Friday, 23 February, 2024

---विज्ञापन---

उपराष्ट्रपति चुनाव: बसपा करेगी NDA उम्मीदवार जगदीप धनखड़ का समर्थन, मायावती का ऐलान

बहुजन समाजवादी पार्टी सुप्रीमो मायावती ने बुधवार को एनडीए के उपाध्यक्ष पद के उम्मीदवार जगदीप धनखड़ को समर्थन की घोषणा की। बसपा प्रमुख ने खुद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। मायावती ने कहा कि यह सर्वविदित है कि देश के सर्वोच्च पद राष्ट्रपति पद के चुनाव में सरकार और विपक्ष के बीच आम सहमति की […]

Edited By : Gyanendra Sharma | Updated: Aug 3, 2022 09:13
Share :

बहुजन समाजवादी पार्टी सुप्रीमो मायावती ने बुधवार को एनडीए के उपाध्यक्ष पद के उम्मीदवार जगदीप धनखड़ को समर्थन की घोषणा की। बसपा प्रमुख ने खुद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। मायावती ने कहा कि यह सर्वविदित है कि देश के सर्वोच्च पद राष्ट्रपति पद के चुनाव में सरकार और विपक्ष के बीच आम सहमति की कमी के कारण, आखिरकार इसके लिए चुनाव हुआ।

उन्होंने कहा, “व्यापक जनहित और अपने स्वयं के आंदोलन को देखते हुए बसपा ने उपाध्यक्ष पद के चुनाव में श्री जगदीप धनखड़ को अपना समर्थन देने का फैसला किया है, जिसकी मैं आज औपचारिक रूप से घोषणा भी कर रही हूं।”

विपक्ष ने जगदीप धनखड़ के खिलाफ पूर्व केंद्रीय मंत्री मार्गरेट अल्वा को उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया है। उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के पदेन सभापति के रूप में धनखड़ का निर्वाचन लगभग तय माना जा रहा है क्योंकि लोकसभा और राज्यसभा के निर्वाचक मंडल में भाजपा बहुमत में है।

मायावती ने पहले राष्ट्रपति चुनाव में द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करते हुए आरोप लगाया था कि विपक्ष ने यशवंत सिन्हा को अपना उम्मीदवार चुनते समय उनकी पार्टी की अनदेखी की थी। उन्होंने जोर देकर कहा था कि मुर्मू का समर्थन करने का उनका निर्णय राजनीतिक रूप से तटस्थ था और न तो भाजपा या एनडीए के समर्थन में था।

उन्होंने एक प्रेस वार्ता में कहा कि हमने राष्ट्रपति चुनाव के लिए एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करने का फैसला किया है और यह फैसला हमारी पार्टी और आंदोलन को ध्यान में रखते हुए लिया गया है। यह निर्णय न तो भाजपा या एनडीए के समर्थन में है और न ही विपक्ष के खिलाफ है। उन्होंने दोहराया कि यह निर्णय उनकी “पार्टी और आंदोलन” पर आधारित था।

झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) और शिवसेना (उद्धव ठाकरे गुट) उन विपक्षी दलों में शामिल हैं जिन्होंने मुर्मू की उम्मीदवारी का समर्थन किया लेकिन उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए मार्गरेट अल्वा को समर्थन दिया। वहीं, तृणमूल कांग्रेस ने एक आश्चर्यजनक कदम उठाते हुए उप-राष्ट्रपति चुनाव में मतदान से दूर रहने का फैसला किया है।

First published on: Aug 03, 2022 09:13 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें