Saturday, 24 February, 2024

---विज्ञापन---

क्या फिर राजस्थान की सीएम बनने जा रही हैं वसुंधरा राजे? समझे नड्डा से मुलाकात के सियासी मायने

Rajasthan CM face Vasundhara Raje JP Nadda Meeting: राजस्थान में सीएम चेहरे को लेकर चल रही कवायद के बीच गुरुवार को पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की। आइये जानते हैं इस मुलाकात के सियासी मायने।

Edited By : Rakesh Choudhary | Updated: Dec 8, 2023 14:12
Share :
Rajasthan CM face Vasundhara Raje JP Nadda Meeting
Rajasthan CM face Vasundhara Raje JP Nadda Meeting

Rajasthan CM face Vasundhara Raje JP Nadda Meeting: राजस्थान में सीएम फेस तय करने के लिए भाजपा ने तीन पर्यवेक्षकों की नियुक्ति कर दी है। केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, राज्यसभा सांसद सरोज पांडे और विनोद तावड़े महासचिव को पर्यवेक्षक नियुक्त किया है। तीनों पर्यवेक्षक राजधानी जयपुर में विधायक दल की बैठक में सीएम कैंडिडेट के नाम ऐलान करेंगे। इस बीच पूर्व सीएम वसुंधरा राजे गुरुवार को दिल्ली पहुंचीं। उन्होंने पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। राजस्थान में ऐसा पहली बार हो रहा है चुनाव परिणाम आने के 5 दिन बाद भी सीएम के नाम का ऐलान हो पाया है।

राजनीति में अक्सर नेताओं की बयानों से ज्यादा उसकी बाॅडी लैंग्वेज ज्यादा मायने रखती है। इसके जरिये नेता के हाव-भाव से समझा जा सकता है कि आलाकमान से हुई मुलाकात का रिजल्ट उसकी उम्मीदों के मुताबिक रहा या नहीं। वसुंधरा ने जेपी नड्डा से करीब 80 मिनट तक मुलाकात की। आइये जानते हैं वसुंधरा की जेपी नड्डा से मुलाकात के क्या मायने हैं।

Whtasapp Channel Logo Template

रिजाॅर्ट पाॅलिटिक्स का विधायक ने किया खंडन

मुलाकात के बाद जब वसुंधरा के नड्डा के घर निकलीं तो उनके चेहरे पर शिकन की बजाय खुशी थी। क्योंकि वसुंधरा पार्टी का राज्य में अहम चेहरा है। परिणाम घोषित होने के बाद से ही तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। पार्टी ने चुनावों में 115 सीटें जीती। परिणाम घोषित होने के अगले दिन ही वसुंधरा ने जयपुर स्थित आवास पर पार्टी के करीब 47 विधायकों से मुलाकात की थी। इसे वसुंधरा का बड़ा सियासी कदम माना जा रहा था। दिल्ली में आला नेताओं की बैठकों के बीच वसुंधरा का विधायकों से मिलना एक बड़े मैसेज की तरह था।

यह भी पढ़ेंः राजस्थान में सीएम को लेकर सस्पेंस बरकरार, वसुंधरा दिल्ली पहुंचीं, बालकनाथ ने सांसदी से दिया इस्तीफा

मुस्कुराहट के क्या हैं मायने

विधायकों से मुलाकात के बाद वसुंधरा ने कोई बयान नहीं दिया। इस बीच वसुंधरा के पुत्र और सांसद दुष्यंत पर विधायकों की बाड़ेबंदी का आरोप लगा। इस पर अंता से विधायक कंवरलाल मीणा ने डिटेल्ड स्टेटमेंट जारी कर कहा कि झालावाड़-बारां के विधायक जयपुर के एक होटल में इसलिए आकर रूके थे ताकि वे राज्य इकाई के नेताओं से मिल सके। इसमें रिजाॅट पाॅलिटिक्स जैसी कोई बात नहीं थी। हालांकि वसुंधरा की नड्डा से मुलाकात के दौरान उनके पुत्र दुष्यंत भी उनकेे साथ थे। सियासी जानकारों की माने तो बैठक काफी सकारात्मक रही। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि वसुंधरा एक बार फिर सीएम बन सकती है हालांकि उनके अलावा 2 डिप्टी सीएम भी बनाए जा सकते हैं।

यह भी पढ़ेंः भाजपा ने तीन राज्यों के लिए पर्यवेक्षकों के नाम का किया ऐलान, जानें किसे मिली जिम्मेदारी

नड्डा के घर से निकलने के बाद मीडिया ने जब वसुंधरा से उनकी मुस्कुराहट का कारण पूछा तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया और अपने बेटे दुष्यंत के साथ बैठकर निकल गईं। ऐसे में माना जा रहा है कि भाजपा आलाकमान ने राजस्थान के लिए सीएम पद का ऐसा फाॅर्मूला निकाला है जिसे लेकर वसुंधरा राजे खुश हैं।

First published on: Dec 08, 2023 02:12 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें