Wednesday, 17 April, 2024

---विज्ञापन---

पक्की नौकरी के बदले में मिली लाठी; महिलाओं के कपड़े फटे…गिड़गिड़ाते रहे लोग…पुलिस ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा

Bihar Anganwadi Workers Protest: विधान मंडल का घेराव करने पहुंचीं बड़ी संख्या में आंगनबाड़ी सहायिका-सेविकाओं को हटाने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया है। पुलिस ने भीड़ को भगाने के लिए वाटर कैनन का भी इस्तेमाल किया।

Edited By : Sumit Kumar | Updated: Nov 7, 2023 11:29
Share :
Bihar Anganwadi Workers Protest

Bihar Anganwadi Workers Protest: बिहार में विधानसभा शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन की कार्यवाही शुरु होने से पहले ही हंगामा मच गया है। विधान मंडल का घेराव करने पहुंचीं बड़ी संख्या में आंगनबाड़ी सहायिका-सेविकाओं को हटाने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। पुलिस भीड़ को भगाने के लिए वाटर कैनन से पानी की बौछार करते भी नजर आई। सामने आए वीडियो में पुलिस वाले आंगनबाड़ी सेविकाओं को जबरन सड़क पर घसीटते हुए नजर आ रहे हैं। पुलिस के बर्बर व्यवहार के बाद आंगनबाड़ी कर्मियों का आक्रोश और बढ़ता दिखाई दे रहा है।

प्रदर्शन के बीच एक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता हुई बेहोश

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो, विरोध प्रदर्शन के बीच एक आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बेहोश हो गई लेकिन इसके बाद भी पुलिस ने पानी की बौछारों का इस्तेमाल बंद नहीं किया। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए अपनी सख्त कार्रवाई को जारी रखा।

आंगनबाडी कार्यकर्ताओं के प्रदर्शन पर राजद सांसद मनोज झा का बयान

पटना में बिहार सरकार के खिलाफ आंगनबाडी कार्यकर्ताओं के प्रदर्शन पर राजद सांसद मनोज झा का कहना है, ”लोकतंत्र में हर किसी को सरकार के सामने अपनी मांग रखने का अधिकार है और सरकार को उनकी मांगों पर ध्यान भी देना चाहिए। वर्तमान बिहार सरकार लोगों की मांगों को गंभीरता से लिया जाता है और उस पर चर्चा की जाती है।”

ये भी पढ़ेंः बिहार विधानसभा में जाति जनगणना पर हंगामा; BJP विधायकों ने मांगा नीतीश का इस्तीफा, अब आगे क्या?

आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की क्या है मांग?

विरोध प्रदर्शन कर रहे आंगनबाड़ी कर्मियों का कहना है कि बिहार सरकार जब तक हमारी मांगे नहीं मानती है तब तक हम धरना देते रहेंगे। आंगनबाड़ी सेविकाएं बिहार सरकार से अपनी मानदेय बढ़ाने और सरकारी कर्मी का दर्जा देने की मांग कई दिनों से कर रहे हैं। कर्मियों ने कहा है कि सरकार से हमारी पांच मांग है, जिसमें सरकारी कर्मचारी का दर्जा देने और मानदेय बढ़ाना प्रमुख है। उनका कहना है कि सुप्रीम कोर्ट ने भी हमे ग्रेच्युटी का लाभ देने और सरकारी कर्मी का दर्जा देने का निर्देश दिया है। लेकिन बिहार सरकार इसका लाभ नहीं दे रही है।

First published on: Nov 07, 2023 10:39 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें