Wednesday, November 30, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Morbi Tragedy: मोरबी हादसे का दर्दनाक CCTV फुटेज आया सामने, Video देख कांप जाएगी रूह

Morbi Tragedy: रविवार शाम 6.30 बजे केबल सस्पेंशन ब्रिज टूट गया। 143 साल पुराने इस ब्रिज को मरम्मत के बाद हाल ही में खोला गया था।

Morbi Tragedy: गुजरात के मोरबी पुल हादसे का सीसीटीवी फुटेज सामने आया है। फुटेज इतना दर्दनाक है कि इसे देखकर आपकी रूह कांप जाएगी। वीडियो में दिख रहा है कि हादसे के पहले हैंगिंग ब्रिज हिल रहा था। इस दौरान ब्रिज पर भीड़ भी थी। कुल लोग पुल के हिलने के बाद सतर्क हो जाते हैं और पुल के दोनों छोर (दाएं और बाएं) को पकड़ने की कोशिश करते हैं लेकिन चंद सेकंड में पुल टूटकर नदी में गिर जाता है।

अभी पढ़ें कल मोरबी दौरे पर जाएंगे पीएम मोदी, जाने से पहले की हाईलेवल मीटिंग

हादसे में सोमवार सुबह मृतकों की संख्या 141 पहुंच गई, इनमें 25 बच्चे शामिल हैं। वहीं, करीब 177 लोगों को बचाया गया है। बता दें कि रविवार शाम 6.30 बजे केबल सस्पेंशन ब्रिज टूट गया। 143 साल पुराने इस ब्रिज को मरम्मत के बाद हाल ही में खोला गया था।

हादसे के पीछे का कारण भीड़ बताया जा रहा है। कहा जा रहा है कि रविवार होने की वजह से भीड़ ज्यादा हो गई। सूत्रों के मुताबिक, ब्रिज एक साथ करीब 150 लोगों का भार सह सकता है लेकिन करीब 300 से ज्यादा लोग हादसे के वक्त ब्रिज पर थे। उधर, जिला प्रशासन ने हेल्पलाइन नंबर (02822243300) जारी किया है। घायलों के इलाज के लिए मोरबी और राजकोट हॉस्पिटल में इमरजेंसी वार्ड बनाया गया है।

प्रधानमंत्री मोदी ने जताया दुख

हादसे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केवडिया में आयोजित एक कार्यक्रम में हादसे को लेकर दुख जाताया। वहीं नेपाल के प्रधानमंत्री और सिंगापुर के उच्चायुक्त ने भी मोरबी हादसे को लेकर दुख जताया है। गुजरात के सीएम भूपेंद्र पटेल आज तड़के मोरबी में कलेक्टर कार्यालय पहुंचे। यहां उन्होंने तलाशी अभियान, राहत-बचाव अभियान, घायलों के इलाज सहित सभी मामलों की जानकारी ली और मोरबी ब्रिज हादसे के बाद व्यवस्था को आवश्यक निर्देश दिए।

गोताखोरों की ली जा रही है मदद: NDRF कमांडेंट

NDRF कमांडेंट वीवीएन प्रसन्न कुमार ने बताया कि आमतौर पर यह नाव पलटने की घटना होती है, लेकिन ये बड़ा हादसा है। हमारे सामने चुनौती ये है कि पानी गंदा है जो गोताखोरों के लिए भी चुनौती बन रही है। उन्होंने बताया कि हमने क्षेत्र को सिविल प्रशासन, एसडीआरएफ, प्राथमिकी सेवा, सेना, नौसेना, आईएएफ, एनडीआरएफ के बीच 3 में विभाजित किया। हमारे गोताखोरों ने लोगों को बचाया और हमारे इलाके से शव बरामद किए। हमें संदेह है कि पुल के नीचे फंसे लोग हो सकते हैं जो ढह गया, हम गहरे गोताखोरों की मदद ले रहे हैं।

अभी पढ़ें Morbi Bridge Collapse: 2 नवंबर को गुजरात में राज्यव्यापी शोक, राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा, सभी कार्यक्रम रद्द 

 

कांग्रेस ने उठाई जांच की मांग

कांग्रेस ने मोरबी हादसे की जांच की मांग की है। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि ब्रिज हादसे पर हम कोई राजनीति नहीं करना चाहते, मामले की जांच HC के रिटायर्ड जजों से कराई जाए। इससे पहले कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने ट्विटर पर गुजरात में हुई त्रासदी की निंदा की और पूछा, “लोगों की मौत, 100 घायलों के लिए कौन जिम्मेदार है?” उन्होंने यह भी कहा कि मोरबी नगर मुख्य अधिकारी का हवाला देते हुए मोरबी पुल को आधिकारिक अनुमति के बिना खोला गया था।

अभी पढ़ें –  देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -