Wednesday, 21 February, 2024

---विज्ञापन---

जोधपुर के जादूगर ने बदल दिया राजस्थान का भूगोल, प्रदेश का नया नक्शा जारी, अब इतने जिलों की सीमा पाकिस्तान से लगेगी

Rajasthan News: राजस्थान में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव प्रस्तावित हैं। इससे पहले सीएम अशोक गहलोत ने राजस्थान का नया नक्शा जारी कर दिया है। इस नए नक्शे के अनुसार अब राजस्थान में 50 जिले हो गए हैं। शुक्रवार को सीएम गहलोत की अध्यक्षता में कैबिनेट बैठक हुई। बैठक में 19 नए जिलों के […]

Edited By : Rakesh Choudhary | Updated: Aug 5, 2023 14:57
Share :
CM Ashok Gehlot take Big Decision New District formed in Rajasthan

Rajasthan News: राजस्थान में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव प्रस्तावित हैं। इससे पहले सीएम अशोक गहलोत ने राजस्थान का नया नक्शा जारी कर दिया है। इस नए नक्शे के अनुसार अब राजस्थान में 50 जिले हो गए हैं। शुक्रवार को सीएम गहलोत की अध्यक्षता में कैबिनेट बैठक हुई। बैठक में 19 नए जिलों के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। इसके बाद राजस्व विभाग ने 19 नए जिलों का नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। इसके साथ-साथ प्रदेश में 3 नए संभागों के प्रस्ताव को भी मंजूरी मिल गई है। बता दें कि प्रदेश में लंबे समय से नए जिलों की मांग हो रही थी।

जयपुर-जोधपुर का ऐसे हुआ पुनर्गठन

नवगठित जिलों में अनूपगढ़, बालोतरा, सांचौर, डीग, डीडवाना, दूदू, गंगापुर सिटी, जयपुर शहर, जयपुर ग्रामीण, जोधपुर शहर, जोधपुर ग्रामीण, केकडी, कोटपूतली, खैरथल, नीमकाथाना, फलौदी, सलूम्‍बर और शाहपुरा शामिल हैं। वहीं सीएम के गृह जिले जोधपुर को भी तीन हिस्सों में बांट दिया गया है। जोधपुर से अलग कर फलौदी को नया जिला बनाया गया है वहीं जिलों का नए सिरे सीमांकन करने के बाद जोधपुर शहर और जोधपुर ग्रामीण नए जिले बनाए गए हैं। कुछ ऐसा ही प्रयोग जयपुर के साथ किया गया है जयपुर को भी तीन भागों में बांटकर तीन नए जिले बना दिए गए हैं।

5 जिलों की सीमा से पाकिस्तान से लगेगी

इस व्यवस्था से पहले प्रदेश में सबसे बड़ा जिला जैसलमेर था और सबसे छोटा जिला धौलपुर था। लेकिन नए जिले बनाने के बाद अब सबसे छोटा जिला दूदू हो गया है। वहीं पहले जैसलमेर, बाड़मेर, बीकानेर और श्रीगंगानगर जिले ऐसे थे जिनकी सीमा पाकिस्तान से लगती थी। अब अनुपगढ़ को मिलाकर 5 ऐसे जिले हो गए हैं जिनकी सीमा पाकिस्तान से लगती है।

यह प्रदेश की जनता का सम्मान- रामलाल जाट

बैठक के बाद प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए राजस्व मंत्री रामलाल जाट ने कहा कि यह प्रदेश की जनता का सम्मान है। प्रदेश में पिछले कई सालों से आबादी बढ़ी लेकिन जिले नहीं बढ़े थे। मुख्य सचिव उषा शर्मा ने बताया कि नए जिले बनने से लोगों को लाभ मिलेगा। इससे प्रदेश के विकास को नई रफ्तार मिलेगी। वहीं राजस्व सचिव अपर्णा अरोड़ा ने बताया कि प्रदेश में 19 नए जिलों के गठन के बाद अब कुल 50 जिले हो गए हैं।

ये भी देखेंः

First published on: Aug 05, 2023 12:46 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें