Wednesday, 28 February, 2024

---विज्ञापन---

‘पप्पू’ पास हो गया… इस तरह से 25 साल में MSc मैथ की हासिल की डिग्री

एसएससी पास करने वाले राजकरण ने बताया कि जहां मैं नौकरी करता था, वहां मेरे मालिक मेरा उदाहरण देकर अपने बच्चों को ताना मानते थे।

Edited By : News24 हिंदी | Updated: Nov 28, 2023 09:17
Share :

Pappu pass ho gaya : मध्य प्रदेश के जबलपुर में ‘पप्पू’ पास हो गया है। पप्पू ने अपनी लाइफ का आधा वक्त मैथ में मास्टर डिग्री प्राप्त करने में गंवा दी है, लेकिन कभी हार नहीं मानी। लोगों के ताने सुने, सुरक्षा गार्ड की नौकरी की… के बीच वह अपने लक्ष्य का पीछा करता रहा। बार-बार असफल होने के बाद उन्होंने अपने जुनून को जिंदा रखा और धैर्य के साथ मेहनत करता रहा। आखिरकार वह 24 अटेम्प्ट में पास हो गया।

यह भी पढ़ें :MP में रेत माफिया का आतंक, अवैध खनन रोकने गए पटवारी को ट्रैक्टर से कुचला

पप्पू का नाम राजकरण (56) है। राजकरण पढ़ाई के साथ नौकरी भी करता था। वह दो नौकरी करता था। उसकी पहली नौकरी सुरक्षा गार्ड की थी, जिसमें उसे 5 हजार रुपये प्रति माह मिलते थे, जबकि दूसरी नौकरी एक बंगले में करता था, जहां उसे 1500 रुपये मिलते थे। राजकरण का कहना है कि वह बड़ी चुनौतियों के बीच अपना जीवनयापन करता था, लेकिन उसने पिछले 25 साल में एमएससी मैथ में स्नातकोत्तर डिग्री हासिल करने के लिए किताबों, परीक्षा फीस समेत अन्य चीजों पर 2 लाख रुपये खर्च कर दिए हैं।

News24 अब WhatsApp पर भी, लेटेस्ट खबरों के लिए जुड़िए हमारे साथ
News24 Whatsapp Channel

56 साल की उम्र में एसएससी पास करने वाले राजकरण ने बताया कि जहां मैं नौकरी करता था, वहां मेरे मालिक मेरा उदाहरण देकर अपने बच्चों को ताना मारते थे। वे कहते थे कि देखो इसके दृढ़ संकल्प को, इस उम्र में भी वह कितनी मेहनत से पढ़ाई कर रहा है।

मैथ में स्नातकोत्तर डिग्री के प्रति इतना जुनून क्यों?

राजकरण ने बताया कि साल 1996 में एमए करने के बाद मैं एक स्कूल गया और वहां विद्यार्थियों के साथ वार्ता की. इस दौरान मैंने छात्रों को मैथ पढ़ाया, मेरे पढ़ाने के स्टाइल को देखकर टीचरों ने मेरी काफी प्रशंसा की थी। इससे मेरे मन में मैथ से एमएससी करने का विचार आया और उस वक्त एक विषय से एमएससी करने का विकल्प भी मौजूद था। इसके बाद मैंने 1996 में जबलपुर के रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय में एडमिशन ले लिया।

यह भी पढ़ें : MP Election: कांग्रेस सरकार बनने पर कमलनाथ का CM बनना लगभग तय, मंत्रिमंडल में इन चेहरों को मिल सकती है जगह

पहले एक सब्जेक्ट और फिर दो सब्जेक्ट में पास हुआ पप्पू

राजकरण ने बताया कि मैंने पहली बार साल 1997 में एमएससी की परीक्षा दी और फेल हो गया। अगले दस सालों तक मैं 5 सब्जेक्ट में से सिर्फ एक में ही पास हो सका, लेकिन मैंने कभी हार नहीं मानी और लगातार मेहनत करता रहा। मैंने कभी इस बात पर ध्यान नहीं दिया कि लोग क्या कहते हैं. फिर मैंने दो विषयों में पास हुआ। आखिरकार, कोरोना काल के दौरान साल 2020 में मैंने अपनी प्रथम वर्ष और 2021 में दूसरे वर्ष की परीक्षा उत्तीर्ण की। अंत में मैंने करीब 25 साल की कठिन तपस्या के बाद एमएससी मैथ की डिग्री प्राप्त कर ली।

First published on: Nov 28, 2023 07:45 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें