Tuesday, September 27, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Bengal: बंगाल शिक्षक भर्ती घोटाले में ED की कार्रवाई, 48.22 करोड़ रुपये की अचल संपति और बैंक अकाउंट्स कुर्क

शिक्षक भर्ती घोटाले से जुड़े विभिन्न परिसरों में तलाशी अभियान चलाने के बाद 23 जुलाई को पार्थ चटर्जी और उनकी करीबी अर्पिता मुखर्जी को गिरफ्तार किया गया था।

Bengal Teachers Recruitment Scam: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पश्चिम बंगाल में शिक्षक भर्ती घोटाले में 48.22 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की है, जिसमें 40.33 करोड़ रुपये मूल्य की 40 अचल संपत्तियां और 7.89 करोड़ रुपये की शेष राशि वाले 35 बैंक खाते शामिल हैं।

कुर्क की गई संपत्तियों में फ्लैट, एक फार्महाउस, कोलकाता शहर में प्रमुख भूमि और एक बैंक बैलेंस शामिल है। कुर्क की गई संपत्तियों में पश्चिम बंगाल के पूर्व शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी और उनकी करीबी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी के पास से बरामद की गई अवैध संपति भी शामिल है। जो टीचर भर्ती घोटाले में लाभ के रूप में पाया गया था।

ईडी ने पार्थ चटर्जी और अर्पिता मुखर्जी को किया था अरेस्ट

बता दें कि पश्चिम बंगाल स्कूल सेवा आयोग में करोड़ों रुपये के शिक्षक भर्ती घोटाले के मामले में ईडी ने पार्थ चटर्जी और अर्पिता मुखर्जी को गिरफ्तार किया है। ईडी ने एक बयान में कहा कि कुर्क की गई संपत्तियों को पार्थ चटर्जी और अर्पिता मुखर्जी के स्वामित्व वाले संपत्तियों को लाभकारी पाया गया है। कई संपत्तियों को नकली कंपनियों, फर्मों और प्रॉक्सी के रूप में काम करने वाले व्यक्तियों के नाम पर रखा गया था।

ईडी ने इससे पहले शिक्षक भर्ती घोटाले से जुड़े विभिन्न परिसरों में तलाशी अभियान चलाने के बाद 23 जुलाई को पार्थ चटर्जी और उनकी करीबी अर्पिता मुखर्जी को गिरफ्तार किया था। पार्थ चटर्जी इससे पहले 23 जुलाई से 5 अगस्त तक ईडी की हिरासत में रहे थे।

अब तक कुल 103.10 करोड़ रुपये की कुर्की

ईडी ने इससे पहले 22 जुलाई और 27-28 जुलाई को की गई तलाशी के दौरान दो परिसरों से कुल 49.80 करोड़ रुपये की नकदी और 5.08 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के सोने और आभूषण जब्त किए थे। वर्तमान कुर्की के साथ मामले में कुल कुर्की जब्ती 103.10 करोड़ रुपये की हो गई है।

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -