Thursday, 22 February, 2024

---विज्ञापन---

New Year से पहले खतरा! Cheese बना ‘जान का दुश्‍मन’, नए वैर‍िएंट से विशेषज्ञ भी अनजान

Cheese Causes Death In Britain: चीज खाने से एक शख्स की जान चली गई है। वहीं कुछ लोग अस्पताल में भर्ती हैं, आखिर मामला क्या है जानिए?

Edited By : Khushbu Goyal | Updated: Dec 30, 2023 12:55
Share :
Cheese Causes Death In Britain
Cheese Causes Death In Britain

Cheese Causes Death In Britain: नए साल से पहले ही दुनिया पर एक नया खतरा मंडराने लगा है। ब्रिटेन में एक अजीबोगरीब वैरिएंट का पता चला है, जो चीज खाने से फैला। क्रिसमस की रात को डेयरी फर्म से लोगों ने चीज खरीदा और खाया, लेकिन उसे खाने से करीब 30 लोग बीमार हो गए। इनमें 7 साल से कम उम्र के बच्चे भी शामिल हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि बीमार लोगों में से 11 मरीज अस्पताल में भर्ती हैं। वहीं एक मरीज की मौत हो चुकी है। इससे ब्रिटेन के स्वास्थ्य विभाग में खलबली मची हुई है। ब्रिटेन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी भी अभी तक यह नहीं जान पाए कि आखिर चीज खाने से मौत कैसे हो गई? क्या यह कोरोना का नया वैरिएंट है? या कोई संक्रमण, जिसने बच्चों और बुजुर्गों को अपना शिकार बनाया।

 

मार्केट से कंपनी से वापस मंगाया स्टॉक

डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार, ग्राहम किर्कम नामक शख्स की लंकाशायर में बेकरी प्रोडक्ट्स की दुकान है, जिससे लोगों ने चीज खरीदकर खाया था, लेकिन खाद्य मानक एजेंसी (FSA) ने एहतियात के तौर पर किर्कम की दुकान से प्रोडक्ट का स्टॉक वापस मंगा लिया। 30 अक्टूबर 2023 से 16 जनवरी 2024 तक इस्तेमाल किए जाने वाले सभी प्रकार के बेकरी और डेयरी प्रोडक्ट का स्टॉक FSA ने जांच के लिए कब्जे में ले लिया है। बेकरी और डेयरी प्रोडक्ट कंपनी ने भी खुद एक अक्टूबर से क्रिसमस ईव के बीच बेचे गए सभी प्रोडक्ट्स का स्टॉक वापस मंगा लिया है। किर्कम की डेयरी में पनीर कच्चे दूध से बनाया जाता है, जो हीटिंग प्रोसेस से नहीं बनाया जाता। अगर ऐसा होता तो इसमें संभावित हानिकारक कीड़े मर जाते। ऐसे में चीज बनाने में लापरवाही बरती गई। स्वास्थ्य विभाग और खाद्य मानक एजेंसी (FSA) मिलकर पता लगाने में जुटे हैं कि आखिर चीज बनाने में कहां लापरवाही बरती गई, जो यह जानलेवा हो गया।

संक्रमण फैलने के कारण तलाशे जा रहे

डेली मेल के अनुसार, चीज खाने से मौत स्कॉटलैंड में हुई, हालांकि पीड़ित की उम्र का खुलासा नहीं किया गया, लेकिन UK की स्वास्थ्य सुरक्षा एजेंसी (UKHSA) के अनुसार, बीमार लोगों में 7 साल का बच्चा भी शामिल है। सबसे बुजुर्ग मरीज 81 वर्ष के थे। ब्रिटेन का स्वास्थ्य विभाग इस एंगल से भी जांच कर रहा है कि क्या इसके लिए कोई अन्य सोर्स जिम्मेदार हो सकता है? दूषित खाद्य पदार्थ, जैसे कच्ची पत्तेदार सब्जियां या अधपका मांस खाने से भी संक्रमण फैलता है। अत्यधिक संक्रामक बैक्टीरिया संक्रमित जानवरों या उनके मल को छूने और अन्य बीमार लोगों के संपर्क में आने से भी फैल सकता है। इसके लक्षणों में उल्टी, बुखार, पेट में ऐंठन और दस्त शामिल हैं, लेकिन 15 प्रतिशत मामलों में, हेमोलिटिक यूरीमिक सिंड्रोम (HUS) का कारण संक्रमण बन सकता है, जो जानलेवा स्थिति है, जो किडनी फेल होने का कारण बन सकता है। 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चे HUS से सबसे अधिक प्रभावित होते हैं।

यह भी पढ़ें: Saddam Hussein: एक क्रूर तानाशाह, जो मसीहा भी कहलाया, 148 लोगों को मरवाया, खून से लिखवाई कुरान

यह भी पढ़ें: रूस-यूक्रेन से पहले लड़ी गई वो जंग, जो 335 साल चली, न फायरिंग हुई और न कोई मारा गया

First published on: Dec 30, 2023 12:50 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें