---विज्ञापन---

BJP की लाख कोशिशों के बावजूद देश के लोग यह मानने को तैयार नहीं कि केजरीवाल ने कोई भ्रष्टाचार किया है: सौरभ भारद्वाज

AAP News: सौरभ भारद्वाज ने कहा कि ना केवल आम जनता बल्कि भारतीय जनता पार्टी के भीतर का एक बड़ा तबका भी इस बात को स्वीकार कर रहा है कि अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करवाना बीजेपी की सबसे बड़ी गलती है।

Edited By : Amit Kasana | Updated: Apr 16, 2024 21:44
Share :
saurabh bhardwaj press conference

AAP News: आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और कैबिनेट मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि बीजेपी की सबसे बड़ी परेशानी यह है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को एक तथाकथित शराब घोटाले में हुए भ्रष्टाचार के झूठे आरोप में गिरफ्तार करने के बावजूद भी दुनिया और देश के लोग यह मानने को तैयार नहीं है केजरीवाल ने कोई भ्रष्टाचार किया है।

भ्रष्टाचारी साबित नहीं कर पाई

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि ना केवल आम जनता बल्कि भारतीय जनता पार्टी के भीतर का एक बड़ा तबका भी इस बात को स्वीकार कर रहा है कि अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करवाना बीजेपी की सबसे बड़ी गलती है। उन्होंने कहा कि पिछले 2 साल से रोजाना भारतीय जनता पार्टी किसी न किसी माध्यम से आम आदमी पार्टी को भ्रष्टाचारी साबित करने के लिए कोई नई कहानी गढ़ती है। परंतु लाख कोशिशें के बावजूद भी भाजपा आम आदमी पार्टी को भ्रष्टाचारी साबित नहीं कर पाई।

कौन है फंड मैनेजर

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि पिछले दो-तीन दिन से भारतीय जनता पार्टी एक नया शगुफा लेकर आई है। एक चरणप्रीत सिंह नामक व्यक्ति को अब भाजपा पार्टी आम आदमी पार्टी का फंड मैनेजर बता रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा इस मामले में कुछ तथ्यों को छुपा रही है।

सबूत नहीं मिले थे

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि चरनप्रीत सिंह जिसे बीजेपी आप का फंड मैनेजर बता रही है, एक साल पहले सीबीआई द्वारा इसे गिरफ्तार किया गया था। उन्होंने बताया कि इस मामले में उनकी गिरफ्तारी के बाद सीबीआई के जज एमके नागपाल ने चरनप्रीत सिंह को यह कहते हुए जमानत दे दी थी, कि उनके खिलाफ कोई पर्याप्त सबूत नहीं मिले हैं।

तथ्य समझ से परे हैं

सौरभ भारद्वाज ने चरनप्रीत सिंह की गिरफ्तारी के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी देते हुए बताया, कि इसकी गिरफ्तारी इस आधार पर की गई है, कि गुजरात के किसी हवाला कारोबारी ने अपनी किसी डायरी में अपने हाथ से इसका नाम लिखा हुआ है। उन्होंने कहा कि अब तक इस तथाकथित शराब घोटाले के मामले में एक ही बात सुनने में आ रही थी कि साउथ की किसी लॉबी से पैसा दिल्ली आया और गोवा के चुनाव में वह पैसा इस्तेमाल किया गया। उन्होंने कहा कि यदि साउथ से पैसा आया और गोवा में चुनाव के दौरान पैसे का इस्तेमाल हुआ तो गुजरात के किसी हवाला कारोबारी ने अपनी डायरी में इस संबंध में इस व्यक्ति का नाम क्यों लिखा, यह बात समझ से बिल्कुल परे है।

चरनप्रीत सिंह एक फ्रीलांसर है

सौरभ भारद्वाज ने एक अन्य महत्वपूर्ण बिंदु बताते हुए कहा कि चरनप्रीत को गिरफ्तार करने का जो दूसरा आधार बताया गया है, वह एक महिला का बयान है। जिसमें उसने कहा की गोवा में बीजेपी के मुख्यमंत्री का चुनावी कैंपेन में वह काम कर चुकी हैं। सौरभ भारद्वाज ने बताया कि सीबीआई के रिकॉर्ड में यह बात दर्ज है, कि चरनप्रीत सिंह एक फ्रीलांसर है। जिन्होंने कांग्रेस और तृणमूल के साथ-साथ विभिन्न पार्टियों के अलग-अलग समय पर कैंपेन के काम देखे हैं।

First published on: Apr 16, 2024 09:44 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें