Thursday, 22 February, 2024

---विज्ञापन---

पत्नी की हत्या के आरोप में 3 साल तक जेल में रहा पति, बाहर निकलते ही किया बड़ा खुलासा, सुनकर चौंक जाएंगे

Rajasthan News: राजस्थान के दौसा से एक चौंकाने वाली खबर सामने आई हैं, सात साल पहले एक महिला की हत्या के मामले में उसके पति व एक अन्य युवक को जेल हुई थी, लेकिन जब आरोपी पति जमानत पर वापस आया तो उसने कुछ ऐसा किया जिसे देखकर पुलिस भी हैरान रह गई, क्योंकि जिस […]

Edited By : News24 हिंदी | Updated: Dec 12, 2022 15:14
Share :
rajasthan news
rajasthan news

Rajasthan News: राजस्थान के दौसा से एक चौंकाने वाली खबर सामने आई हैं, सात साल पहले एक महिला की हत्या के मामले में उसके पति व एक अन्य युवक को जेल हुई थी, लेकिन जब आरोपी पति जमानत पर वापस आया तो उसने कुछ ऐसा किया जिसे देखकर पुलिस भी हैरान रह गई, क्योंकि जिस पत्नी की हत्या के जुर्म में पति जेल में सजा काट रहा था, जमानत पर बाहर आते ही उसने पत्नी को ढूंढ निकाला है, वो भी जिंदा और सही सलामत।

इस तरह हुआ खुलासा

दरअसल, पति को पता चला कि अचानक लापता हुई उसकी पत्नी किसी और के साथ रहने लगी थी, जबकि सात साल पहले उसकी हत्या का मामला यूपी के मथुरा में दर्ज हुआ था, महिला के पिता ने उसके कपड़ों से उसकी शिनाख्त भी की थी। जिसके बाद महिला की हत्या के जुर्म में उसके पति और एक अन्य युवक को गिरफ्तार किया गया था, यह पूरी कार्रवाई उत्तर प्रदेश पुलिस ने की थी, ऐसे में मामले के खुलासे के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठने लगे हैं।

यह है पूरा मामला

जानकारी के मुताबिक मथुरा में कोसी निवासी महिला आरती करीब सात साल पहले राजस्थान के मेंहदीपुर बालाजी आई थी, यहां वह छोटा-मोटा काम कर अपना गुजरा करने लगी। इसी दौरान उसकी मुलाकात सोनू सैनी नाम के युवक से हुई थी, दोनों के बीच बातचीत होने लगी और बाद में इन दोनों ने शादी कर ली। लेकिन शादी के कुछ दिन बाद ही आरती लापता हो गई। उसके लापता होने के कुछ दिन बाद उत्तर प्रदेश के वृंदावन में पुलिस को एक नहर एक महिला का शव मिला, जिसकी पहचान आरती के तौर पर हुई, इस तरह शव आरती का घोषित कर दिया और गुमशुदगी के मामले को हत्या में तरमीम कर पति सोनू सैनी समेत दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया।

पिता ने की थी पहचान

जानकारी के मुताबिक शव खराब हो चुका था, इसलिए तत्काल पहचान नहीं हो पाया, लेकिन बाद में आरती के पिता ने थाने में रखे उसके फोटोग्राफ्स और कपड़ों से आरती के शव की पहचान की थी। इसके बाद पुलिस ने आरती के पिता की तहरीर पर साल 2015 में वृंदावन में दौसा निवासी पति सोनू सैनी और गोपाल सैनी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया, इन दोनों आरोपियों ने लाख सफाई दी, लेकिन पुलिस ने एक नहीं सुनी। आखिरकार तीन साल तक जेल में रहने के बाद ये दोनों जमानत पर बाहर आए, इसके बाद महिला आरती को दौसा जिले के विशाला गांव से खोज निकाला।

आरती को यूपी पुलिस को सौंपा।

दोनों पीड़ितों ने महिला की पहचान करने के बाद मेहंदीपुर बालाजी थानाप्रभारी अजीत बड़सरा को पूरा घटनाक्रम बताया, इसके बाद पुलिस ने आरती को बैजूपाड़ा इलाके से हिरासत में लेकर यूपी में वृंदावन थाना पुलिस को सूचित किया। वृंदावन पुलिस ने जब दौसा पहुंच कर मामले की जांच पड़ताल की तो पूरे मामले का खुलासा हुआ, दरअसल, महिला अपने पति को बिना बताए ही किसी और के साथ रहने लगी थी। फिलहाल पुलिस ने मामले में जांच की बात कही है।

First published on: Dec 12, 2022 02:42 PM
संबंधित खबरें