Sunday, November 27, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Chhattisgarh: अंधेकत्ल का पर्दाफाश, एक शक ने ले ली युवक की जान

छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव शहर के बसन्तपुर थाना क्षेत्र में आदित्य सौदागर के अंधेकत्ल की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। तुलसीपुर बख्तावर चाल गली में युवक की गोली मार कर हत्या कर दी थी।

राजनांदगांव: छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव शहर के बसन्तपुर थाना क्षेत्र में आदित्य सौदागर के अंधेकत्ल की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। तुलसीपुर बख्तावर चाल गली में युवक की गोली मार कर हत्या कर दी थी। आरोपी ने स्कूटी से शव को ले जाकर थाना बसंतपुर क्षेत्र के मोहारा नदी में फेक दिया था। प्रकरण में 03 आरोपी एवं 01 अपचारी बालक को गिरफ्तार किया है। वहीं इस घटना में प्रयुक्त पिस्तौल एवं 05 नग जिन्दा कारतूस व 01 नग खाली खोखा एवं स्कूटी बरामद की है।

जानकारी के मुताबिक बीते शनिवार को मुखबीर व मोहारा के ग्रामीणों से सूचना मिली कि एक 20-22 वर्ष के अज्ञात युवक का शव मोहारा शिवनाथ नदी में पड़ा है। सूचना पर तत्काल थाना बसंतपुर के पुलिस स्टाफ मौके पर पहुंच कर शव को बाहर निकाला।

अभी पढ़ें MP News: PFI के सदस्यों पर ATS की बड़ी कार्रवाई, 20 से अधिक गिरफ्तार, गृहमंत्री ने कही ये बात

लाश के माथे एवं सिर के पीछे भाग में चोट थी एवं मृतक के बांएं पैर का जूता घिस गया था तथा पैर की 04 अंगुली के नाखून पूरी तरह से घिस कर निकल गये थे जिससे प्रथम दृष्टिया मृतक की हत्या कर अन्य जगह से लाकर पानी में फेकना प्रतीत हो रहा था।

मुखबीर की सूचना के आधार पर आरोपी गिरफ्तार

शव की शिनाख्त आदित्य सौदागर उर्फ गोविन्दा निवासी दिवानटोला मोतीपुर राजनांदगांव के रूप में हुई। डेड बॉडी को तत्काल पीएम के लिए भेजा गया। वहीं जांच पड़ताल में सामने आया कि मृतक घटना दिनांक को आरोपियों के साथ बाईक में घुमते देखा गया। इसके अलावा मुखबीर द्वारा जानकारी दी गई कि रमेश उर्फ पिन्टू खपट्टा एवं जावेद खान द्वारा स्कूटी में उसके शव को फैकने गये थे।

इसी आधार पर आरोपियों के घर जाकर जब पता साजी की गई तो आरोपी नहीं मिले। इससे पुलिस का संदेह और गहरा गया। इसी आधार पर घटना के अन्य आरोपी युवराज उर्फ दीप सिंह राजपूत को भी पुलिस हिरासत में लेकर पूछताछ की गई।

एक शक ने ले ली युवक की जान

आरोपित दीप सिंह पूछताछ में गोलमोल जवाब देने लगा। अंततः मुख्य आरोपी रमेश उर्फ पिन्टू खपट्टा एवं जावेद खान को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इन आरोपियों से अलग-अलग ले जाकर पूछताछ की गई जिस पर मामले का पर्दाफाश हो गया। पकड़े गए आरोपीगण एवं अपचारी बालक ने अपने अपने कबूलनामे में बताया कि मृतक आदित्य उर्फ गोविन्दा के घर मुख्य आरोपी रमेश उर्फ पिन्टू खपट्टा के भाई मुकेश का आना-जाना था।

इससे मृतक आदित्य मुकेश पर शक करता था कि उसकी मां के साथ मुकेश साहू गलत करता है। मृतक आरोपी रमेश उर्फ पिन्टू खपट्टा को उसके साथी जावेद खान, दीप सिंह राजपूत व अपचारी बालक के सामने धमकी देता था कि तेरे भाई को समझा देना मेरी मां से दूर रहे वरना जान से मार दूंगा। रोज-रोज की धमकी से तंगआकर रमेश उर्फ पिन्टू खपट्टा ने मृतक आदित्य को जान से मारने का मन बना लिया।

अभी पढ़ें MP News: मां ही निकली जुड़वा बच्चों की कातिल, झाडियों में मिले थे मासूमों के शव

हत्या की बनाई योजना 

सभी ने योजना में अपने अन्य साथी आरोपीगण को शामिल करके दिनांक 23 सितंबर की रात्रि 10.45 बजे मृतक आदित्य उर्फ गोविन्दा को योजना के मुताबिक बख्तावर चाल गली नम्बर-1 में आरोपी रमेश उर्फ पिन्टू खपट्टा के घर के पास ले जाकर आरोपी पिन्टू खपट्टा ने गोली मार दी। फिर रमेश उर्फ पिन्टू खपट्टा और जावेद खान दोनों मिलकर मृतक के शव को दीप सिंह राजपूत के स्कूटी एक्टीवा में लेजाकर मोहारा नदी में फेक दिया।

वहीं आरोपी दीप सिंह राजपूत और अपचारी बालक मिलकर घटना स्थल में गिरे खूंन को पानी डालकर साफ कर नाली में बहा दिया। पुलिस ने इस प्रकरण में 03 आरोपी एवं 01 अपचारी बालक को गिरफ्तार कर उनकी निशादेही पर घटना में प्रयुक्त पिस्तौल एवं 05 नग जिन्दा कारतूस व 01 नग खाली खोखा एवं लाश को ठिकाना लगाने में प्रयुक्त स्कूटी बरामद किया है। घटना के मुख्य आरोपी रमेश साहू उर्फ पिन्टू खपट्टा पिता धनीराम साहू पूर्व में कई आपराधिक घटना में शामिल था जिसका पूर्व आपराधिक रिकार्ड भी है।

अभी पढ़ें प्रदेश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें 

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -