।

– कड़ी मेहनत के बाद भी सफलता नहीं मिल रही है तो किसी हनुमान मंदिर जाएं और अपने साथ एक नींबू और 4 लौंग रख लें। इसके बाद मंदिर में पहुंचकर नींबू के ऊपर चारों लौंग लगा दें। फिर हनुमान जी के सामने बैठकर हनुमान चालीसा का पाठ करें। इसके बाद हनुमान जी से सफलता दिलवाने की प्रार्थना करें और नींबू लेकर कार्य प्रारंभ कर दें। इससे आपके कार्य में सफलता की संभावना बढ़ जाएगी।

शनिवार को इन मंत्रों के जाप से दूर होते हैं कष्ट (Shaniwar Mantra) 

शनि देव का तांत्रिक मंत्र- ऊँ प्रां प्रीं प्रौं सः शनये नमः
शनि देव के वैदिक मंत्र- ऊँ शन्नो देवीरभिष्टडआपो भवन्तुपीतये
शनि देव का एकाक्षरी मंत्र- ऊँ शं शनैश्चाराय नमः
शनि देव का गायत्री मंत्र- ऊँ भगभवाय विद्महैं मृत्युरुपाय धीमहि तन्नो शनिः प्रचोद्यात्।।

अभी पढ़ें Aaj Ka Rashifal 22nd October: चार रशियों पर शनिदेव की रहेगी कृपा, चमेगा भाग्य, मेष से मीन तक यहां जानें सभी 12 राशियों का आज का राशिफल

शनिदेव की कृपा पाने के उपाय (Shaniwar Ke Upay)

  • शनिवार को तेल से बने पदार्थ भिखारी को खिलाने से शनि देव प्रसन्न होते हैं।
  • शाम को अपने घर में गूगुल का धूप जलाएं।
  • भिखारियों को काले उड़द का दान करें।
  • जल में काले उड़द को प्रवाहित करें।
  • शनिवार को सुंदरकांड का पाठ सर्वश्रेष्ठ फल प्रदान करता है।
  • चींटियों को गोरज मुहूर्त में तिल चौली डालें।
  • शनिवार के दिन उड़द, तिल, तेल, गुड़ का लड्डू बना लें और जहां हल न चला हो वहां गाड़ दें।
  • शनिवार की रात में रक्त चन्दन से ’ऊं ह्वीं  भोजपत्र पर लिख कर नित्य पूजा करने से अपार विद्या, बुद्धि की प्राप्ति होती है।
  • शनिवार को काले कुत्ते, काली गाय को रोटी और काली चिड़िया को दाने डालने से जीवन की रूकावटें दूर होती हैं।

अभी पढ़ें – आज का राशिफल यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -