Monday, December 5, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

अमेरिका का रूस से तेल खरीदने को लेकर बड़ा बयान आया सामने, कहा- भारत जितना चाहे…

India Russia Oil Buying: एक अमेरिकी अधिकारी ने शुक्रवार को कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका मानता है कि भारत जितना चाहे उतना रूसी तेल खरीद सकता है, लेकिन उसको पश्चिमी इंश्योरेंस, वित्त और समुद्री सर्विसिज का ध्यान रखना होगा।

रूस के राजस्व पर अंकुश लगाते हुए कैप अभी भी वैश्विक तेल की कीमतों को कम करेगी। यूएस ट्रेजरी सचिव जेनेट येलेन ने अमेरिका और भारत के आर्थिक संबंधों को मजबूत करने के लिए आयोजित एक सम्मेलन में न्यूज एजेंसी रॉयटर्स को दिए एक इंटरव्यू में यह बात कही।

अभी पढ़ें Petrol Diesel Price Today: क्या आपके शहर में आज बदल गया पेट्रोल-डीजल के दाम भाव? जानें लेटेस्ट रेट

उन्होंने कहा कि रूस उतना तेल नहीं बेच पाएगा, जितना अब यूरोपीय संघ द्वारा आयात बंद कर दिया गया है, वो भी बिना कैप्ड कीमत या मौजूदा कीमतों से महत्वपूर्ण छूट का सहारा लिए हुए।

कैप के अस्तित्व से भारत, चीन और रूसी कच्चे तेल के अन्य प्रमुख खरीदारों को मॉस्को को भुगतान की जाने वाली कीमत को कम करने में मदद मिलेगी। चीन के अलावा भारत रूस का सबसे बड़ा तेल ग्राहक है।

अभी पढ़ें इस बैंक से लें Home Loan, सस्ती हो गई है ब्याज दर…प्रोसेसिंग फीस भी नहीं ली जाएगी

भारत को बेहतर सौदा मिल गया

येलेन ने रॉयटर्स से कहा, ‘रूसी तेल सस्ते दामों पर बिक रहा है और हम खुश हैं कि भारत को बेहतर सौदा मिल गया है।’

येलेन ने कहा कि भारत और निजी भारतीय तेल कंपनियां किसी भी कीमत पर तेल खरीद सकती हैं, जब तक वे इन पश्चिमी सेवाओं का उपयोग नहीं करते हैं और वे अन्य सेवाएं ढूंढते हैं। और दोनों में से कोई भी तरीका ठीक है। उनकी यह टिप्पणी विदेश मंत्री एस जयशंकर के उस बयान के एक हफ्ते बाद आई है जिसमें उन्होंने कहा था कि भारत रूस से कच्चा तेल खरीदना जारी रखेगा क्योंकि इससे भारत को फायदा होता है।

अभी पढ़ें – बिजनेस से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -