---विज्ञापन---

Delhi NCR में बिजली की डिमांड 8 हजार मेगावाट पहुंची, हीटवेव और पावर कट के बीच टूटे रिकॉर्ड

Delhi NCR Power Cut: दिल्ली एनसीआर में भीषण गर्मी और लू के बीच बिजली की डिमांड 8 हजार मेगावाट क्रॉस कर गई है। लोगों को लगातार पावर कट का सामना करना पड़ रहा है। अगर गर्मी की स्थिति यही रही, तो दिल्ली एनसीआर में रोजाना 8 हजार मेगावाट बिजली की डिमांड हो सकती है। जो अब तक का रिकॉर्ड है।

Edited By : Parmod chaudhary | Updated: May 22, 2024 07:21
Share :
MP Weather Update Heat Wave Alert
दिल्ली में हीटवेव का अलर्ट।

Power Cut In Delhi NCR: इस समय देश के कई इलाकों में भीषण गर्मी पड़ रही है। हीटवेव के कारण लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जिसके कारण बिजली की डिमांड में काफी बढ़ोतरी हुई है। इस समय गाजियाबाद, नोएडा समेत पूरे दिल्ली एनसीआर में लगातार पावर कट लग रहे हैं। लगातार बिजली न मिलने पर लोगों ने सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन करना भी शुरू कर दिया है। मौसम विभाग ने भी 24 मई तक रेड अलर्ट जारी किया है। वहीं, मंगलवार को पारा 47 डिग्री तक एनसीआर में चला गया। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) और राजकीय चिकित्सा विज्ञान संस्थान ग्रेटर नोएडा ने हीटवेव को लेकर अलर्ट जारी किया है। दिल्ली में मंगलवार को अधिकतम 42.4 और न्यूनतम 30.7 डिग्री सेल्सियस तापमान रिकॉर्ड किया गया है। वहीं, मंगलवार को दिल्ली में लगभग पावर डिमांड 7717 मेगावाट तक पहुंच गई। जो अब तक का सबसे बड़ा रिकॉर्ड है।

अस्पतालों में बढ़ रही मरीजों की संख्या

इससे पहले दिल्ली में 29 जून 2022 को डिमांड 7695 मेगावाट तक पहुंची थी। विशेषज्ञों का अनुमान है कि अगर यही हालात रहे, तो डिमांड 8 हजार क्रॉस कर सकती है। हालात ये हैं कि नो पावर कट जोन कहे जाने वाले ग्रेटर नोएडा में भी घंटों तक कट लग रहे हैं। जिसके कारण यहां लोगों का विरोध भी दिख रहा है। एनसीआर के अस्पतालों में हीटवेव के मरीजों की संख्या 30 फीसदी तक बढ़ चुकी है। एडवाइजरी में 22 से 25 मई के बीच हीटवेव का अलर्ट जारी किया गया है। डॉक्टरों ने लोगों को लगातार पानी पीने की सलाह दी है। हीट स्ट्रोक, सिरदर्द, कमजोरी, मतली, थकावट, शरीर में ऐंठन और उल्टी आने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करने की सलाह दी गई है।

यह भी पढ़ें:IMD का रेड अलर्ट, गर्मी ने तोड़े रिकॉर्ड, दिल्ली में 48 के करीब पहुंचा तापमान

एडवाइजरी में लोगों को सुबह 10 से दोपहर 3 बजे तक धूप से बचने की सलाह दी गई है। ओवरलोड के कारण ट्रांसफार्मर फुंक रहे हैं। ग्रेटर नोएडा की लॉ रेजीडेंशिया सोसाइटी और मेफेयर रेजीडेंसी सोसाइटी के लोगों ने बिजली और पानी की कमी के विरोध में रविवार को प्रदर्शन भी किया। दिल्ली में हजारों घरों में रविवार को 10 घंटे तक बिजली ठप रही। लोगों ने विभाग के अधिकारियों पर फोन नहीं उठाने का भी आरोप लगाया। शाम 4 बजे 50 हजार लोगों को बिजली की सप्लाई मिली। इससे पहले उनके घरों में इनवर्टर भी डिस्चार्ज हो चुके थे।

गाजियाबाद में भी लगातार लग रहे कट

गाजियाबाद में भी हाल ऐसा है। यहां पारा 44 डिग्री पार कर चुका है। लोनी और साथ लगते इलाकों में 14 घंटे तक कट लग रहे हैं। बिजली की डिमांड 1600 मेगावाट पार कर चुकी है। ओवरलोडिंग के चलते 20 से अधिक ट्रांसफार्मर फुंक चुके हैं। 25 से अधिक सेक्टर बिजली की कमी से जूझ रहे हैं। ग्रेटर नोएडा में पाली के 400 केवी उपकेंद्र में फाल्ट होने की बात सामने आई है। नोएडा के सेक्टर-11, 12, 19, 20, 22, 27, 31, 34, 40, 41, 42 में बिजली की समस्या है। वहीं, सेक्टर-45, 46, 48, 49, 51, 55, 56, 61, 82, 93, 99, 100, 104, 105, 110, 119, 122 और 135 के अलावा गांवों में भी स्थिति बेहद खराब है।

First published on: May 22, 2024 07:21 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें