Saturday, December 3, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Ganesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी की रात चांद देखना शुभ होता है या अशुभ, यहां जानें क्या है मान्यता?

Ganesh Chaturthi 2022: महाराष्ट्र में गणेश चतुर्थी का त्योहार 10 दिन बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन चांद को अर्घ्य देकर पूजा शुरू होती है। वहीं उत्तर भारत में गणेश चतुर्थी के दिन चांद को न देखने की परंपरा है। 

Ganesh Chaturthi 2022: इस साल 10 सितंबर से गणेश चतुर्थी का त्योहार शुरू होने जा रहा है। गणेश चतुर्थी को विनायक चतुर्थी या फिर गणेश महोत्सव के रूप में भी मनाया जाता है। महाराष्ट्र में गणेश चतुर्थी का त्योहार 10 दिन बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन चांद को अर्घ्य देकर पूजा शुरू होती है। वहीं उत्तर भारत में गणेश चतुर्थी के दिन चांद को न देखने की परंपरा है। इस दिन चांद देखना अशुभ माना जाता है। इसके पीछे मान्यता है कि चतुर्थी का चांद देखने से कलंक लगता है।

अभी पढ़ें इन राशियों के लिए आज बड़ा दिन, मेष से मीन तक यहां जानें किसका होगा भाग्योदय

शास्त्रों के अनुसार इस दिन गणेश भगवान ने चांद को यह श्राप दिया कि जो भी इस दिन चांद का दीदार करेगा उसे कलंक लगेगा। गणेश पुराण के अनुसार एक बार भगवान श्री कृष्ण ने भी शुक्ल पक्ष की चतुर्थी के दिन आसमान में नजर आ रहे खूबसूरत चांद को देख लिया और फिर कुछ ही दिनों बाद ही उन पर हत्या का झूठा आरोप लग गया।

श्रीकृष्ण को बाद में नारद मुनि ने ये बताया कि ये कलंक उन पर इसलिए लगा है, क्योंकि उन्होंने चतुर्थी के दिन चांद देख लिया। अगर आपने चांद देखने की गलती कर दी है तो इस दिन भागवत की स्यमंतक मणि की कथा सुने और पाठ करें। या फिर मौली में 21 दूर्वा बांध कर मुकुट बनाएं और उसे गणेश जी को पहनाएं।

गौरतलब है कि गणपति को अपने पिता भगवान से वरदान मिला था कि सभी शुभ कामों में पहला निमंत्रण उन्हें दिया जाएगा। इसी के साथ गणेश जी को प्रथम निवेदन भगवान भी मानते हैं जो भक्तों के कष्ट एक ही पुकार में दूर कर देते हैं। 31 अगस्त से 9 सिंतबर तक गणेश उत्सव का त्योहार धूमधाम से पूरे देश में मनाया जाएगा।

अभी पढ़ें प्रेम संबंध में इन्हें मिल सकती है बदनामी, सभी मूलांक वाले यहां जानें अपना राशिफल

गणेश चतुर्थी के दिन घर में भगवान गणेश की मूर्ति स्थापित की जाती है। इसके बाद पूरे दस दिन उसकी पूजा की जाती है और आखिरी दिन इस मूर्ति का विसर्जन किया जाता है। इस बार गणेश चतुर्थी का त्योहार 31 अगस्त से शुरू होकर 9 सिंतबर तक मनाया जाएगा, जिसके बाद भगवान गणेश की प्रतिमा को 10वें दिन विसर्जित किया जाएगा है। शास्त्रों के अनुसार, श्रीगणेश की प्रतिमा की 1, 2, 3, 5, 7, 10 आदि दिनों तक पूजा करने के बाद उसका विसर्जन करते हैं।

अभी पढ़ें – आज का राशिफल यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -