Friday, 23 February, 2024

---विज्ञापन---

Navratri 2022: नवरात्रि के दूसरे दिन ऐसे करें मां ब्रह्मचारिणी की पूजा, हर मन्नत होगी पूरी

Navratri 2022: आज नवरात्र का दूसरा दिन है। नवरात्रि के दूसरे दिन मां ब्रह्मचारिणी की पूजा होती है। ब्रह्म का अर्थ है तपस्या व चारिणी का अर्थ है आचरण करने वाली देवी। मां के हाथों अक्ष माला और कमंडल होता है। मां ब्रह्मचारिणी के पूजन से ज्ञान सदाचार लगन, एकाग्रता और संयम रखने की शक्ति […]

Edited By : Pankaj Mishra | Updated: Sep 27, 2022 13:05
Share :
Brahmacharini Mata

Navratri 2022: आज नवरात्र का दूसरा दिन है। नवरात्रि के दूसरे दिन मां ब्रह्मचारिणी की पूजा होती है। ब्रह्म का अर्थ है तपस्या व चारिणी का अर्थ है आचरण करने वाली देवी। मां के हाथों अक्ष माला और कमंडल होता है। मां ब्रह्मचारिणी के पूजन से ज्ञान सदाचार लगन, एकाग्रता और संयम रखने की शक्ति प्राप्त होती है और व्यक्ति अपने कर्तव्य पथ से भटकता नहीं है। मां ब्रह्मचारिणी की भक्ति से प्राप्त होता है लंबी आयु का वरदान।

अभी पढ़ें Chanakya Niti: महिलाओं के स्वभाव में जन्म से ही होती है ये बुरी आदतें !

मां ब्रह्मचारिणी पूजा विधि (Navratri Secound Day Puja Vidhi)

मां ब्रह्मचारिणी की पूजा में मां को फूल, अक्षत, रोली, चंदन आदि अर्पण करें। उन्हें दूध, दही, घृत, मधु व शर्करा से स्नान कराएं और इसके देवी को पिस्ते से बनी मिठाई का भोग लगाएं। इसके बाद पान, सुपारी, लौंग अर्पित करें। कहा जाता है कि मां पूजा करने वाले भक्त जीवन में सदा शांत चित्त और प्रसन्न रहते हैं। उन्हें किसी प्रकार का भय नहीं सताता।

अभी पढ़ें तारामंडल में आज रात होगी बेहद खास, 59 साल बाद पृथ्वी के बेहद करीब चमकेगा बृहस्पति गृह, जानें इसके मायने

मां ब्रह्मचारिणी का मंत्र (Navratri Secound Day Mantra)

या देवी सर्वभेतेषु मां ब्रह्मचारिणी रूपेण संस्थिता।

नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

दधाना कर मद्माभ्याम अक्षमाला कमण्डलू।

देवी प्रसीदतु मयि ब्रह्मचारिण्यनुत्तमा।।

अभी पढ़ें – आज का राशिफल यहाँ पढ़ें

First published on: Sep 27, 2022 05:46 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें