Wednesday, November 30, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Ghaziabad Crime News: 4 साल से लापता था शख्स, क्राइम ब्रांच ने पड़ोसी के घर में कब्र से निकाला कंकाल, ये कहानी सुन कांप जाएगी रूह

गाजियाबाद के चंदग्राम थाना क्षेत्र के गांव सकरोड़ से पांच अक्टूबर 2018 को चंद्रवीर अचानक लापता हुआ था। उसके भाई ने गुमशुदगी दर्ज कराई थी।

Ghaziabad Crime News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के गाजियाबाद (Ghaziabad) में पुलिस ने चार साल बाद एक सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा किया है। जब पुलिस ने मामले की दोबारा जांच की तो उनके भी होश उड़ गए, क्योंकि ये शख्स चार वर्षों से लापता था। पुलिस उसकी खोज में अब थक चुकी थी। मामला क्राइम ब्रांच को सौंपा तो कहानी ताश के पत्तों की तरह खुल गई। पुलिस ने इस मामले में मृतक की पत्नी और उसके प्रेमी को गिरफ्तार किया है।

अक्टूबर 2018 से लापता था चंद्रवीर

मामला गाजियाबाद के चंदग्राम थाना क्षेत्र के गांव सकरोड़ का है। यहां पांच अक्टूबर 2018 को चंद्रवीर नाम का एक व्यक्ति अचानक लापता हो गया। चंद्रवीर के भाई ने थाना पुलिस को मामले की जानकारी दी। पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर उसकी तलाश शुरू की। काफी दिनों तक खोज करने के बाद भी पुलिस को कोई सुराग नहीं मिला। कुछ सालों बाद मामले में फाइल रिपोर्ट (अंतिम आख्या) लगा दी गई। लापता के परिवारवाले और पुलिस भी अब शांत बैठ चुकी थी।

लंबित मामलों की खुली फाइलें

जिला पुलिस के अधिकारियों ने लंबित मामलों की फाइलों की जांच शुरू की। इसी क्रम में चंद्रवीर की गुमशुदगी की फाइल क्राइम ब्रांच के हाथ आ गई। क्राइम ब्रांच ने जब मामले की जांच शुरू की तो पहले उन्हें भी कोई खास सुराग नहीं मिला। फिर उन्होंने मौके पर जाकर आसपास के लोगों और चंद्रवीर के परिवारवालों से बात की। यहां चंद्रवीर की पत्नी और उसके पड़ोसी अरुण के बारे में कुछ बातें पता चली। बस यहीं से शक की सुई घूम गई।

महिला के प्रेमी को उठाया तो खुल गई पोल

पुलिस ने पूछताछ के लिए अरुण को बुलाया। पहले तो हर बात पर इनकार करने लगा। इसके बाद पुलिस ने जब सख्ती दिखाई तो वह टूट गया। उसने बताया कि चंद्रवीर की पत्नी सविता और उसके प्रेम संबंध हैं। चार साल पहले यह बात चंद्रवीर को पता चल गई थी। वह दोनों के प्रेम संबंधों में रोड़ा बन रहा था। सविता और उसने मिलकर चंद्रवीर को रास्ते से हटाने की योजना बनाई। अरुण ने चंद्रवीर को एक दिन अपने घर बुलाया।

सिर में गोली मारी, फिर बाल्टी में भरा खून

तमंचे से उसके सिर में गोली मारी और बाल्टी में खून भर लिया। ताकि घर में फैले नहीं। अरुण ने अपने घर के एक हिस्से में करीब 6-7 फीट का गड्ढा खोदा और चंद्रवीर के शव को दफना दिया। इतना ही नहीं, दफनाने से पहले उसने चंद्रवीर का एक हाथ कुल्हाड़ी से काट डाला। ताकि कभी पकड़ने जाने पर उसकी शिनाख्त न हो। इस पूरे घटनाक्रम में चंद्रवीर की पत्नी सविता भी उसके साथ रही। गाजियाबाद की एसपी क्राइम डॉ. दीक्षा शर्मा ने बताया कि दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी के साथ तमंचा, बाल्टी और कुल्हाड़ी भी बरामद कर ली गई है।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -