Saturday, December 3, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Aaj Ka Mausam: ‘सितरंग’ चक्रवात का असर, देश के 9 से ज्यादा राज्यों में भारी बारिश

Aaj Ka Mausam: चक्रवात सितरंग का असर दिखना शुरू हो गया है। पश्चिम बंगाल समेत देश के कम से कम 9 राज्यों में भारी बारिश हो रही है। मौसम विभाग ने इन राज्यों में अगले दो दिनों तक तेज बारिश की भविष्यवाणी की है।

Aaj Ka Mausam: देश के कई हिस्सों में आज भी मौसम का मिजाज बिगड़ा हुआ नजर आ रहा है। मौसम विभाग ने आज भी कई राज्यों में तेज हवा के साथ भारी बरिश की आशंका जताई जा रही है। दरअसल बंगाल की खाड़ी के ऊपर बने गहरे दबाव का क्षेत्र चक्रवात में तब्दील होता नजर आ रहा है। थाईलैंड ने इस चक्रवाल का नाम सितरंग (Cyclone Sitrang ) दिया है। यह चक्रवात तेजी से बांग्लादेश के तट की तरफ बढ़ रहा है।

त्रिपुरा, असम, मिजोरम, मणिपुर, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश, पश्चिम बंगाल, ओडिसा, झारखंड समेत कई राज्यों में इसका असर भी दिखाना शुरू हो गया है। कई जगहों पर सोमवार से ही लगातार बारिश हो रही है। राज्य के तटीय इलाकों में एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की टीमें तैनात की गई हैं। पर्यटकों और मछुआरों को समुद्र में उतरने नहीं दिया जा रहा है।

मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक यह चक्रवात सितरंग आज बांग्लादेश में टिंकोना द्वीप और सैंडविप के बीच दस्तक दे देगा। इसके कारण पूर्वोत्तर भारत के कुछ हिस्सों में भारी भारी बारिश की आशंका है। नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा पश्चिम बंगाल, ओडिशा, झारखंड समेत कई तटीय राज्यों में आज से ही तेज हवा के साथ-साथ बारिश होने की संभावना है।

इस बीच चक्रवाती तूफान च्रकवाल की आशंका के मददे नजर किसी भी हालात से निपटने के लिए कई राज्यों की सरकारों ने एहतियाती कदम उठाए हैं। त्रिपुरा, असम, मिजोरम, मणिपुर और नागालैंड के लिए मौसम विभाग रेड अलर्ट जारी किया गया है। जबकि अरुणाचल प्रदेश और पश्चिम बंगाल के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

त्रिपुरा, मिजोरम, पूर्वी मेघालय, मणिपुर और दक्षिण असम में नुकसान की आशंका है। त्रिपुरा सरकार ने 26 अक्टूबर तक सभी शैक्षणिक संस्थान बंद करने का आदेश दिया है। साथ ही पूर्वोत्तर राज्यों के लिए एनडीआरएफ को स्टैंड बाय पर रखा गया है।

वहीं ओडिशा सरकार ने एहतियातन राज्य में 25 अक्टूबर तक सरकारी कर्मचारियों की छुट्टियों को रद्द कर दिया है। राज्य ने तटीय इलाके के जिला प्रशासन को अलर्ट रहने के लिए कहा है। इस बीच मौसम विभाग चक्रवाती तूफान को देखते हुए मछुआरों को पश्चिम-मध्य और उससे सटे उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी में न जाने की अपील की है।

समुद्री तूफान सितरंग का प्रभाव पश्चिम बंगाल के दक्षिणी जिलों सहित उड़ीसा के उत्तर तटीय जिलों पर देखा जाएगा। आज शाम से 25 अक्टूबर की दोपहर तक उड़ीसा और पश्चिम बंगाल के समुद्री इलाकों में जाना खतरनाक साबित हो सकता है। जिससे बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, ओडिशा और आंध्र प्रदेश समेत बंगाल के तटीय इलाकों में भारी बारिश होने की संभावना है।

निजी मौसम पूर्वानुमान एजेंसी स्काईमेट वेदर (Skymet Weather) के मुताबिक गंगीय पश्चिम बंगाल में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश की संभावना है। असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा के कई हिस्सों में मध्यम से भारी बारिश हो सकती है। पश्चिम बंगाल, सिक्किम और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के शेष हिस्सों में बारिश की संभावना है।

इसके साथ ही केरल, तमिलनाडु, लक्षद्वीप में एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश संभव है। गंगिया पश्चिम बंगाल में तेज हवाएं चल सकती हैं। ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तट के आसपास समुद्र में ऊंची लहरें उठेंगी तथा समुद्र में जाना खतरनाक हो सकता है।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -