Thursday, 18 April, 2024

---विज्ञापन---

Kendra Trikon Rajyog: बुध देव का मेष राशि में हुआ गोचर, इन राशियों को त्रिकोण राजयोग दिलाएगा लाभ

Kendra Trikon Rajyog: वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, इस समय बुध देव मेष राशि में विराजमान हैंं। ऐसे में बुध देव केंद्र त्रिकोण राजयोग का निर्माण बना रहे हैं। बुध देव के त्रिकोण राजयोग बनाने से कई राशियों को लाभ ही लाभ होगा। तो आइए उन राशियों के बारे में जानते हैं।

Edited By : Raghvendra Tiwari | Updated: Mar 27, 2024 20:14
Share :
Budh Gochar 2024

Kendra Trikon Rajyog: ग्रहों के राजकुमार और बुद्धि के कारक बुध देव इस समय मेष राशि में गोचर कर चुके हैं। बुध देव बीते कल यानी 26 मार्च को हो मेष राशि में प्रवेश किए हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, बुध देव के मेष राशि में प्रवेश करने से केंद्र त्रिकोण राजयोग बन गया है। बता दें कि बुध देव मेष राशि के लग्न भाव में विराजमान हैं। साथ ही मकर राशि के चौथे भाव में गोचर करेंगे। ऐसे में बुध देव केंद्र त्रिकोण राजयोग का निर्माण करेंगे।

ज्योतिषियों के अनुसार, जब भी बुध देव त्रिकोण राजयोग का निर्माण करते हैं तो सभी प्राणियों को दो गुना फल की प्राप्ति होती है। सभी लोगों को करियर और कारोबार में सफलता मिलती है। तो आज इस खबर में जानेंगे कि बुध देव के केंद्र त्रिकोण राजयोग बनने से किन-किन राशियों को क्या-क्या प्रभाव पड़ेगा।

मेष राशि

मेष राशि वाले लोगों के लिए केंद्र त्रिकोण राजयोग अनुकूल साबित होगा। कारोबार में जमकर लाभ होगा। करियर में अचानक बदलाव देखने को मिलेंगे। जो छात्र प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं उनको जल्द ही खुशखबरी मिल सकती है। सेहत से संबंधित सारी परेशानियां दूर हो जाएंगी।

वृषभ राशि

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, मेष राशि में बुध देव के गोचर करने से वृषभ राशि वाले लोगों को लाभ ही लाभ होगा। क्योंकि वृषभ राशि में केंद्र त्रिकोण राजयोग बारहवें भाव में बनने जा रहा है। ऐसे में जो लोग विदेश जाने का बारे में सोच रहे हैं उनका सपना जल्द पूरा होने वाला है। साथ ही सभी तरह की समस्याओं से मुक्ति भी मिलेगी।

मकर राशि

मकर राशि वाले लोगों के लिए केंद्र त्रिकोण राजयोग बहुत ही शुभ साबित होगा। क्योंकि मकर राशि में बुध देव चौथे भाव में बना रहे हैं। बता दें कि ऐसे में जातक को संपत्ति समस्या से छुटकारा मिल सकता है। साथ ही भौतिक सुख-सुविधाओं में विस्तार होगा।

यह भी पढ़ें- कब है पापमोचनी एकादशी, जानें शुभ तिथि, मुहूर्त और महत्व

यह भी पढ़ें- नवरात्रि के कुछ घंटे पहले लगेगा साल का पहला सूर्य ग्रहण

यह भी पढ़ें- कब से शुरू हो रहे हैं चैत्र नवरात्र‍ि, जानें शुभ तिथि और घटस्थापना मुहूर्त

डिस्क्लेमर: यहां दी गई जानकारी ज्योतिष पर आधारित है तथा केवल सूचना के लिए दी जा रही है। News24 इसकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी उपाय को करने से पहले संबंधित विषय के एक्सपर्ट से सलाह अवश्य लें।

First published on: Mar 27, 2024 08:14 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें