Saturday, December 10, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

झारखंड: हजारीबाग में पाकिस्तानी झंडे का वीडियो शेयर करने पर युवती से लगवाई उठक-बैठक, पंचायत में जड़े थप्पड़

एक लड़की को पाकिस्तानी झंडे से सम्बंधित वीडियो शेयर करने के आरोप में पहले पंचायत लगाकर बारिश के बीच उठक-बैठक कराई गई फिर अभद्र व्यवहार किया गया।

संघप्रिय वशिष्ठ, हजारीबाग: झारखंड के हजारीबाग से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। एक लड़की को पाकिस्तानी झंडे से सम्बंधित वीडियो शेयर करने के आरोप में पहले पंचायत लगाकर बारिश के बीच उठक-बैठक कराई गई फिर अभद्र व्यवहार किया गया। मुस्लिम समाज के युवकों द्वारा की गई इस कार्रवाई के बाद पूरे इलाके में तनाव व्याप्त है। हालांकि हिन्दू संगठनों के दबाव के बाद दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

क्या है पूरा मामला
जानकारी के अनुसार, युवती ने पाकिस्तानी झंडे से संबंधित एक वीडियो वायरल की थी। घटना रक्षाबंधन के दिन गुरुवार की है। रात करीब आठ बजे दर्जनों की संख्या में पहुंचे लोगों ने इस घटना को अंजाम दिया। युवती ने गांव के ही तीन अन्य युवकों पर घर में घुसकर अश्लील हरकत करने का आरोप लगाया है। आरोपितों में मो. नजीम, सजिबुल्लाह और हासिम फिरोज है। पीड़िता सिमरा गांव में एक मात्र हिंदू परिवार है और अपने विधवा मां, बड़ी बहन और छोटे भाई के साथ रहती है। इस बाबत बड़कागांव थाना में पीड़िता ने आवेदन दिया है जिसके तहत एफआईआर दर्ज की गई है।

जानकारी के अनुसार, वायरल वीडियो के आधार पर न सिर्फ उठक- बैठक कराई गई, बल्कि उससे पहले पंचायत बैठाई गई, दोषी करार दिया गया और फिर भरी पंचायत में उठक- बैठक के बाद थप्पड़ भी मारे गए। घटना के बाद परिवार दहशत में है।

पुलिस ने दिया ये बयान
इस पूरे मामले पर बड़कागांव के पुलिस उपाधीक्षक अमित कुमार सिंह से जब बात की गई तो उन्होंने बताया कि इस संबंध में शिकायत प्राप्त हुई है जिसके आधार पर 2 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है वहीं शेष की तलाश जारी है, जबकि इसमें एक काउंटर केस भी किया गया है जिसकी जांच के लिए एक टीम गठित की गई है। हालांकि युवती के 24 घंटे सुरक्षा के लिए पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है।

काउंटर केस 
इस पूरे मामले पर हजारीबाग के सदर विधायक और बीजेपी नेता मनीष जायसवाल ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि आज झारखंड सरकार में तुष्टिकरण की राजनीति चल रही है, जिसके फलस्वरूप इस तरह की घटनाएं सामने आ रही हैं। चाहे शुक्रवार को स्कूल बंद कराने का मामला हो या नमाज पढ़ने का मामला हो। इस मामले में काउंटर केस के लिए जगह जबरदस्ती बनाई गई है क्योंकि वायरल वीडियो में पाकिस्तान के झंडे से छेड़छाड़ की बात सामने आई है। इस पर मैं पूछना चाहता हूं कि भारतीय संविधान में किसी दूसरे देश के झंडे के साथ छेड़छाड़ में कौन सी धाराएं लगती हैं। इसका जवाब भी सामने आना चाहिए इस प्रकार जिस जगह पर हिंदू अल्पसंख्यक हो जाता है उस जगह पर इस तरह की ज्यादती होने पर सरकार का गंभीर नहीं होना भविष्य के लिए काफी खतरनाक है।

राजनीति की रोटी सेकने का मौका
हजारीबाग के बड़कागांव क्षेत्र से कांग्रेस की विधायक अंबा प्रसाद इस पूरे मामले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि भाजपा को बैठे-बठाए राजनीति की रोटी सेकने का मौका मिल गया है, जबकि यह मामला इतना तूल देने लायक नहीं है। उन्होंने कहा कि ऐसा करना बिल्कुल गलत है लेकिन इसके लिए संवैधानिक नीतियां बनी हुई है उसके तहत ही कार्रवाई होनी चाहिए और हो रही है। जहां एक ओर शुरुआती दौर में हजारीबाग पुलिस की ओर से मामले को दबाने की भरसक कोशिश की गई वहीं दूसरी ओर जब मामला सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो धरना प्रदर्शन के बाद गिरफ्तारी तक पहुंची है, लेकिन इस पूरे मुद्दे पर जिस तरह पक्ष और विपक्ष एक दूसरे पर आरोप लगा रही है उसे देखते हुए यह कहना मुश्किल है कि आने वाले समय में पीड़ित परिवार को कितना न्याय मिल पाएगा ।

(यह खबर पुलिस स्टेशन में दर्ज की गई रिपोर्ट के आधार पर है। इसमें न्यूज 24 का कोई निजी तर्क या राय नहीं है।)

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -