Wednesday, 28 February, 2024

---विज्ञापन---

आप तो घर के ही हैं… कोई गिला शिकवा नहीं होगा… नतीजों से पहले बागियों को मनाने में जुटे वसुंधरा-गहलोत

Rajasthan Election Result 2023: राजस्थान में विधानसभा चुनाव के नतीजों से पहले दोनों ही पार्टियों के आला नेता निर्दलीय प्रत्याशियों को मनाने में जुटे हैं। दोनों ही पार्टियों ने इसके लिए विशेष इंतजाम भी किए हैं।

Edited By : Rakesh Choudhary | Updated: Dec 2, 2023 14:43
Share :
Rajasthan Election 2023
Rajasthan Election 2023

Rajasthan Election Result 2023: राजस्थान में कल यानी 3 दिसंबर को चुनाव के नतीजे घोषित किए जाएंगे। इससे पहले कांग्रेस और भाजपा अपनी-अपनी जीत के दावे कर रही है। चुनाव से पहले जहां एक और वसुंधरा राजे निर्दलीयों से संपर्क साध रही है और उम्मीदवारों से मेल-मुलाकात कर रही है तो वहीं दूसरी ओर सीएम गहलोत और प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा एसएमएस के जरिये कांग्रेस-भाजपा के बागी उम्मीदवारों के संपर्क में हैं।

सूत्रों की मानें तो सीएम गहलोत और डोटासरा बाड़मेर के शिव से निर्दलीय प्रत्याशी रविंद्र भाटी और फतेह खान, चित्तौड़गढ़ के चंद्रभान सिंह आक्या, मनोहर थाना से कैलाश मीणा, सादुलशहर से ओम विश्नोई, श्रीगंगानगर से करुणा अशोक चांडक, सरदारशहर से राजकरण चौधरी, डीडवाना से यूनुस खान, शाहपुरा (जयपुर) से आलोक बेनीवाल, मसूदा से वाजिद खान और सांचौर से जीवाराम चौधरी के निर्दलीय चुनाव जीतने की पूरी संभावना है।

News24 Whatsapp Channel

Follow MLA Chandrabhan Singh Aakya (@mlacbsaakya) - Koo

किंगमेकर की भूमिका निभा सकते हैं बागी

ऐसे में अगर हंग अंसेबली वाले नतीजे आते हैं तो ये सभी निर्दलीय किंगमेकर की भूमिका में आ सकते हैं। इसलिए भाजपा की ओर से पूर्व सीएम वसुंधरा राजे, नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़, केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, प्रदेश अध्यक्ष सीपी जोशी इन सभी बागियों से बातचीत में जुटे हैं। इसके अलावा वागड़ से चुनाव मैदान में उतरी दो आदिवासी पार्टियां बीएपी और बीटीपी के 10-12 सीटों पर प्रत्याशी मैदान में हैं। ऐसे में बड़े नेता इनके संपर्क में भी है। पिछली बार बीटीपी के राजकुमार रोत और रमीला खड़िया ने कांग्रेस सरकार को बाहर से समर्थन दे रहे थे।

पार्टी में आपको पूरा सम्मान मिलेगा

जानकारी के अनुसार दोनों पार्टियों के आला नेता निर्दलीयों को मनाने में भी जुटे हैं। बागियों से कहा जा रहा है कि आप तो घर के ही हैं, जीतते हैं तो वापस आ जाए। पार्टी में आपको पूरा सम्मान मिलेगा। उनसे कोई गिला-शिकवा नहीं होगा। कुछ मजबूरियां और समीकरण ऐसे थे जिसकी वजह से पार्टी आपको टिकट नहीं दे सकी। सरकार बनने पर बड़ी जिम्मेदारी भी मिलेगी और हर प्रकार से ख्याल रखा जाएगा।

बाडेबंदी में जुटी दोनों पार्टियां

सूत्रों की मानें तो मतगणना के दौरान अगर कांग्रेस-भाजपा बहुमत से दूर रहती है तो बागियों को तत्काल प्रभाव से चाॅपर के जरिये सुरक्षित जगहों पर भेजा जा सकता है। भाजपा अपने निर्दलीयों को हरियाणा-गुजरात भेज सकती है तो वहीं कांग्रेस अपने बागियों को कर्नाटक भेज सकती है। इसके लिए दोनों ही दलों ने अपने-अपने निर्दलीयों की सूची तैयार कर ली है।

न्यूज़ 24 से बातचीत में भाजपा से राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा ने यहां तक दावा कर दिया कि कांग्रेस ने बेंगलुरु के नजदीक दो रिजॉर्ट बुक करवा लिए हैं जहां विधायकों की बाड़ाबंदी की जाएगी। इसके अलावा कल वसुंधरा राजे ने भी सांचौर से निर्दलीय चुनाव लड़ने वाले जीवाराम चौधरी से बातचीत की थी जिसका वीडियो भी वायरल हुआ था।

जयपुर से केजे श्रीवत्सन् की रिपोर्ट।

 

First published on: Dec 02, 2023 11:21 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें