Thursday, 29 February, 2024

---विज्ञापन---

MP की मोहन यादव सरकार का बड़ा फैसला, जापानी बुखार से बचाव के लिए फ्री लगवाएं टीका, जानें कब से और कहां?

Madhya Pradesh Mohan Yadav Govt: इस अभियान की शुरुआत प्रदेश के भोपाल, इंदौर, होशंगाबाद और सागर जिलों में मार्च में की जाएगी।

Edited By : Pooja Mishra | Updated: Feb 8, 2024 12:47
Share :
Madhya Pradesh Mohan Yadav Govt
MP की मोहन सरकार का बड़ा फैसला

Madhya Pradesh Mohan Yadav Govt: मध्य प्रदेश की मोहन यादव सरकार की तरफ से राज्य की जनता के लिए एक खुशखबरी है। दरअसल मोहन यादव सरकार द्वारा सभी प्रदेश वासियों के लिए स्वास्थ्य अभियान की शुरुआत होने वाली है। इस अभियान तहत 15 साल तक के 2.5 लाख बच्चों को फ्री में टीका लगाया जाएगा। इस अभियान की शुरुआत प्रदेश के भोपाल, इंदौर, होशंगाबाद और सागर जिलों में मार्च में की जाएगी। यह टीकाकरण जापानी बुखार से बचाव के लिए किया जाएगा।

जापानी बुखार के लिए टीकाकरण

बता दें कि, मध्य प्रदेश में साल 2015 से लेकर 2022 तक जापानी बुखार के कई मामले सामने आए थे, जिसके चलते कई लोगों की मौत भी हुई थी। जापानी बुखार से बचाव के लिए राज्य सरकार ने केंद्र सरकार से 25 लाख डोज़ मांगे थे। केंद्र ने राज्य सरकार की मांग स्वीकार कर ली, जिसके बाद मध्य प्रदेश में इस फ्री टीकाकरण अभियान का ऐलान किया गया, जो अब राज्य के भोपाल, इंदौर, होशंगाबाद और सागर जिलों में 1 मार्च से शुरू किया जाएगा। मालूम हो कि पिछले साल भी रायसेन, विदिशा और भोपाल जिलों में फ्री में बच्चों को टीका लगाया गया था। साल 2022 में जापानी बुखार से 70 लोगों की मौत हुई थी।

यह भी पढ़ें: मध्य प्रदेश के लोग अब कैंसर के इलाज के लिए उज्जैन आएं, खुल गया सेंटर, CM मोहन यादव ने किया लोकार्पण

क्या होता है जापानी बुखार?

जानकारी के अनुसार, फ्लेविवायरस से संक्रमित मच्छर के काटने से जापानी बुखार होता है। यह मच्छर उन जगहों में ज्यादा पाए जाते हैं जहां धान की खेती सबसे ज्यादा की जाती है। हम सभी जानते हैं कि मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में धान की खेती किस लेवल पर की जाती है। इसलिए इन दोनों राज्यों से जापानी बुखार के सबसे ज्यादा मामले सामने आते हैं। बता दें कि जापानी बुखार का असर मच्छर काटने के 15 से 20 दिन के बाद नजर आता है। बुखार, गर्दन में अकड़न और घबराहट ठंड और कंपकंपी जैसी समस्याएं जापानी बुखार का लक्षण है। कई मामलों में जापानी बुखार से पीड़ित व्यक्ति को सांस लेने में भी परेशानी होती है। वहीं कई गंभीर मामलों में तो व्यक्ति कोमा तक में चला जाता है।

First published on: Feb 08, 2024 12:47 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें