Saturday, 20 April, 2024

---विज्ञापन---

Sawan Pradosh Vrat: सावन के आखिरी प्रदोष पर बनने जा रहे हैं ये 5 शुभ संयोग, जानें शुभ मुहूर्त और पूजन की सही विधि

Sawan Pradosh Vrat: अधिक मास की वजह से इस बार सावन का पवित्र महीना बेहद खास माना जा रहा है। सावन का महीना अब समाप्ति की ओर है। ऐसे में पंचांग के अनुसार, सावन का आखिरी प्रदोष व्रत 28 अगस्त, सोमवार को रखा जाएगा। मान्यतानुसार, सावन के सभी प्रदोष व्रत शिवजी की उपासना के लिए […]

Edited By : Dipesh Thakur | Updated: Aug 23, 2023 13:14
Share :
Sawan Pradosh Vrat
Sawan Pradosh Vrat

Sawan Pradosh Vrat: अधिक मास की वजह से इस बार सावन का पवित्र महीना बेहद खास माना जा रहा है। सावन का महीना अब समाप्ति की ओर है। ऐसे में पंचांग के अनुसार, सावन का आखिरी प्रदोष व्रत 28 अगस्त, सोमवार को रखा जाएगा। मान्यतानुसार, सावन के सभी प्रदोष व्रत शिवजी की उपासना के लिए अत्यंत खास माने गए हैं। लेकिन सावन के आखिरी प्रदोष व्रत पर 5 बेहद शुभ संयोग बनने जा रहे हैं। ऐसे में इस दिन व्रत रखकर विधि-विधान से शिवजी की पूजा करने से कई गुना अधिक फल प्राप्त हो सकता है। आइए जानते हैं कि सावन के आखिरी प्रदोष व्रत पर कौन-कौन से 5 शुभ संयोग बनने जा रहे हैं और इस दिन पूजा के लिए शुभ मुहूर्त और विधि क्या है।

सावन के आखिरी प्रदोष पर बनेंगे ये 5 शुभ योग | Sawan Pradosh Vrat Shubh Yoga

ज्योतिष शास्त्र और पंचांग के मुताबिक, इस साल सावन के आखिरी प्रदोष पर कई शुभ संयोग बनेंगे। प्रदोष व्रत के दिन सर्वार्थसिद्धि योग, रवि योग, सौभाग्य योग और आयुष्मान योग का खास संयोग बनने जा रहा है। सबसे खास बात ये है कि इस बार प्रदोष व्रत पर सोमवार का खास संयोग बन रहा है। सोमवार शिवजी को बेहद प्रिय है। ऐसे में इस दिन शिवजी की पूजा से कई गुणा अधिक लाभ प्राप्त होगा। साथ ही भक्तों की हर मनोकामना पूरी होती है। इसके अलावा इस दिन शिवजी की रुद्राभिषेक करना भी मंगलकारी साबित होगा।

यह भी पढ़ें: Budh Vakri 2023: कल से बुध वक्री होकर खोलने जा रहे हैं इन राशियों की किस्मत, भर जाएगी धन की तिजोरी!

सावन प्रदोष व्रत शुभ मुहूर्त | Sawan Pradosh 2023 Shubh Muhurat

पंचांग के अनुसार, प्रदोष व्रत हर महीने को दोनों ही पक्षों की त्रयोदशी तिथि को रखा जाता है। सावन का आखिरी प्रदोष व्रत 28 अगस्त को रखा जाएगा। दृक पंचांग के मुताबिक, सावन शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि 28 अगस्त (सोमवार) को शाम 6 बजकर 48 मिनट से शुरू हो रही है। जबकि इस शुभ तिथि का समापन 29 अगस्त को दोपहर 2 बजकर 47 मिनट पर होगा। धर्म शास्त्र के जानकार बताते हैं कि प्रदोष पूजा के लिए सूर्यास्त का समय शुभ होता है। इस दिन शिवजी की पूजा प्रदोष काल में करना शुभ रहता है। ऐसे में इस बार प्रदोष व्रत की पूजा के लिए शुभ मुहूर्त 28 अगस्त की शाम 6 बजकर 48 मिनट से शुरू होकर रात 9 बजकर 02 मिनट तक है। ऐसे में इस शुभ मुहूर्त में प्रदोष व्रत की पूजा करने से विशेष लाभ प्राप्त होगा।

डिस्क्लेमर : यहां दी गई जानकारी ज्योतिष शास्त्र और सामान्य जानकारी पर आधारित है और केवल सूचनाओं के लिए दी गई है। News24 इसकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी उपाय को करने से पहले संबंधित विषय के जानकार से जरूर सलाह लें।

First published on: Aug 23, 2023 01:04 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें