Monday, 26 February, 2024

---विज्ञापन---

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से आज मिलेगा INDIA का प्रतिनिधिमंडल, मणिपुर के हालातों से कराएगा अपडेट

नई दिल्ली: मणिपुर के हिंसा ग्रस्त इलाकों का दौरा करने वाले विपक्ष (I.N.D.I.A) के 21 सांसदों का प्रतिनिधिमंडल आज राष्ट्रपित द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात करेगा। ये नेता सुबह 11.30 बजे महामहिम से मिलकर उन्हें राज्य (Manipur Violence) के हालात से अवगत कराएगा। इससे पहले मंगलवार को विपक्ष की तरफ से कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने […]

Edited By : Pankaj Mishra | Updated: Aug 2, 2023 11:42
Share :
Opposition MP

नई दिल्ली: मणिपुर के हिंसा ग्रस्त इलाकों का दौरा करने वाले विपक्ष (I.N.D.I.A) के 21 सांसदों का प्रतिनिधिमंडल आज राष्ट्रपित द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात करेगा। ये नेता सुबह 11.30 बजे महामहिम से मिलकर उन्हें राज्य (Manipur Violence) के हालात से अवगत कराएगा। इससे पहले मंगलवार को विपक्ष की तरफ से कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से मिलने का समय मांगा था, ताकि हिंसा प्रभावित मणिपुर के मुद्दे और वहां की स्थिति को उनके समक्ष रखा जा सके।

यह भी पढ़ेंयह भी पढ़ें‘संविधान संगत है दिल्ली से जुड़ा विधेयक’ संसद में विपक्ष के हंगामे के बीच बोले प्रल्हाद जोशी

कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने ट्वीट कर कहा कि ‘29-30 जुलाई को मणिपुर का दौरा करने वाले विपक्षी दलों के 21 सांसद 2 अगस्त को सुबह 11:30 बजे माननीय राष्ट्रपति महोदया से मुलाक़ात करेंगे। इस दौरान ‘इंडिया’ के सभी घटक दलों के सदन के नेता भी उनके साथ रहेंगे।

बताया जा रहा है कि ये विपक्षी नेता मणिपुर में हिंसा (Manipur Violence) रोकने में केंद्र और राज्य सरकार की विफलताओं का मुद्दा उठाते हुए राष्ट्रपति से मामले में हस्तक्षेप की मांग भी करेंगे। बताया जा रहा है कि इस दौरान विपक्ष की ओर मणिपुर की मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह की बीजेपी सरकार को बर्खास्त करने की मांग भी की जाएगी।

यह भी पढ़ेंयह भी पढ़ेंPM Modi In Pune: एक मंच पर आए शरद पवार-पीएम मोदी, मिला लोकमान्य तिलक अवॉर्ड, उद्धव गुट को लगी मिर्ची

आपको बता दें कि विपक्षी दलों के गठबंधन (I.N.D.I.A) के घटक दलों के 21 सांसदों के एक प्रतिनिधिमंडल ने 29 जुलाई को दो दिवसीय मणिपुर का दौरा किया था। इस प्रतिनिधिमंडल का कहना है कि मणिपुर में पिछले तीन महीने से जारी जातीय हिंसा को अगर जल्द हल नहीं किया गया, तो इससे देश की सुरक्षा की समस्या भी पैदा हो सकती हैं।

गौरतलब है कि 3 मई को मणिपुर में कुकी समुदाय की ओर से निकाले गए ‘आदिवासी एकता मार्च’ के दौरान अचानक हिंसा भड़क (Manipur Violence) गई। इस दौरान कुकी और मैतेई समुदाय के बीच कई जगहों पर हिंसक झड़पें हुई। तभी से ही वहां हालात लगातार तनावपूर्ण बने हुए हैं। हिंसा में अब तक 150 के करीब लोग मारे जा चुके हैं।

और पढ़िए – देश से जुड़ी अन्य बड़ी ख़बरें यहां पढ़ें

First published on: Aug 02, 2023 08:32 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें