---विज्ञापन---

पाकिस्तान का ‘शाही मोहल्ला’ कैसे बना तवायफों की जिस्मफरोशी का अड्डा? क्या है Heeramandi की असली कहानी?

Heeramandi: The Diamond Bazaar: आखिर क्या है 'हीरामंड़ी' की असली कहानी, जिस पर संजय लीला भंसाली बना रहे वेब सीरीज?

Edited By : Nancy Tomar | Updated: Feb 1, 2024 13:56
Share :
Heeramandi: The Diamond Bazaar
Heeramandi: The Diamond Bazaar की कहानी? फोटो आभार- गूगल

Heeramandi: The Diamond Bazaar: मशहूर फिल्ममेकर संजय लीला भंसाली हमेशा ही अपनी फिल्मों से लोगों का दिल जीत लेते हैं। इन दिनों संजय लीला भंसाली अपनी आने वाली सीरीज ‘हीरामंडी’ को लेकर सुर्खियों में है।

आज इस सीरीज का मोशन पोस्टर भी जारी कर दिया गया है, जिसमें तवायफें प्यार, ताकत और आजादी की जंग लड़ती नजर आती है। आखिर कैसे एक शाही मोहल्ला तवायफों की जिस्मफरोशी का अड्डा बन गया। क्या है ‘हीरामंडी: द डायमंड बाजार’ की असली कहानी?

यह भी पढ़ें- प्यार, ताकत और आजादी की जंग लड़ती नजर आईं Heeramandi की तवायफ, देखें पहला लुक

‘हीरामंडी: द डायमंड बाजार’ की कहानी

पाकिस्तान का एक ‘शाही मोहल्ला’, जो लाहौर में है, जिसका नाम पंजाब प्रांत के राजा हीरा सिंह नाभा के नाम से लिया गया। साथ ही इसे पाकिस्तान के रेड लाइट जिले के नाम से भी पहचाना जाता है। एक समय ऐसा था जब यहां की तमीज और तहजीब की मिसाल दी जाती थी और मुगलकाल में तवायफें संगीत और नृत्य से यहां की संस्कृति को पेश करती थी, लेकिन धीरे-धीरे ये ‘शाही मोहल्ला’ वेश्यावृत्ति का केंद्र बन गया और ‘हीरामंडी’ के नाम से मशहूर हो गया।

संस्कृति और विरासत 

दरअसल, 15वीं और 16वीं सदी में यहां पर एक अलग ही संस्कृति झलकती थी। यहां पर राजाओं और राजकुमारों को ना सिर्फ संस्कृति बल्कि विरासत की भी जानकारी दी जाती थी और इसलिए इसे ‘शाही मोहल्ले’ के नाम से जाना जाता था, लेकिन कहते हैं कि वक्त कभी भी एक जैसा नहीं रहता और इस ‘शाही मोहल्ले’ को ना जाने किसकी नजर लग गई और ये मुगलों की बिलासिता का अड्डा बनता चला गया।

वेश्यावृत्ति का केंद्र बन गया ‘शाही मोहल्ला’

कहा जाता है कि जब अहमद शाह अब्दाली ने हमला किया था, तब पहली बार ‘हीरामंडी’ का नाम वेश्यावृत्ति से जोड़ा गया। इस हमले में जिन महिलाओं को गुलाम बनाया गया, सैनिकों ने उनके साथ ही संबंध भी बनाए और ब्रिटिश शासन आते-आते ये ‘शाही मोहल्ला’ वेश्यावृत्ति का केंद्र बन गया। फिर क्या था धीरे-धीरे ‘हीरामंडी’ की चमक कम होती चली गई और अंग्रेजों ने तवायफों को प्रॉस्टिट्यूड का नाम देना शुरू कर दिया।

वेब सीरीज में दिखेगी ‘हीरामंड़ी’ की कहानी 

फिर इस मोहल्ले पर बदनामी का ऐसा दाग लगा कि ये बदनाम होते चले गए। अग्रेजों ने तवायफों को जबरदस्ती सेक्स वर्कर बना दिया और धीरे-धीरे इस जगह का नाम लेने में भी लोगों को शर्म आने लगी। अब इसी ‘हीरामंड़ी’ की कहानी को संजय लीला भंसाली अपनी वेब सीरीज में दिखाने के लिए तैयार है।

First published on: Feb 01, 2024 01:53 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें