---विज्ञापन---

NEET-UG 2022: सरकारी स्कूल से पढ़ा, इंटरनेट बंद रहा, फिर भी नहीं मानी हार, फल व्यापारी के बेटे ने neet में हासिल की AIR 10

दक्षिण कश्मीर का शोपियां जिला, जो एक समय आतंकवाद से प्रभावित था, यहां के एक फल व्यापारी के बेटे ने NEET-UG 2022 परीक्षा में अखिल भारतीय 10वीं रैंक हासिल की है। मालूम हो कि NEET-UG 2022 परीक्षा परिणाम इस महीने की शुरुआत में घोषित किए गए थे। बता दें कि हाजीक परवेज लोन शोपियां जिले […]

Edited By : Niharika Gupta | Updated: Sep 19, 2022 13:34
Share :

दक्षिण कश्मीर का शोपियां जिला, जो एक समय आतंकवाद से प्रभावित था, यहां के एक फल व्यापारी के बेटे ने NEET-UG 2022 परीक्षा में अखिल भारतीय 10वीं रैंक हासिल की है। मालूम हो कि NEET-UG 2022 परीक्षा परिणाम इस महीने की शुरुआत में घोषित किए गए थे।

बता दें कि हाजीक परवेज लोन शोपियां जिले के तेनज गांव के रहने वाले हैं। उनके पिता परवेज लोन एक फल व्यापारी हैं और उनकी मां एक गृहिणी हैं। हाजिक ने नीट-यूजी 2022 में 720 में से 710 अंक हासिल किए, जिसके परिणाम पिछले बुधवार देर रात घोषित किए गए थे।

उन्होंने जम्मू-कश्मीर में इस साल के नीट टेस्ट में टॉप किया और अखिल भारतीय स्तर के NEET-UG 2022 टेस्ट में 10वीं रैंक हासिल की। हाजिक ने 10वीं और 12वीं की परीक्षा शोपियां जिले के तुर्कवामगाम गांव के सरकारी उच्च माध्यमिक विद्यालय से पास की थी। हाजिक लोन ने श्रीनगर शहर के आकाश इंस्टीट्यूट में नीट-यूजी की कोचिंग की।

हाजीक सफलता का श्रेय माता-पिता को दिया

उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि वह अपनी सफलता का श्रेय अल्लाह, अपने माता-पिता और कोचिंग संस्थान में अपने शिक्षक रोहिन जैन के मार्गदर्शन को देते हैं। हाज़िक ने कहा, ‘जीवन में किसी सपने को प्राप्त करने के लिए समर्पण, कड़ी मेहनत और माता-पिता का आशीर्वाद और समर्थन आवश्यक है। दिलचस्प बात यह है कि हाज़िक एक ऐसे जिले से ताल्लुक रखते हैं जो कुछ साल पहले यहां के युवाओं के उग्रवादी संगठन में शामिल होने के लिए बदनाम था।

जानें सफलता का मंत्र

जब उनसे सवाल किया गया कि आप उन उम्मीदवारों को क्या संदेश देना चाएंगे जो अभी तैयारी कर रहे हैं। तब हाजिक लोन ने कहा कि, ‘कड़ी मेहनत का कोई विकल्प नहीं है। आपको कड़ी मेहनत करनी चाहिए क्योंकि कड़ी मेहनत सकारात्मक परिणाम लाती है। आपको प्रतियोगिता में लगातार बने रहना होगा और अंत में आप अच्छी चीजें हासिल करेंगे।” उन्होंने कहा कि परीक्षा में सफल होने के लिए कम से कम 7-9 घंटे के अध्ययन की जरूरत है। आगे उन्होंने कहा कि कोविड महामारी के मद्देनजर उन्हें जिस बड़ी कठिनाई का सामना करना पड़ा, वह थी ऑफलाइन से ऑनलाइन में बदलाव में होना था।

आगे उन्होंने कहा कि, “ऑनलाइन सीखने की समस्या शोपियां में लगातार इंटरनेट बंद और प्रतिबंधित नेटवर्क के कारण थी। हालांकि, कोचिंग संस्थान ने अतिरिक्त कक्षाएं, वीडियो लेक्चर ऑफर करके सहायता करना, जिससे बहुत मदद मिली।”

सरकारी स्कूल से की थी पढ़ाई

हाजिक लोन ने अपनी प्राथमिक स्कूली शिक्षा शोपियां के दो निजी स्कूलों में की और फिर 11वीं और 12वीं कक्षा के लिए जिले के तुर्कवामगाम गांव के सरकारी उच्च माध्यमिक विद्यालय में दाखिला लिया।

नेताओं ने भी दी बधाई

इस बीच, उपराज्यपाल मनोज सिन्हा और राजनेताओं ने लोन को इस उपलब्धि के लिए बधाई दी। उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने ट्विटर पर लिखा, “शोपियां के हाज़िक लोन को NEET परीक्षा में दसवीं रैंक हासिल करते हुए देखकर बहुत खुशी हुई। इसके अलावा पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने बधाई देते हुए ट्वीट पर लिखा, “हाजिक लोन को उज्ज्वल भविष्य के लिए मेरी शुभकामनाएं।”

कश्मीर के स्थानीय नेता अल्ताफ बुखारी ने भी लोन को सफलता के लिए बधाई दी और कहा, “NEET यूजी 2022 परिणाम में अखिल भारतीय 10 वीं रैंक हासिल करने के लिए शोपियां के हाज़िक परवेज लोन को बधाई। आपकी उपलब्धियों पर गर्व है। जम्मू-कश्मीर के सभी उम्मीदवारों को मेरी शुभकामनाएं, जिन्होंने नीट परीक्षा में क्वालीफाई किया है।”

अभी पढ़ें – शिक्षा से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

First published on: Sep 18, 2022 12:48 PM
संबंधित खबरें