Tuesday, 27 February, 2024

---विज्ञापन---

VIDEO: महाराष्ट्र के सोलापुर में राजस्व मंत्री पाटिल पर फेंका भंडारा, ये है अटपटे रोष प्रदर्शन की 10 साल पुरानी अहम वजह

Maharashtra Reservation Issue, सोलापुर: महाराष्ट्र के सोलापुर में शुक्रवार को उस वक्त हंगामे का माहौल बन गया, जब एक प्रदर्शनकारी ने राजस्व मंत्री राधाकृष्ण विखे पाटिल पर भंडारा (हल्दी) फेंक दी। इसके बाद मौके पर मौजूद समर्थकों ने प्रदर्शनकारी को पकड़कर उसकी धुनाई कर दी। इस प्रदर्शन की वजह महाराष्ट्र में धनगर समाज के लिए […]

Edited By : Vinod Jagdale | Updated: Sep 8, 2023 11:57
Share :

Maharashtra Reservation Issue, सोलापुर: महाराष्ट्र के सोलापुर में शुक्रवार को उस वक्त हंगामे का माहौल बन गया, जब एक प्रदर्शनकारी ने राजस्व मंत्री राधाकृष्ण विखे पाटिल पर भंडारा (हल्दी) फेंक दी। इसके बाद मौके पर मौजूद समर्थकों ने प्रदर्शनकारी को पकड़कर उसकी धुनाई कर दी। इस प्रदर्शन की वजह महाराष्ट्र में धनगर समाज के लिए की जा रही आरक्षण की मांग को बताया जा रहा है। इस घटना का एक वीडियो भी इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो रहा है।

  • सोलापुर रेस्ट हाउस में धनगर आरक्षण कृति समिति के प्रतिनिधियों की तरफ से फेंका गया है मंत्री पर भंडारा

घटना सोलापुर के एक रेस्ट हाउस की है। प्रदेश के राजस्व मंत्री राधाकृष्ण विखे पाटिल किसी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आए हुए थे। इसी दौरान यहां समर्थकों के अलावा बाहरी लोग भी मौजूद थे। मिली जानकारी के अनुसार धनगर आरक्षण कृति समिति के कुछ प्रतिनिधि भी मंत्री से मिलने आए हुए थे। अचानक इसी दौरान समिति के इन प्रतिनिधियों में से एक मंत्री पर भंडारा (हल्दी) फेंक दी। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो में देखा जा सकता है कि मंत्री राधाकृष्ण विखे पाटील लोगों से घिरे हुए थे। पास ही खड़ा एक शख्स (कागज में हल्दी लपेटकर लाया) मौके की तलाश में था कि कब वह अपने काम को अंजाम दे। देखते ही देखते उसने यह कर भी दिया। उधर, जैसे ही प्रदर्शनकारी ने मंत्री पाटील पर हल्दी उड़ेली, मौके पर मौजूद समथकों ने उसे तुरंत धर-दबोचा और मारपीट शुरू कर दी। बड़ी मुश्किल से यहां मौजूद पुलिस बल ने हालात को कंट्रोल किया। देखें ये VIDEO

घटना सोलापुर के एक रेस्ट हाउस की है। प्रदेश के राजस्व मंत्री राधाकृष्ण विखे पाटिल किसी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आए हुए थे। इसी दौरान यहां समर्थकों के अलावा बाहरी लोग भी मौजूद थे। मिली जानकारी के अनुसार धनगर आरक्षण कृति समिति के कुछ प्रतिनिधि भी मंत्री से मिलने आए हुए थे। अचानक इसी दौरान समिति के इन प्रतिनिधियों में से एक मंत्री पर भंडारा (हल्दी) फेंक दी। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो में देखा जा सकता है कि मंत्री राधाकृष्ण विखे पाटील लोगों से घिरे हुए थे। पास ही खड़ा एक शख्स (कागज में हल्दी लपेटकर लाया) मौके की तलाश में था कि कब वह अपने काम को अंजाम दे। देखते ही देखते उसने यह कर भी दिया। उधर, जैसे ही प्रदर्शनकारी ने मंत्री पाटील पर हल्दी उड़ेली, मौके पर मौजूद समथकों ने उसे तुरंत धर-दबोचा और मारपीट शुरू कर दी। बड़ी मुश्किल से यहां मौजूद पुलिस बल ने हालात को कंट्रोल किया।

6 मुख्यमंत्रियों के साथ 12 विभाग संभाल चुके हैं 7वीं बार के विधायक पाटिल

राधाकृष्ण विखे पाटिल महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले के शिरडी विधानसभा क्षेत्र से 7वीं बार विधायक हैं। 9 अगस्त 2022 को हुए एकनाथ शिंदे मंत्रिमंडल के विस्तार में एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फड़नवीस के बाद शपथ लेने वाले पाटिल पहले मंत्री हैं। राधाकृष्ण विखे पाटिल 1995 से महाराष्ट्र विधानसभा के सदस्य रहे हैं। वह 2014 में 1,21,459 वोटों के साथ चुने गए थे और हाल ही में 2019 में रिकॉर्ड तोड़ 1,32,316 वोटों के साथ चुने गए थे। वह महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले के शिरडी से 7 बार अपराजित विधायक हैं । 1995 से अब तक 6 अलग-अलग मुख्यमंत्रियों के साथ इस राजनैतिक सफर में पाटिल ने 12 अलग-अलग विभाग संभाले हैं।

इतनी पुरानी है धनगर समाज की मांग

यहा यह बात भी उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र में धनगर समाज की आरक्षण की मांग काफी पुरानी है। पिछले 10 साल से धनगर समाज को एसटी कोटे में आरक्षण दिए जाने की मांग की जा रही है। इससे पहले मराठों ने भी अपने लिए आरक्षण की लंबी लड़ाई लड़ी। 2014 के विधानसभा चुनाव में प्रचार के दौरान देवेंद्र फडणवीस ने बारामती में पहली कैबिनेट मीटिंग में आरक्षण लाभ देने का वादा करके सत्ता की चाबी मांगी थी। सत्ता बदली, पर समाज के हालात नहीं बदले।

First published on: Sep 08, 2023 11:07 AM
संबंधित खबरें