---विज्ञापन---

Bihar में दहेज लोभी झोलाछाप की करतूत…10 लाख रुपए के लिए खुद ही रची अपहरण और हत्या की साजिश

Bhagalpur Crime News: बिहार के भागलपुर में दहेज के लालची की करतूत जानकर हैरान रह जाएंगे। आरोपी ने अपने ससुराल वालों से 10 लाख की डिमांड की। जो पूरी नहीं हुई, तो खुद ही अपहरण और हत्या की साजिश रच डाली। उसके भाई ने पुलिस के पास शिकायत दे दी। लेकिन बाद में उसका राज खुल गया। पुलिस ने बताया कि वह झोलाछाप है। जो खुद को एमबीबीएस डॉक्टर बताता था।

Edited By : News24 हिंदी | Updated: Apr 15, 2024 14:25
Share :
Bengaluru Man Killed Wife Dumped Dead Body
पत्नी की हत्या के आरोपी को पुलिस ने दबोच लिया है।

Bihar Crime: बिहार के भागलपुर में चौंका देने वाला मामला सामने आया है। यहां के नवगछिया इलाके में एक दामाद ने दहेज नहीं मिलने पर खुद के अपहरण और हत्या की साजिश रच डाली। आरोपी के भाई ने थाने जाकर उसकी पत्नी और ससुराल वालों पर झूठा केस भी दर्ज करवा दिया। पुलिस मामला सामने आते ही तेजी से जांच में जुट गई। लेकिन बाद में मामला कुछ और ही निकला। पुलिस ने पाया कि आरोपी खुद ही साजिशकर्ता है। जिसने दहेज नहीं मिलने पर किडनैपिंग और हत्या की साजिश का ड्रामा रचा था। जिसके बाद आरोपी को दबोच लिया गया है।

मामले के संदर्भ में नवगछिया के SDPO ओम प्रकाश ने जानकारी दी। बताया कि नयाटोला के रहने वाले विजय कुमार गुप्ता ने शिकायत दी थी। 12 अप्रैल के मामले में ससुराल पक्ष पर भाई का अपहरण करने के आरोप लगाए थे। शिकायत में कहा था कि भाई दिनेश कुमार गुप्ता का अपहरण कर हत्या कर दी गई है। ससुराल पक्ष के लोगों ने शव को गंगा नदी में फेंक दिया है। अगर पुलिस ने कार्रवाई नहीं की, तो वे लोग आंदोलन छेड़ देंगे। जिसके बाद पुलिस की ओर से जांच शुरू की गई थी।

छोलाछाप खुद को बताता था एमबीबीएस डॉक्टर

इसके बाद सीनियर अधिकारियों ने भी जांच के लिए टीम गठित की थी। टीम ने सिर्फ 24 घंटे में ही दिनेश कुमार को एग्जीबिशन रोड से बरामद कर लिया। जिसके बाद पता लगा कि वह खुद ही साजिशकर्ता है। आरोपी ने जहांगीरपुर वैसी के शैलेश कुमार गुप्ता की पुत्री नेहा कुमारी से विवाह रचाया था। शादी के वक्त आरोपी ने खुद को एमबीबीएस डॉक्टर बताया था। लेकिन बाद में पता लगा कि वह झोलाछाप है। ससुराल वालों ने शादी के समय आरोपी को 8 लाख रुपए और सामान दहेज के तौर पर दिया। लेकिन आरोपी अब फिर 10 लाख की डिमांड कर रहा था।

यह भी पढ़ें-Maharashtra में प्रसाद खाने से 1 की मौत; 6 की हालत गंभीर, फूड पॉइजनिंग से 80 बीमार

जिसके बाद उसने खुद अपने अपहरण की साजिश रची। वह चुपचाप पटना चला गया और साजिश के तहत घरवालों ने ससुराल पक्ष पर केस दर्ज करवा दिया। लेकिन पुलिस ने पूरे मामले का भंडाफोड़ कर दिया। पुलिस का कहना है कि परिवार के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

First published on: Apr 15, 2024 02:25 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें