---विज्ञापन---

पीएम मोदी के ‘हर घर तिरंगा’ अभियान से हुआ 500 करोड़ रुपये का कारोबार, इस साल बिके 30 करोड़ से ज्यादा राष्ट्रीय ध्वज

नई दिल्ली: भारत ने बीते दिन 15 अगस्त को आजादी के 75 साल पूरे होने पर जश्न मनाया। वहीं, इस स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘हर घर तिरंगा’ अभियान को देशवासियों की तरफ से व्यापक बल मिला। अखिल भारतीय व्यापारी परिसंघ (CAIT) ने कहा कि इस वर्ष 30 करोड़ से अधिक […]

Edited By : Nitin Arora | Updated: Aug 17, 2022 12:03
Share :

नई दिल्ली: भारत ने बीते दिन 15 अगस्त को आजादी के 75 साल पूरे होने पर जश्न मनाया। वहीं, इस स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘हर घर तिरंगा’ अभियान को देशवासियों की तरफ से व्यापक बल मिला। अखिल भारतीय व्यापारी परिसंघ (CAIT) ने कहा कि इस वर्ष 30 करोड़ से अधिक राष्ट्रीय झंडों की बिक्री हुई। इससे राजस्व में 500 करोड़ का व्यापार किया गया।

सीएआईटी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी.सी. भरतिया और महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि पिछले 15 दिनों के दौरान देश भर में 3000 से अधिक तिरंगा कार्यक्रम आयोजित किए गए, जिसमें लगभग सभी क्षेत्रों के लोग शामिल हुए।

 

और पढ़िए – Gold Price Today: 7वें आसमान से औंधे मुंह गिरा सोना, अब 30525 रु में खरीदें 10 ग्राम

 

व्यापार जगत के लोगों ने कहा कि हर घर तिरंगा आंदोलन ने भारतीय व्यापारियों की क्षमताओं को दिखाया। लोगों की मांग को पूरा करने के लिए रिकॉर्ड 20 दिनों में 30 करोड़ से अधिक तिरंगे का उत्पादन किया गया। रैलियों, मार्चों, मशाल जुलूसों, तिरंगा गौरव यात्रा, साथ ही खुली बैठकों और सम्मेलनों सहित बड़े पैमाने पर तिरंगा का इस्तेमाल हुआ।

पॉलिएस्टर और मशीनों से झंडों के निर्माण की अनुमति देने के लिए केंद्र सरकार द्वारा ध्वज संहिता में संशोधन ने भी उत्पादन को आसान बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

पहले, भारतीय तिरंगा बनाने के लिए केवल खादी या कपास का उपयोग किया जा सकता था। देश में 10 लाख से अधिक लोगों के पास अब झंडा कानून सुधार के कारण नौकरी है क्योंकि वे अब घर पर ही तिरंगा झंडे बना सकते हैं।

 

और पढ़िए – बिजनेस से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

 

First published on: Aug 16, 2022 01:34 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें