Saturday, 13 April, 2024

---विज्ञापन---

Pakistan Election: पाकिस्तान में नई सरकार बनी तो भारत पर क्या होगा असर, कौन-कौन है मैदान में?

Pakistan general elections 2024 voting: पीटीआई नेता इमरान खान सजा होने की वजह से चुनाव नहीं लड़ पाएंगे। वहां के चुनाव और सरकार चलाने में सेना का दखल किसी से छिपा नहीं है।

Edited By : Shubham Singh | Updated: Feb 7, 2024 16:20
Share :
Pakistan general elections 2024
इमरान खान और नवाज शरीफ

Pakistan General Election 2024 impact on relations with India: पाकिस्तान में आम चुनाव के लिए कल 8 फरवरी को मतदान होना है। इसके लिए तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। कई साल से संकट का सामना कर रहे इस देश के सामने कई चुनौतियां हैं। वहां के चुनावों की चर्चा खूब हो रही है। पाकिस्तान संघीय विधायिका या हाउस असेंबली और चार राज्य विधानसभाओं के लिए वोटिंग होगी। करीबी पड़ोसी होने के नाते पाकिस्तान के चुनावों का भारत पर भी बहुत असर पड़ता है। दोनों देशों के बीच पहले से ही तनाव है। पाकिस्तान में मुख्य तौर पर तीन पार्टियां हैं। इसमें पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N), पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) और पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) है।

हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान चुनाव में कुल 44 राजनीतिक दल उतरे हैं। कुल 5,121 उम्मीदवार संघीय विधानमंडल में चुनाव लड़ रहे हैं, जबकि राज्य विधानमंडल में 12,695 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। पाकिस्तान की कुल जनसंख्या 241 मिलिनय यानी 20 करोड़ से अधिक है। इसमें 128 लोग 18 साल से अधिक उम्र के हैं। जो इसबार वोट डालेंगे।

ये भी पढ़ें-Good News: इंश्‍योरेंस लेना होगा सस्‍ता! सरकार उठा सकती है बड़ा कदम

पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में 336 सीटें हैं, जिनमें से 266 उम्मीदवार प्रत्यक्ष मतदान के माध्यम से चुने जाते हैं और 70 सीटें रिजर्व हैं। इन सीटों में से 60 सीटें महिलाओं के लिए और 10 गैर-मुसलमानों के लिए हैं और उन्हें विधानसभा में प्रत्येक पार्टी की ताकत के अनुसार आवंटित किया जाता है।

क्या होगा संबंधों पर असर

पूरी संभावना जताई जा रही है कि इसबार पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पार्टी सत्ता में काबिज होगी। अगर शरीफ की पार्टी सत्ता में आई तो भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत फिर से शुरू हो सकती है। नई सरकार इसके लिए पहल कर सकती है। पुलवामा आतंकी हमले और जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद दोनों देशों के संबंध बहुत खराब हो गए हैं।

पाकिस्तान आतंक को बढ़ावा देने की अपनी कोशिशों से बाज नहीं आ रहा है। इस साल भी दोनों देशों के बीच संबंध सुधरने की ज्यादा उम्मीद नहीं है। नवाज शरीफ ने अपने मेनिफेस्टो में भारत के साथ शांति के संदेश का वादा किया है। अगर शरीफ की पार्टी चुनाव जीती तो चौथी बार उसकी सरकार बनेगी। शरीफ पाकिस्तान में एक बड़े नेता हैं।

शरीफ ने की राजनयिक संबंधों की वकालत

नवाज शरीफ कई बार जेल भी गए हैं। शरीफ ने कहा है कि अगर भारत जम्मू-कश्मीर में फिर से धारा 370 लागू कर देगा तो वे शांति बनाए रखने की कोशिश करेंगे। उन्होंने दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंधों की भी वकालत की है। नवाज शरीफ पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं और जेल जाने से बचने के लिए वे इंग्लैंड में निर्वासित जीवन जी रहे थे। चुनाव के समय 4 साल बाद वे देश वापस लौट आए हैं। पाकिस्तान में हो रहे चुनाव के नतीजे शुक्रवार तक सामने आ जाएंगे।

ये भी पढ़ें-‘बाबा साहेब न होते तो शायद आरक्षण नहीं मिलता’, PM मोदी ने राज्यसभा में कांग्रेस पर साधा निशाना

First published on: Feb 07, 2024 04:19 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें