Wednesday, 28 February, 2024

---विज्ञापन---

राहुल पर रविशंकर का पलटवार, कहा- विरोध बहाना, असली मुद्दा ED से परिवार को बचाना

पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मंहगाई और बेरोजगारी को लेकर राहुल गांधी के प्रेस कॉन्फ्रेंस पर निशाना साधा है। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि विरोध प्रदर्शन सिर्फ एक बहाना है, असली मुद्दा तो ईडी की जांच से परिवार को बचाना है। राहुल गांधी के प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद रविशंकर प्रसाद ने कहा कि अभी […]

Edited By : Om Pratap | Updated: Aug 5, 2022 13:59
Share :
Opposition Meet, Ravi Shankar prasad, Bengaluru
Ravi Shankar prasad

पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मंहगाई और बेरोजगारी को लेकर राहुल गांधी के प्रेस कॉन्फ्रेंस पर निशाना साधा है। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि विरोध प्रदर्शन सिर्फ एक बहाना है, असली मुद्दा तो ईडी की जांच से परिवार को बचाना है। राहुल गांधी के प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद रविशंकर प्रसाद ने कहा कि अभी हम लोगों ने राहुल गांधी की प्रेस वार्ता देखी। राहुल गांधी घबराए और सहमे हुए हैं। महंगाई और बेरोजगारी पर जब चर्चा होती है तो वे आते नहीं हैं, सदन से बाहर चले जाते हैं।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी ने साफ झूठ बोला है। अभी 2 दिन पहले सदन में चर्चा हुई उसमें कांग्रेस पार्टी के लोगों ने भाग लिया कि नहीं? निम्न स्तर के आरोप लगाए कि नहीं? राहुल गांधी ने ये झूठ क्यों बोला कि उनको बोलने नहीं दिया जाता है? ये देश को बताना जरूरी है। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि महंगाई और बेरोजगारी पर चर्चा एक बहाना है। सही कारण ED को धमकाना, डराना और अपने परिवार को बचाना है।

प्रह्लाद जोशी बोले- ये महात्मा गांधी के वंशज नहीं है, ये नकली गांधी हैं

केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने भी राहुल गांधी और कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन पर निशाना साधा। प्रह्लाद जोशी ने कहा कि यह महात्मा गांधी के वशंज नहीं है, यह नकली गांधी हैं। यह नकली गांधी और नकली विचारधारा है इसलिए राहुल गांधी ऐसे बोलते हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि गांधी एक परिवार नहीं बल्कि एक विचारधारा के लिए लड़ने वाली पार्टी है। उन्होंने कहा कि जो लोग अपनी खुद की पार्टी में लोकतंत्र के बारे में यकीन नहीं रखते और जिन्होंने देश में आपातकाल लगाया वे देश में लोकतंत्र के बारे में बात कर रहे हैं, यह हास्यास्पद है।

ईडी की कार्रवाई पर जोशी बोले- सबकुछ कानून के तहत हो रहा है

नेशनल हेराल्ड मामले में ईडी की कार्रवाई को लेकर प्रह्लाद जोशी ने कहा कि जो भी हो रहा है वह भारत के क़ानून के तहत हो रहा है और उनको इसमें सहयोग करना चाहिए। जोशी ने कहा कि जहां तक मल्लिकार्जुन खड़गे को ED द्वारा बुलाए जाने की बात है तो वह उस कंपनी के CEO हैं। अगर उनको बुलाया जा रहा है तो उन्हें सहयोग करना चाहिए। राहुल गांधी और सोनिया गांधी को बुलाया गया था तब संसद का सत्र नहीं चल रहा था तब भी उन्होंने सहयोग नहीं किया था।

राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में क्या कहा…

राहुल गांधी ने कहा कि मेरी ये समस्या है कि मैं सच्चाई बोलता हूं, डरता नहीं हूं। मैं लोकतंत्र की रक्षा के लिए खड़े होने का अपना काम करूंगा, महंगाई-बेरोजगारी का मुद्दा उठाने का काम करूंगा। फिर मेरे ऊपर और आक्रमण होंगे। राहुल ने कहा कि केंद्र सरकार इसलिए डरती है क्योंकि वो झूठ बोलते हैं। हमारे इस लोकतांत्रिक देश में तानाशाही चरम पर पहुंच चुकी है।

राहुल गांधी ने कहा कि सड़क से संसद तक हमारी आवाज को दबाने की कोशिश की जा रही है। लेकिन ये अन्याय के खिलाफ उठी न्याय की आवाज है, हम खामोश नहीं होंगे। हिंदुस्तान में कोई भी व्यक्ति, गैर राजनीतिक या फिल्मस्टार, कोई भी अगर सरकार के खिलाफ बोलता है। तो उस व्यक्ति के खिलाफ हिंदुस्तान के सारे संस्थानों को लगा दिया जाता है।

देश में लोकतंत्र खत्म हो गया है: राहुल गांधी

राहुल गांधी ने कहा कि शायद देश को आज ये बात समझ नहीं आ रही है, लेकिन जल्द देश को ये बात समझ आएगी कि देश में लोकतंत्र खत्म हो गया है। देश में लोकतंत्र सिर्फ यादों में है। ये गांधी परिवार पर इसलिए आक्रमण करते हैं कि हम एक विचारधारा के लिए लड़ते हैं और देश में हमारे जैसे करोड़ों लोग हैं। हम लोकतंत्र के लिए लड़ते हैं, हम सांप्रदायिक सद्भाव के लिए लड़ते हैं। ये लड़ाई सिर्फ मैं नहीं लड़ रहा, बल्कि हम सालों से लड़ रहे हैं, मेरे परिवार ने शहादत दी है।

राहुल गांधी ने कहा कि ये हमारी जिम्मेदारी है, हम विचारधारा के लिए लड़ते हैं। राहुल ने कहा कि जब हिंदू-मुस्लिम को लड़ाया जाता है, तब हमें दर्द होता है। जब किसी दलित को मारा जाता है, तब हमें दर्द होता है। जब किसी महिला पर अत्याचार होता है, तब हमें दर्द होता है। इसीलिए हम लड़ते हैं, ये परिवार नहीं एक विचारधारा है। हिटलर भी चुनाव जीतकर आया था, हिटलर भी चुनाव जीत जाता था।

लोकतंत्र में विपक्ष संस्थानों के बल पर लड़ता है: राहुल गांधी

राहुल ने कहा कि हिटलर चुनाव ऐसे जीतता था कि जर्मनी के पूरे-पूरे संस्थान उसके हाथ में थे, उसके हाथ में पैरामिलिट्री फॉर्सेज थी, उसके पास पूरा का पूरा ढांचा था। लोकतंत्र में विपक्ष संस्थानों के बल पर लड़ता है। जिस तरीके से संविधान की धज्जियां उड़ रही हैं, कोई कल्पना नहीं कर सकता। महंगाई हो, बेरोजगारी हो, जीएसटी हो; इस सरकार में इन मुद्दों पर सुनवाई करने वाला कोई नहीं है।

राहुल गांधी ने कहा कि जब सदन चल रहा है, उस समय सोनिया गांधी और मल्लिकार्जुन खड़गे को पूछताछ के लिए बुला रहे हो, इसलिए मैंने उस दिन कहा था कि देश में ED का आतंक है। देश में जो कुछ हो रहा है, खतरनाक खेल हो रहा है, लोकतंत्र खत्म किया जा रहा है। अब समय आ गया है कि अब जनता को भी आगे आना होगा। मीडिया के मालिकों के ऊपर जो ED व CBI का दवाब है, उस दवाब से बाहर निकलना पड़ेगा।

राहुल ने कहा- नेशनल हेराल्ड एक अखबार है, उस पर भी हमला हो रहा है

राहुल गांधी ने कहा कि नेशनल हेराल्ड भी एक अखबार है, जब एक अखबार पर हमला हो सकता है, तो किसी पर भी हमला हो सकता है। आज देश के मीडिया के सामने बहुत बड़ी चुनौती है कि वो बोल नहीं पा रहे हैं, हिम्मत नहीं दिखा पा रहे हैं। आज सबसे ज्यादा बेरोजगारी हिंदुस्तान में है, महंगाई बढ़ती जा रही है। पता नहीं ये आंकड़े वित्त मंत्री को दिख नहीं रहे हैं या उनको कहा गया है कि बस कुछ भी बोलते जाइए।

First published on: Aug 05, 2022 12:31 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें