Thursday, 22 February, 2024

---विज्ञापन---

आतंकी पन्नू पर चुप रहने वाले ट्रूडो को करनी होगी Air India विमानों की सुरक्षा, भारत की दो टूक

Air India Flights SFJ Chief Gurpatwant Pannun Threat Indian High Commissioner Ask Enhance Security: हाई कमिश्नर वर्मा ने कहा कि हमने पन्नू के वीडियो को देखा है। यह शिकागो कन्वेंशन का स्पष्ट उल्लंघन है।

Edited By : Bhola Sharma | Updated: Nov 5, 2023 14:04
Share :
India-Canada Row, Gurpatwant Pannun, Sikh For Justice, Air India flight
Air India flight

Air India Flights SFJ Chief Gurpatwant Pannun Threat Indian High Commissioner Ask Enhance Security: खालिस्तानी आतंकी समूह सिख्स फॉर जस्टिस (SFJ) के चीफ गुरपतवंत सिंह पन्नू की धमकियों को भारत सरकार ने गंभीरता से लिया है। पन्नू ने शनिवार को एक वीडियो जारी कर कहा था, ’19 नवंबर को यात्री एयर इंडिया से यात्रा न करें, आपकी जान खतरे में हो सकती है।’ ये बातें उसने दो बार कही थी। उसने वैंकूवर से लंदन तक एयरलाइन की ग्लोबल ब्लॉकेज (वैश्विक नाकेबंदी) का आह्वान किया था। भारत ने एयर इंडिया की सुरक्षा को लेकर कदम बढ़ा दिया है। इस संबंध में कनाडा के अधिकारियों से भी बात की जाएगी।

हाई कमिश्नर बोले- खतरे को अफसरों के सामने उठाएंगे

हिंदुस्तान टाइम्स से बातचीत में ओटावा में भारत के हाई कमिश्नर संजय कुमार वर्मा ने कहा कि हम कनाडा और भारत के बीच एयर इंडिया की उड़ानों के खिलाफ खतरे को संबंधित कनाडाई अफसरों के सामने उठाएंगे। एयर इंडिया कनाडा के टोरंटो और वैंकूवर शहरों से नई दिल्ली के बीच कई साप्ताहिक सीधी उड़ानें संचालित करती है।

हाई कमिश्नर वर्मा ने कहा कि हमने पन्नू के वीडियो को देखा है। यह शिकागो कन्वेंशन का स्पष्ट उल्लंघन है। कन्वेंशन में अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के लिए बकायदा नियम हैं। कनाडा, भारत और कई देश कन्वेंशन के पक्षकार हैं। भारत और कनाडा के बीच द्विपक्षीय नागरिक उड्डयन समझौते के तहत ऐसे खतरों से निपटने के नियम मौजूद हैं।

शिकागो कन्वेंशन करेगा भारत की मदद

संयुक्त राष्ट्र की विशेष एजेंसी अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन (ICAO) की स्थापना 1944 में हुई थी। इसे अंतराष्ट्रीय स्तर पर विमानों के टेकऑफ, लैंडिंग, प्रशासन के मैनेजमेंट के लिए बनाया गया था। इसमें उस वक्त 54 देश शामिल हुए थे। इस समय इसके 193 सदस्य देश हैं। इसका मुख्यालय कनाडा के मॉन्ट्रियल में है। कंन्वेंशन पर 7 दिसंबर 1944 को शिकागो में हस्ताक्षर किए गए थे, इसलिए इसे शिकागो कन्वेंशन कहते हैं।

38 साल पहले खालिस्तानी आतंकियों ने एयर इंडिया को बनाया था निशाना

खालिस्तानी आतंकी 38 साल पहले एयर इंडिया को निशाना बना चुके हैं। जिसमे कनिष्क विमान हादसा भी कहा जाता है। यह कनाडा के इतिहास में आतंकवाद की सबसे भयानक घटना बनी थी। एयर इंडिया का विमान 23 जून, 1985 को भारत आ रही थी। तभी खालिस्तानी आतंकवादियों ने एयर इंडिया की उड़ान संख्या 182 कनिष्क में बम विस्फोट कर दिया था। जिसमें 329 लोगों की जान चली गई थी। विमान समुद्र में गिरा था।

उसी वक्त टोक्यो के नरीता एयरपोर्ट पर एक और धमाका हुआ। जिसमें जापान के दो बैग हैंडलर्स की मौत हुई थी। यह बम बैंकॉक जाने वाली एयर इंडिया के विमान में प्लांट करने की साजिश थी, मगर वक्त से पहले फट गया था।

यह भी पढ़ें: बड़बोले जस्टिन ट्रूडो को उल्टा पड़ा दांव, निज्जर हत्याकांड पर भारत ने पूछा- सबूत कहां है

First published on: Nov 05, 2023 01:13 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें