Wednesday, 24 April, 2024

---विज्ञापन---

कौन था शुभकरण सिंह? किसान आंदोलन में खनौरी बॉर्डर पर हुई मौत

Who Was Farmer Shubhakaran Singh in Hindi: किसान आंदोलन में एक नौजवान शुभकरण सिंह की मौत की खबर सामने आई है। इस मामले पर अब राजनीति तेज हो गई है। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी, पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान और दिल्ली के मुख्यमंत्री और AAP के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने इस घटना की निंदा की है।

Edited By : Pushpendra Sharma | Updated: Feb 21, 2024 22:00
Share :
Farmer Shubhakaran Singh Death
Farmers Protest: किसान आंदोलन के दौरान एक नौजवान शुभकरण सिंह की मौत हो गई।

Who Was Farmer Shubhakaran Singh in Hindi: किसान आंदोलन में बठिंडा के एक नौजवान शुभकरण सिंह की मौत की खबर सामने आई है। वह पंजाब के संगरूर में खनौरी बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहा था। इसी दौरान उसकी मौत हो गई। हालांकि पुलिस ने गोली लगने की खबर से इनकार किया है, लेकिन इसे लेकर राजनीति तेज हो गई है। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी, पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान और आम आदमी पार्टी (AAP) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने इस घटना की निंदा की है। आइए जानते हैं कि शुभकरण सिंह कौन था।

कौन था नौजवान शुभकरण सिंह? 

जानकारी के अनुसार, शुभकरण सिंह की उम्र 23 साल थी। वह बठिंडा जिले के गांव वलो का निवासी था। कहा जा रहा है कि वह तीन दिन पहले ही किसान आंदोलन में शामिल हुआ था। शुभकरण दो बहनों का इकलौता भाई था। वह करीब 3 एकड़ जमीन का मालिक था। उसके निधन की सूचना से गांव में मातम पसर गया। राजिंदरा अस्पताल, पटियाला में मृतक के शव को रखा गया है।

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने इस घटना को हृदयविदारक बताते हुए शुभकरण सिंह के परिवार के प्रति संवेदनाएं जताई हैं।

हरियाणा पुलिस ने किया मौत से इनकार

आपको बता दें कि हरियाणा पुलिस ने किसी की मौत से इनकार किया है। पुलिस के अनुसार, आज किसान आंदोलन में किसी भी किसान की मृत्यु नहीं हुई है। यह महज एक अफवाह है। दाता सिंह-खनोरी बॉर्डर पर दो पुलिसकर्मियों और एक प्रदर्शनकारी के घायल होने की सूचना है।

पुलिस ने कहा- किसानों ने किया हमला

आपको बता दें कि किसान लगातार शंभू और खनौरी बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे हैं। बुधवार को पुलिस और किसान खनौरी बॉर्डर पर आमने-सामने हो गए। हरियाणा पुलिस के पोस्ट के अनुसार, दाता सिंह-खनोरी बॉर्डर पर प्रदर्शनकारियो ने पराली में मिर्च पाउडर डालकर पुलिस का चारों तरफ से घेराव किया। पुलिस का कहना है कि किसानों ने पथराव किया। साथ ही लाठी, गंडासे का इस्तेमाल करते हुए पुलिसकर्मियों पर किया हमला। इस हमले में लगभग 12 पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए हैं।

आपको बता दें कि किसान आंदोलन थमने का नाम नहीं ले रहा है। किसानों और सरकार के बीच एमएसपी समेत कई मुद्दों पर चार दौर की वार्ता हो चुकी है। हालांकि अब तक कोई हल नहीं निकल सका है। प्रदर्शनकारी किसानों ने दिल्ली कूच को दो दिन के लिए स्थगित कर दिया है।

ये भी पढ़ें: Kisan Andolan थमने की बजाय क्यों हो रहा उग्र; सरकार से 4 दौर की बातचीत फेल, कहां फंसा पेंच?

First published on: Feb 21, 2024 09:54 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें