Saturday, 13 April, 2024

---विज्ञापन---

‘दिल दुखता है…’, संदेशखाली विवाद पर नुसरत जहां ने तोड़ी चुप्पी

Nusrat Jahan Reaction Sandeshkhali Row : पश्चिम बंगाल में संदेशखाली विवाद को लेकर विपक्ष ने ममता सरकार पर निशाना साधा है। इस बीच टीएमसी की सांसद नुसरत जहां ने विपक्ष को आड़े हाथों लेते हुए सीएम ममता बनर्जी का सपोर्ट किया। उन्होंने कहा कि इस मामले में राजनीति बंद करो।

Edited By : Deepak Pandey | Updated: Feb 25, 2024 22:59
Share :
Nusrat Jahan
टीएमसी ने नुसरत जहां का काटा टिकट।

Nusrat Jahan Reaction Sandeshkhali Row : पश्चिम बंगाल के संदेशखाली में हो रहे बवाल को लेकर ममता सरकार विपक्ष के निशाने पर है। एक तरफ भारतीय जनता पार्टी (BJP) सीएम ममता बनर्जी हमला बोल रही है तो दूसरी तरफ स्थानीय लोगों ने मार्चा खोल रखा है। इस बीच टीएमसी की सांसद नुसरत जहां ने संदेशखाली मामले में अपनी चुप्पी तोड़ी और ममता सरकार का सपोर्ट किया। इस मामले में नुसरत जहां की चुप्पी पर सवाल उठ रहे थे, इसलिए उन्होंने अपनी सफाई पेश की।

तृणमूल कांग्रेस की सांसद नुसरत जहां ने एक्स पर पोस्ट करते हुए कहा कि संदेशखाली में शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए सरकार ठोस कदम उठा रही है। इस मामले में राजनीति नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि ऐसे मामले से दिल दुखता है। मैंने एक महिला और जनप्रतिनिधि के रूप में हमेशा अपनी पार्टी के निर्देशों का पालन किया और लोगों की सेवा की।

यह भी पढे़ं : शाहजहां कब गिरफ्तार होगा? संदेशखाली जा रहे प्रतिनिधिमंडल को रोकने पर भड़की बीजेपी

हम कानून से ऊपर नहीं हैं : टीएमसी सांसद

नुसरत जहां ने अपने पोस्ट के साथ एक अखबार की कटिंग भी शेयर की है। उन्होंने लिखा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पहले ही संदेशखाली में मदद भेज दी है और लोगों के हित में जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। हम कानून से ऊपर नहीं हैं, इसलिए इसका पालन करना और प्रशासन का सपोर्ट करना चाहिए। मैंने सुख-दुख में अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों की सच्ची सेवा की है। मैंने हमेशा से पार्टी के निदेर्शों के अनुसार ही कार्य किया है।

यह भी पढे़ं : Sandeshkhali violence: विधानसभा में सीएम ममता बनर्जी ने बताई हिंसा की असल वजह, विपक्ष के हमलों का दिया यह जवाब

राज्य सरकार और प्रशासन पर भरोसा करना चाहिए : नुसरत जहां

उन्होंने आगे कहा कि मेरा मानना है कि हमें राज्य सरकार और प्रशासन पर भरोसा रखना चाहिए। गलत की हमेशा निंदा होती है और होती रहेगी। हमें एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाने से बचना चाहिए और शांति कायम करने के लिए एक साथ आना चाहिए न कि हंगामा करना चाहिए। हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता लोगों की सुरक्षा और कल्याण है। किसके बारे में कौन क्या कह रहा है, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है। मैंने पहले भी कहा था और फिर से दोहराऊंगा कि राजनीति बंद करो।

क्या है संदेशखाली विवाद

टीएमसी नेता शेख शाहजहां के घर पर छापा मारने गई ईडी और सीआरपीएफ की टीम पर हमले के बाद संदेशखाली सुर्खियों में आया था। उत्तरी 24 परगना जिले में संदेशखाली स्थित है, जहां पिछले दिनों टीएमसी नेताओं की रैली के दौरान हिंसा हुई थी। इस दौरान कई लोगों के घर जला दिए गए थे। इसके बाद संदेशखाली की महिलाओं ने टीएमसी नेता शेख शाहजहां और उसके भाई के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने यौन उत्पीड़न और जमीन हड़पने का आरोप लगाया। इस मामले में स्थानीय लोग विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

First published on: Feb 25, 2024 10:59 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें