Saturday, 24 February, 2024

---विज्ञापन---

Nuh Violence: अलवर पहुंची नूंह हिंसा की आंच, 10 अगस्त तक धारा 144 लागू; भरतपुर में नेटबंदी

Haryana Nuh Violence: नूंह में जारी हिंसा और तनाव के बीच राजस्थान में हरियाणा से सटे भरतपुर के 4 इलाकों में 3 अगस्त इंटरनेट बैन कर दिया है। वहीं इन इलाकों में धारा 144 भी लगा दी गई है। हरियाणा में हुई हिंसा के विरोध में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन करने का ऐलान […]

Edited By : Rakesh Choudhary | Updated: Aug 2, 2023 12:59
Share :
Nuh Violence Net banned in Bharatpur

Haryana Nuh Violence: नूंह में जारी हिंसा और तनाव के बीच राजस्थान में हरियाणा से सटे भरतपुर के 4 इलाकों में 3 अगस्त इंटरनेट बैन कर दिया है। वहीं इन इलाकों में धारा 144 भी लगा दी गई है। हरियाणा में हुई हिंसा के विरोध में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन करने का ऐलान किया था। इसके बाद पुलिस ने सतर्कता बढ़ा दी है। उधर भरतपुर के बाद अलवर प्रशासन ने भी 10 तहसीलों में धारा 144 लगा दी है।

अलवर की 10 तहसीलों में धारा 144 लागू

भरतपुर में नेटबंदी बढ़ने के साथ ही अलवर एडीएम उत्तम सिंह शेखावत ने हरियाणा से सटे सीमावर्ती तहसील अलवर, तिजारा, रामगढ़, गोविंदगढ़, कठूमर, लक्ष्मणगढ़, टपूकड़ा, मालाखेड़ा, किशनगढ़बास, कोटकासिम में 10 अगस्त की 12 बजे तक धारा 144 लगा दी है।

इससे पहले भरतपुर के संभागीय आयुक्त सांवरलाल वर्मा ने 1 अगस्त को आदेश जारी कर 2 अगस्त सुबह 6 बजे तक सीकरी, पहाड़ी, कामां, नगर और जुरहरा समेत पूरे मेवात इलाके में नेटबंदी कर दी थी। वहीं हिंसा को देखते हुए इसे 3 अगस्त सुबह 6 बजे तक के लिए बढ़ा दिया गया। पुलिस लगातार बाॅर्डर से सटे इलाकों में मार्च निकाल रही है वहीं आने-जाने वाले वाहनों को भी चैक किया जा रहा है। सीकरी पुलिस लगातार लोगों के साथ बैठक कर रही है। वहीं सेंसेटिव इलाकों में अधिक लोगों के इकट्ठा होने पर रोक लगा दी गई है।

भरतपुर में 3 अगस्त बढ़ाया गया इंटरनेट बैन

सांवरलाल वर्मा ने नेटबंदी बढ़ाने का आदेश जारी करते हुए कहा कि हरियाणा में हो रही हिंसा को देखते हुए पहाड़ी, कामां, नगर और सीकरी में मोबाइल इंटरनेट बंद करने के आदेश जारी किए गए थे। बता दें कि 31 जुलाई को विहिप धार्मिक यात्रा के दौरान नूंह में हिंसा भड़क गई थी। इसके बाद यह हिंसा पलवल और गुरुग्राम तक फैल गई थी।

संभागीय आयुक्त ने कहा कि नासिर-जुनैद की हत्या के बाद स्थानीय लोगों में घटना को लेकर भारी गुस्सा है। ऐसे में सोशल मीडिया पर भ्रामक और हिंसा उपजाने वाले वीडियो भेजे जा रहे हैं इन्हें रोकने के लिए नेटबंदी जरूरी है। चारों क्षेत्र संवेदशील होने के कारण यहां नेटबंदी बढ़ाई जा रही है।

ये भी देखेंः

First published on: Aug 02, 2023 12:59 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें