Wednesday, December 7, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Tata Motors vs Maruti vs M&M: इस फेस्टिव सीजन में आपको कौन सा स्टॉक खरीदना चाहिए?

मुंबई: कमजोर दिख रहे बाजार में ऑटो शेयर विजेता के रूप में उभरे हैं। पिछले एक साल में बीएसई सेंसेक्स में 3.13 फीसदी की गिरावट के मुकाबले मारुति सुजुकी, टाटा मोटर्स और महिंद्रा एंड महिंद्रा (एमएंडएम) जैसे चुनिंदा ऑटो शेयरों में पिछले एक साल में 53 फीसदी तक की तेजी आई है।

अभी पढ़ें Gold Price Update: नवरात्रि पर सोना हुआ महंगा, चांदी के भी बढ़े दाम, जानें ताजा भाव

डेटा से पता चलता है कि चारपहिया निर्माता मारुति सुजुकी के शेयरों में पिछले एक साल में 20.93 फीसदी की तेजी आई है। एक साल की अवधि में जेएलआर के मालिक टाटा मोटर्स के शेयर 19.65 फीसदी चढ़ गए। एमएंडएम ने इस अवधि के दौरान 53.63 फीसदी रिटर्न दिया।

ब्रोकरेज प्रभुदास लीलाधर एमएंडएम को अत्यधिक प्रतिस्पर्धी एसयूवी स्पेस में अपने बैक-टू-बैक सफल लॉन्च, ट्रैक्टर उद्योग में इसकी अग्रणी स्थिति, ईवी ट्रेंड का लाभ उठाने के लिए इसकी सक्रियता और इसके पूंजी आवंटन को लेकर खेले गए अच्छे खेल के कारण पसंद करते हैं। 27 जून को स्कॉर्पियो-एन के लॉन्च के बाद से ऑटो स्टॉक में 15.41 फीसदी की तेजी आई है।

मारुति सुजुकी की बात करें तो 30 जून को विटारा ब्रेजा के नवीनतम संस्करण के लॉन्च ने स्टॉक को ज्यादा नहीं बढ़ाया है। लेकिन मारुति का शेयर, जो 8,550 रुपये का है, लॉन्च के बाद से 0.50 फीसदी चढ़ा है।

इस बीच, कमजोर वैश्विक बाजारों, रूस-यूक्रेन युद्ध और ब्रिटेन के मंदी में प्रवेश करने की संभावनाओं के बीच इस साल टाटा मोटर्स के शेयर में 17 फीसदी की गिरावट आई है। टाटा मोटर्स के राजस्व में जेएलआर का योगदान करीब 67 फीसदी है। सितंबर में, निजी वाहनों और वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री इनलाइन थी, जबकि ट्रैक्टर अनुमान से ऊपर थे, मोतीलाल ओसवाल ने एक रिपोर्ट में कहा।

अभी पढ़ें Petrol Diesel Price Today: पेट्रोल-डीजल के नए रेट जारी, फटाफट जानें दाम घटे या बढ़े ?

अभी किसमें करें निवेश?

विशेषज्ञों ने कहा, ‘तीनों में निस्संदेह M&M इस समय सबसे पसंदीदा विकल्प है। इसे अपने हालिया लॉन्च, खासकर नई स्कॉर्पियो-एन के लिए शानदार प्रतिक्रिया मिली है। यह जल्द ही ईवी पेश करने की भी योजना बना रहा है। टाटा मोटर्स ने भले ही ईवीएस में बढ़त ले ली हो, लेकिन जेएलआर का बोझ चौपहिया ईवी में नेतृत्व के बावजूद इसे कम करता जा रहा है। मारुति सुजुकी, हालांकि उच्चतम बाजार हिस्सेदारी है, धीरे-धीरे इसे अन्य खिलाड़ियों को दिया जा रहा है। साथ ही मांग कॉम्पैक्ट कारों से हट गई है, जो मारुति सुजुकी की ताकत थी।’

अभी पढ़ें – बिजनेस से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -