Thursday, 25 April, 2024

---विज्ञापन---

आमरण अनशन के पांचवे दिन मनोज जरांगे की तबियत बिगड़ी, मीडिया से बातचीत करते हुए हाथ कांपे

Manoj Jarange on Maratha Reservation : मराठा आरक्षण की मांग को लेकर जालना के अंतरावली सराटी में आमरण अनशन पर बैठे मनोज जरांगे की तबियत बिगड़ती जा रही है। जब उन्होंने मीडिया से बात की तो उनके हाथ कांपने लगे।

Edited By : Vinod Jagdale | Updated: Oct 29, 2023 14:06
Share :

Manoj Jarange on Maratha Reservation : मराठा आरक्षण की मांग को लेकर जालना के अंतरावली सराटी में आमरण अनशन पर बैठे मनोज जरांगे पाटिल की तबियत खराब हो चुकी है, पिछले 4 दिन से रोज की तरह आज पांचवे दिन सुबह 11 बजे जरांगे मीडिया से बात करने लगे तो वह 2 से 4 मिनट ही मीडिया से बात कर पाए, उनके हाथ में माइक था और हाथ कांप रहे थे। मनोज की बिगड़ती सेहत से परेशान अंतरवाली सराटी के गांव वालों की आंखों से आंसू छलक उठे।

 

मनोज जरांगे मराठा आरक्षण मांग पर इस कदर डटे हुए हैं कि आज अनशन के 5 वें दिन तक उन्होंने सिर्फ 2 बार पानी पीया है। अंतरावली सराटी में रहने वाले और जरांगे के दोस्त डॉ तारक ने बताया कि पानी और खाना छोड़ने से मनोज का बीपी और शुगर दोनों कम हो चुके हैं, जिससे उनके शरीर में कमजोरी बढ़ चुकी है। बता दें कि जरांगे ने पहले ही दिन से डॉक्टरी चेकअप कराना बंद कर दिया है।

यह भी पढ़ें-Watch Video: कांग्रेस ने कमलनाथ को बनाया Supernath, ऑफिशियली वीडियो जारी किया

मनोज जरांगे की अपील

डॉक्टर रोज सुबह और शाम उनके स्वास्थ्य के चेकअप करने के लिए आते हैं और बिना चेकअप के उन्हें वापस लौटना पड़ रहा है। सुबह मीडिया से बात करते हुए जरांगे ने मराठा समाज को बताया कि आज से गांव-गांव में जो आमरण अनशन हो रहा है उसके बारे में स्थानीय पुलिस को अर्जी देकर बताया जाय कि आपके गांव में आमरण अनशन चल रहा है। जरांगे पाटिल ने कहा कि इस अनशन से किसी की तबियत बिगड़ी तो उसके लिए सरकार जिम्मेदार होगी।पिछले 4 दिन में मराठवाड़ा में 7 युवकों ने आरक्षण की मांग करते हुए आत्महत्या की है। मनोज जारांगे ने फिर से समाज के सभी लोगों से विनती की है कि आपको आरक्षण मिल जाएगा कृपया आत्महत्या जैसा कदम ना उठाएं।

फड़नवीस का बयान

वहीं महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने कल एक मराठी चैनल को दिए गए इंटरव्यू में कहा, हम मराठा समाज को आरक्षण देना चाहते हैं, लेकिन जरांगे ने चर्चा के दरवाजे बंद कर दिए हैं। जरांगे ने कहा कि मैं सीएम और डीसीएम को चर्चा के लिए अंतरावली सराटी में बुलाता हूं, वो आए कोई मराठा आपका रास्ता नहीं रोकेगा, लेकिन यह चर्चा सिर्फ एक बार ही होगी।

First published on: Oct 29, 2023 02:03 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें