Saturday, December 3, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

पंजाब सरकार ने बिजली चोरी पर कसा शिकंजा, तरनतारन में हुई यह बड़ी कार्रवाई

हाल ही में पंजाब स्टेट पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड मेंहदीपुर व खेमकरन गांव में बड़ी कोठियों में खुले में बिजली चोरी की जा रही थी। यह चोरी बिजली के मीटर और मुख्य लाइन से तार लगाकर की जा रही थी।

पंजाब: जब से पंजाब में आप सरकार आई है यहां बिजली चोरी पर शिकंजा कसता जा रहा है। इसी कड़ी में पिछले कुछ माह में तरनतारन जिले में बड़ी कार्रवाई हुई है। पंजाब के बॉर्डर एरिया पर बिजली सप्लाई करने वाले पंजाब स्टेट पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड के डिप्टी चीफ इंजीनियर जीएस खेड़ा के मुताबिक अक्टूबर अंत तक यहां बिजली चोरी से होने वाला नुकसान 57.5 फीसदी से कम होकर 52 फीसदी हो गया है। यानि अब यह पांच फीसदी कम है।

550 करोड़ का नुकसान

आगे डिप्टी चीफ इंजीनियर ने बताया कि यहां करीब 250 गांवों में बिजली चोरी रोकने के लिए विशेष अभियान चलाया गया। अब यहां पहले से 6 करोड़ अधिक यूनिट का बिल तैयार किया जा रहा है। बता दें कि पंजाब के तरनतारन जिले में भिखीविंद, पट्टी, जिरा आदि जगहों से साल 2021-2022 में बिजली चोरी से 550 करोड़ का नुकसान हुआ था। अब आप सरकार आने के बाद पंजाब स्टेट पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड लोगों को विश्वास में ले रहा है और बिजली चोरी कम की जा रही है।

3000 पीलर बॉक्स लगाए 

हाल ही में पंजाब स्टेट पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड मेंहदीपुर व खेमकरन गांव में बड़ी कोठियों में खुले में बिजली चोरी की जा रही थी। यह चोरी बिजली के मीटर और मुख्य लाइन से तार लगाकर की जा रही थी। अब इन सब को रोका जा रहा है। पंजाब स्टेट पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड के अधिकारियों के मुताबिक अब जिले में चल रहे अलग-अलग डेरों पर बिजली चोरी पर कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा जिले में बिजली व्यवस्था में सुधार के लिए 3000 पीलर बॉक्स लगाए गए हैं। इसके अलावा 17 हजार मीटर लगाए गए हैं। बिजली चोरी की नुकसान की भरपाई में 1.52 करोड़ रुपए वसूला गया है।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -