Tuesday, January 31, 2023
- विज्ञापन -

Latest Posts

UP: हैकर्स ने शैक्षणिक संस्थानों का डेटा चुराकर डिलीट किया, वापिस देने के लिए मांगी करोड़ों की क्रिप्टो फिरौती

हैकर्स के एक समूह ने उत्तर प्रदेश (UP) के एक निजी शिक्षण समूह के डेटा को चुराकर हटा दिया और बदले में करोड़ों रुपए की फिरौती मांगी है।

लखनऊ: हैकर्स के एक समूह ने उत्तर प्रदेश (UP) के एक निजी शिक्षण समूह के डेटा को कथित रूप से चुराकर हटा दिया और इस मुद्दे को हल करने के लिए 10 लाख अमरीकी डालर की क्रिप्टोकरेंसी की मांग की। जानकारी के मुताबिक यह समूह यूपी (UP) और दिल्ली में इंजीनियरिंग और मेडिकल सहित आठ कॉलेज और एक स्कूल चलाता है।

फाउंडेशन के सचिव ने बयान जारी करते हुए कहा कि साइबर अपराधियों ने 29 अगस्त को दोपहर 12.30 बजे से 1 बजे के बीच फाउंडेशन के कंप्यूटर सिस्टम पर हमला किया और छात्रों, अभिभावकों और कर्मचारियों के व्यक्तिगत डेटा के साथ-साथ सभी बैंक विवरण और गोपनीय ई-फाइलें चुरा लीं।

समूह ने अपने बयान में आगे कहा है कि “उन्होंने हमारे सर्वर में सभी फाइलों को एन्क्रिप्ट किया और एक नोट छोड़ा, जिसमें एक महीने में क्रिप्टो मुद्रा में दस लाख अमेरिकी डॉलर की मांग की गई थी। उन्होंने हमें आरोपियों के साथ किसी भी तरह के सौदे के लिए किसी भी ‘बिचौलियों’ की मदद नहीं लेने की चेतावनी भी दी।”

रिपोर्ट्स के मुताबिक, हैकर्स ने गाजियाबाद के मोदीनगर इलाके में केएन मोदी एजुकेशनल फाउंडेशन और उसके सहयोगियों से ‘लॉकबिट ब्लैक’ वायरस का इस्तेमाल महत्वपूर्ण डेटा चुराने के लिए किया था।

एसपी (ग्रामीण गाजियाबाद) इराज राजा ने कहा कि फाउंडेशन की ओर से पुलिस को संदीप कुमार यादव की ओर से शिकायत मिली है. पुलिस ने भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 507 (अनाम संचार द्वारा आपराधिक धमकी) और आईटी अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत दो अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -