Thursday, 29 February, 2024

---विज्ञापन---

Pitra Dosh Nivaran: पितृ दोष की वजह से करियर में आती हैं ये समस्याएं, पितृ पक्ष में जरूर कर लें ये उपाय

Pitra Dosh Nivaran: ज्योतिष में पितृ दोष को बेहद अहम माना गया है। ज्योतिष शास्त्र के जानकार बताते हैं कि पितृ दोष की वजह से व्यक्ति को जीवन में तमाम तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। कई बार तो पितृ दोष की वजह से इंसान की आर्थिक स्थिति इतनी दयनीय हो जाती है […]

Edited By : Dipesh Thakur | Updated: Sep 8, 2023 13:13
Share :
Pitra Dosh Nivaran
Pitra Dosh Nivaran

Pitra Dosh Nivaran: ज्योतिष में पितृ दोष को बेहद अहम माना गया है। ज्योतिष शास्त्र के जानकार बताते हैं कि पितृ दोष की वजह से व्यक्ति को जीवन में तमाम तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। कई बार तो पितृ दोष की वजह से इंसान की आर्थिक स्थिति इतनी दयनीय हो जाती है कि वह कर्ज के पैसे के अपना जीवनयापन करने के लिए मजबूर हो जाता है। इसके साथ ही पितृ दोष करियर और रोजगार में भी तमाम मुश्किलें पैदा करता है। ऐसे में इसान को कुछ समझ नहीं आती कि आखिर क्या किया जाए। ऐसे में आइए शास्त्रों के अनुसार, जानते हैं कि पितृ दोष की वजह से किन परेशानियों का सामना करना पड़ता और इससे छुटकारा पाने के लिए क्या करना चाहिए।

पितृ दोष की वजह से जीवन में आती हैं ये बाधाएं

ज्योतिष शास्त्र में पितृ दोष को सबसे खतरनाक दोषों में से एक माना गया है। ऐसे में पितृ दोष का नकारात्मक असर जातक की आर्थिक स्थिति, करियर, वैवाहिक जीवन, नौकरी और व्यापार इत्यादि पर सीधा पड़ता है। साथ ही पितृ दोष इंसान की तरक्की रोककर गरीबी की दलदल में फंसा देता है। ऐसे में इंसान चाहकर भी तरक्की नहीं कर सकता है। ऐसे में बड़े नुकसान से बचने के लिए बेहतर यह होगा कि पितृ दोष का निवारण जल्द से जल्द कर लिया जाए। ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, पितृ दोष निवारण के लिए पितृ पक्ष का समय बेहतर होता है।

यह भी पढ़ें: Budh Gochar: 16 सितंबर से ये 4 राशि वाले हो जाएंगे मालामाल, बुध का गोचर संवार देगा किस्मत

पितृ दोष के उपाय

  • पितृ दोष निवारण के लिए प्रत्येक अमावस्या पर ब्राह्मणों को भोजन कराएं।
  • अर्ध-कुंभ-स्नान के दिन भोजन, वस्त्र, कंबल इत्यादि का दान करें।
  • बरगद में पितृ पक्ष के दौरान नियमित रूप से जल अर्पित करें।
  • पितृ पक्ष के दौरान गाय, गली के कुत्तों और जानवरों को भोजन और दूध दें।
  • पितृ पक्ष में जितना संभव हो सके जरूरतमंद, गरीबों और वृद्ध लोगों की मदद करें।
  • देवी कालिका स्तोत्रम् के मंत्रों का जाप विशेष रूप से नवरात्रि के दौरान करें।
  • पितृ पक्ष के दौरान हरिद्वार, उज्जैन, नासिक, गंगासागर आदि विभिन्न धार्मिक स्थानों पर स्नान करें।
  • पितृ पक्ष में नियमित रूप से उगते सूर्य को तिल मिश्रित जल से अर्घ्य दें और गायत्री मंत्र का जाप करें।

यह भी पढ़ें: Rahu Transit: राहु इन 5 राशि वालों के जीवन में मचाने जा रहे हैं भूचाल, हो जाएं सावधान!

डिस्क्लेमर: यहां दी गई जानकारी ज्योतिष पर आधारित है तथा केवल सूचना के लिए दी जा रही है। News24 इसकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी उपाय को करने से पहले संबंधित विषय के एक्सपर्ट से सलाह अवश्य लें।

First published on: Sep 08, 2023 01:13 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें