Wednesday, December 7, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

बिहार भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल का दावा, बोले- उपचुनाव में NDA के साथ प्रचार करेंगे चिराग पासवान

Bihar By Election 2022: बिहार की दो विधानसभा सीटों मोकामा और गोपालगंज में 3 नवंबर को उपचुनाव होंगे, जबकि वोटों की गिनती 6 नवंबर को होगी।

Bihar By Election 2022: बिहार भाजपा के अध्यक्ष संजय जायसवाल ने दावा किया है कि लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के चीफ चिराग पासवान मोकामा और गोपालगंज विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव में एनडीए के लिए प्रचार करेंगे।

संजय जायसवाल ने शुक्रवार को मीडिया को संबोधित करते हुए दावा किया कि चिराग पासवान हमेशा भाजपा के साथ रहे हैं। उन्होंने कहा ​कि चिराग पासवान 31 अक्टूबर और 1 नवंबर को मोकामा और गोपालगंज में एनडीए समर्थित प्रत्याशियों के लिए चुनाव प्रचार करेंगे।

बिहार भाजपा अध्यक्ष ने कहा है कि एनडीए के सभी घटक दल इसमें अपनी ऊर्जा लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति चुनावों की तरह राजग सहयोगी एक साथ हैं।

महागठबंधन सरकार पर लगाए ये आरोप

जायसवाल ने राज्य में महागठबंधन सरकार के खिलाफ गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि मोकामा में राजद अपनी सीट बरकरार रखना चाहती है और इसके लिए राजद कार्यकर्ता यहां के व्यापारियों और दुकानदारों को धमका रहे हैं। राजद के समर्थक दुकानदारों को धमकी दे रहे हैं कि अगर उन्होंने राजद को वोट नहीं दिया तो उनकी दुकानें लूट ली जाएंगी।

बता दें कि चिराग पासवान भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) का हिस्सा थे। उन्होंने 2020 का बिहार विधानसभा चुनाव अपने दम पर लड़ा था, लेकिन कुछ खास नहीं कर पाए थे। पिछले साल उनके चाचा पशुपति पारस भी उनसे अलग हो गए और अपना खुद की पार्टी बनाई थी। फिलहाल, पशुपति पारस केंद्र में मंत्री हैं और उनकी पार्टी एनडीए का हिस्सा है।

चिराग पासवान कभी खुद को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हनुमान बताते थे। चिराग के पिता केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान को आवंटित सरकारी बंगले से अपने परिवार के अपमानजनक निष्कासन के बाद वे और अधिक आक्रोशित हो गए थे। उन्होंने कहा था कि मैं पिछले डेढ़ साल में अपने रास्ते पर रहा हूं। ऐसे गठबंधन का कोई मतलब नहीं है जहां आपसी सम्मान न हो।

मोकामा और गोपालगंज में क्यों हो रहे हैं उपचुनाव

पटना में मोकामा के पूर्व विधायक अनंत सिंह के आवास से एके-47 राइफल सहित हथियार और गोला-बारूद की बरामदगी से संबंधित एक मामले में उन्हें दोषी ठहराया गया है, जिसके बाद उनकी विधानसभा सदस्यता रद्द हो गई। बिहार विधानसभा की ओर से इस साल जुलाई में अनंत कुमार सिंह को अयोग्य घोषित किए जाने के बाद मोकामा में उपचुनाव कराया जा रहा है। इस साल 21 जून को एक विशेष अदालत ने अनंत सिंह 10 साल कैद की सजा सुनाई गई थी।

गोपालगंज उपचुनाव इस साल 16 अगस्त को अपने मौजूदा विधायक और पूर्व मंत्री सुभाष प्रसाद सिंह की मृत्यु के बाद कराया जा रहा है।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -