Friday, September 30, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

जम्मू-कश्मीर: सेना के बेस पर आतंकियों का आत्मघाती हमला नाकाम, दो आतंकी मारे गए, तीन जवान शहीद

दो आतंकियों ने सेना के एक कंपनी ऑपरेटिंग बेस पर आत्मघाती हमला किया, जिसमें दोनों आतंकवादी मारे गए, जबकि तीन जवान शहीद हो गए हैं।

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के राजौरी से 25 किलोमीटर दूर दो आतंकियों ने सेना के एक कंपनी ऑपरेटिंग बेस पर आत्मघाती हमले की कोशिश की। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक सुरक्षाबलों की मुस्तैदी के चलते इस हमले को नाकाम कर दिया गया। इस दौरान हुई मुठभेड़ में दोनों आतंकवादी मारे गए हैं, जबकि तीन जवान शहीद हो गए हैं। भारतीय सेना के अधिकारियों ने जानकारी देते हुए कहा है कि ऑपरेशन जारी।

इससे पहले मुकेश सिंह, एडीजीपी, जम्मू जोन ने इस संबंध में जानकारी देते हुए कहा था कि- राजौरी के दारहाल इलाके के परगल में सेना के कैंप की बाड़ को किसी ने पार करने की कोशिश की। दोनों तरफ से फायरिंग हुई। दारहल पीएस से 6 किमी दूर लोकेशन के लिए अतिरिक्त दल भेजे गए। दो आतंकवादी मारे गए, सेना के दो जवान घायल हुए।

बुधवार को तीन आतंकी किए थे ढेर

जम्मू-कश्मीर के बडगाम जिले में बुधवार को एक मुठभेड़ में लश्कर के तीन आतंकवादी मारे गए। ताजा जानकारी के मुताबिक पुलिस ने कहा कि घटनास्थल से शव निकाले जा रहे हैं और उनकी पहचान अभी नहीं हो पाई है।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) कश्मीर के एक ट्वीट में कहा गया, “छिपे हुए लश्कर-ए-तैयबा के तीनों आतंकवादियों को मार गिराया गया। घटनास्थल से शव निकाले जा रहे हैं, पहचान अभी बाकी है। आपत्तिजनक सामग्री, हथियार और गोला-बारूद बरामद। हमारे लिए एक बड़ी सफलता।”

इससे पहले कश्मीर जोन पुलिस ने कहा था कि मुठभेड़ बडगाम के वाटरहेल इलाके में शुरू हुई थी। पुलिस के मुताबिक मुठभेड़ में फंसने वाले बंदूकधारी प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन द रेसिस्टेंस फ्रंट (TRF)/लश्कर-ए-तैयबा (LeT) से संबंधित आतंकवादी थे। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने यह भी दावा किया कि मुठभेड़ के दौरान राहुल भट और अमरीन भट सहित कई नागरिकों की हत्याओं में शामिल आतंकवादी लतीफ राथर भी फंस गया था।

कश्मीर जोन पुलिस ने अतिरिक्त महानिदेशक (एडीजीपी) के हवाले से एक ट्वीट में कहा गया था, “आतंकवादी लतीफ राथर सहित आतंकी संगठन लश्कर (टीआरएफ) के 03 आतंकवादी चल रहे मुठभेड़ में फंस गए हैं। आतंकवादी लतीफ राहुल भट और अमरीन भट सहित कई नागरिकों की हत्याओं में शामिल है।”

रविवार को भी सेना को मिली कामयाबी

इससे पहले रविवार को, प्रतिबंधित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के एक ‘हाइब्रिड’ आतंकवादी को भारतीय सेना की 34 आरआर यूनिट ने बडगाम इलाके में गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार आरोपी की पहचान संगम बडगाम निवासी अर्शीद अहमद भट के रूप में हुई है।

श्रीनगर पुलिस और 2RR की संयुक्त टीम ने लवयपुरा में गिरफ्तारियां कीं। अधिकारियों ने आपत्तिजनक सामग्री भी जब्त की जिसमें 5 पिस्तौल, 5 मैगजीन और 50 राउंड शामिल हैं। आतंकी के पास से दो हथगोले भी बरामद किए गए हैं।

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -