Tuesday, 27 February, 2024

---विज्ञापन---

पति से थी महिला की ‘दुश्मनी’, सबक सिखाने के लिए अपनी ही दोनों बेटियों को मार डाला

Americas murderous woman jailed: संयुक्त राज्य अमेरिका में दो बेटियों की हत्यारी मां को कोर्ट ने 78 साल की सजा सुनाई है। मामला उत्तरी वर्जीनिया का है, जहां पर एक महिला ने अपनी दो बेटियों की गोली मारकर हत्या कर दी। हत्या करने से पहले महिला ने बेटियों को मेलाटोनिन युक्त दवा खिलाकर बेहोश किया। […]

Edited By : News24 हिंदी | Updated: Sep 25, 2023 09:27
Share :
america news, news 24 news

Americas murderous woman jailed: संयुक्त राज्य अमेरिका में दो बेटियों की हत्यारी मां को कोर्ट ने 78 साल की सजा सुनाई है। मामला उत्तरी वर्जीनिया का है, जहां पर एक महिला ने अपनी दो बेटियों की गोली मारकर हत्या कर दी। हत्या करने से पहले महिला ने बेटियों को मेलाटोनिन युक्त दवा खिलाकर बेहोश किया। महिला का नाम वेरोनिका यंगब्लड है, जो 38 साल की है। मामला अगस्त 2018 का बताया जा रहा है। महिला ने मैकलीन में अपने अपार्टमेंट में हत्याकांड को अंजाम दिया। जिसके कारण 15 साल की शेरोन कास्त्रो और 5 साल की ब्रुकलीन यंगब्लड की मौत हो गई थी।

कास्त्रो ने गोली लगने के बाद भी पुलिस को 911 पर सूचित किया था। बताया था कि कैसे मां ने हत्याकांड को अंजाम दिया है। मामले में दो सप्ताह तक जांच चली थी। सामने आया था कि महिला का अपने पूर्व पति रॉन यंगब्लड से विवाद चल रहा था। बच्चों की कस्टडी के विवाद के कारण वेरोनिका ने हत्याकांड को अंजाम दिया था। महिला खुद को भी मार देना चाहती थी। पूर्व पति अपने साथ दोनों बेटियों को मिसौरी जाना चाहता था। जिसके बाद वेरोनिका ने आपत्ति जताई थी। जिसके बाद उसकी केवल ब्रुकलिन को साथ ले जाने को लेकर सहमति बनी थी।

कोर्ट में बोली महिला-अच्छी मां रही हूं

महिला ने अपने बिस्तर पर दोनों बेटियों को गोली मारी थी। महिला ने केस के दौरान अपनी मानसिक स्थिति को लेकर भी स्पष्टीकरण दिया। लेकिन जूरी ने सब चीजों को इग्नोर कर 78 साल की सजा सुनाई। यंगब्लड की ओर से ये भी तर्क दिया गया कि वह बचपन में गरीबी में अर्जेंटीना में पली है। उसने अपनी बड़ी बेटी को पालने के लिए यौन कर्मी के तौर पर भी काम किया है। शुक्रवार को सजा सुनाई गई। महिला ने कहा कि वह अच्छी मां रही है। लेकिन अचानक उसको पता नहीं क्या हो गया।

ये भी पढ़ें-गोवा में सस्ती और कर्नाटक में सबसे महंगी बिक रही शराब, दामों में 5 गुना तक अंतर

काम नहीं आया वकीलों का तर्क

वकीलों ने ये भी तर्क दिया कि महिला की दोनों सजाएं एक साथ चलें। जिसके बाद वो 78 के बजाय 42 साल में जेल से रिहा हो जाएगी। लेकिन जूरी ने साफ कहा कि बच्चों को सेफ रखने से बेहतर मां-पिता के पास कुछ नहीं होता। लेकिन मां ही बेटियों के लिए काल बन गई। ये एक प्रीप्लांड मर्डर था, जिसके लिए पहले से हथियार खरीदे गए।

पूरी साजिश के साथ वारदात की गई। सुनवाई के दौरान महिला के पति ने कोर्ट में ऐसी सीट चुनी थी, जहां से वह अपनी पत्नी को न देख सके। पति ने कहा कि दुश्मनी उसके साथ थी। लेकिन महिला बेटियों के साथ ऐसा कर सकती थी। कभी नहीं सोचा था।

First published on: Sep 25, 2023 07:11 AM
संबंधित खबरें