Saturday, 24 February, 2024

---विज्ञापन---

Benefits of Tilak: तिलक लगाने से संवरेगी तकदीर, जानिए आपके लिए किस चीज का तिलक लगाना रहेगा मंगलकारी

Benefits of Tilak: सनातन धर्म में देवी-देवता हों या मनुष्य चंदन सबसे लिए अनिवार्य है। यह पूजा-पद्धति और दिनचर्या का भी अभिन्न अंग है। कहते हैं कि तिलक लगाने का धार्मिक के साथ-साथ मनोवैज्ञानिक आधार भी है। चूंकि सनातन धर्म में कोई कार्य बिना किसी उद्देश्य के नहीं किया जाता है। तिलक लगाने से शरीर […]

Edited By : Dipesh Thakur | Updated: Sep 22, 2023 12:48
Share :
Benefits of Tilak
Benefits of Tilak

Benefits of Tilak: सनातन धर्म में देवी-देवता हों या मनुष्य चंदन सबसे लिए अनिवार्य है। यह पूजा-पद्धति और दिनचर्या का भी अभिन्न अंग है। कहते हैं कि तिलक लगाने का धार्मिक के साथ-साथ मनोवैज्ञानिक आधार भी है। चूंकि सनातन धर्म में कोई कार्य बिना किसी उद्देश्य के नहीं किया जाता है। तिलक लगाने से शरीर के 7 चक्र सक्रिय रहते हैं। जिसके किसी कार्य के लिए निर्णय लेने की क्षमता में विकास होता है। इसके अलावा भी तिलक लगाने के कई फायदे हैं। आइए प्रश्न कुंडली विशेषज्ञ पंडित सुरेश पांडेय से जानते हैं कि तिलक लगाने के क्या-क्या नियम और फायदे क्या हैं? साथ ही तिलक लगाते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

किस ग्रह को मजबूत करने के लिए कौन सा तिलक लगाएं

सूर्य को मजबूत करने के लिए अनामिका उंगली के लाल रंग के तिलक माथे पर लगाना चाहिए। चंद्रमा को मजबूत करने के लिए कनिष्ठिका उंगली से सफेद चंदन का तिलक लगाना चाहिए। मंगल ग्रह को मजबूत करने के लिए अमानिका उंगली से कुमकुम का तिलक लगाना चाहिए। हनुमानजी के चरणों में जो तिलक लगा हुआ है उसे उठाकर मस्तक पर लगाना चाहिए। बुध ग्रह को मजबूत करने के लिए भी अनामिका उंगली से अष्टगंध का तिलक माथे पर लगाना चाहिए। गुरु ग्रह को मजबूत करने के लिए तर्जनी उंगली से केसर का तिलक मस्तक पर लगाना चाहिए। शुक्र ग्रह को मजबूत करने के लिए अनामिक उंगली से अक्षत और कुमकुम का तिलक लगाएं। इसके अलावा शनि-राहु और केतु को मजबूत करने के लिए अपनी तीन उंगलियों से भस्म लगाना चाहिए।

यह भी पढ़ें: चंद्रग्रहण के बाद शनि-राहु और केतु बनाएंगे त्रिग्रही योग, इन राशि वालों को होगा छप्परफाड़ धन लाभ

तिलक लगाते समय रखें इन बातों का ध्यान

सबसे पहले तिलक अपने ईष्टदेव को लगाना चाहिए। अगर गुरु की तस्वीर आपके पूजा स्थान पर है तो उन्हें लगाना चाहिए। वहीं अगर आप पूजा स्थान पर नहीं बैठे हैं तो आपको अपने ईष्ट देव को तिलक लगाने के बाद अपने गुरु को तिलक लगाना चाहिए। फिर पिता को तिलक लगाना चाहिए और इसके बाद अपने माथे पर तिलक लगाना चाहिए।

  • बिना स्नान किए कभी तिलक नहीं लगाना चाहिए।
  • देवी-देवताओं को हमेशा अनामिका उंगली से ही तिलक लगाना चाहिए।
  • बाकी लोगों को अनामिका उंगली और अंगूठा लगाकर तिलक लगाना चाहिए।
  • तिलक लगाकर 3 घंटे तक सोना नहीं चाहिए।
  • पुरुष को लंबा और महिलाओं को गोलाकार तिलक लगाना चाहिए।

यह भी पढ़ें: मंगल देव बहुत जल्द संवारने जा रहे हैं इन 4 राशि वालों की किस्म्त, अमीर बनने का सपना होगा पूरा!

डिस्क्लेमर: यहां दी गई जानकारी ज्योतिष पर आधारित है तथा केवल सूचना के लिए दी जा रही है। News24 इसकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी उपाय को करने से पहले संबंधित विषय के एक्सपर्ट से सलाह अवश्य लें।

First published on: Sep 22, 2023 12:08 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें