Thursday, 25 April, 2024

---विज्ञापन---

युद्ध में शहीद सैनिकों के ‘शुक्राणु’ इकट्ठा कर रहा इजराइल, आखिर क्या है प्लानिंग?

Israel Collecting Sperm of Soldiers Martyred in War: पिछले महीने से युद्ध के दौरान 33 शहीदों के शुक्राणु लिए गए थे। रिपोर्ट में बताया गया है कि मारे गए इन लोगों में से चार आम नागरिक थे, जबकि बाकी सभी सैनिक थे।

Edited By : Naresh Chaudhary | Updated: Nov 9, 2023 21:43
Share :
Israel Collecting Sperm of Soldiers Martyred in War, Israel Hamas War
Photo Credit: IDF (X)

Israel Collecting Sperm of Soldiers Martyred in War: आतंकी संगठन हमास से भीषण युद्ध के बीच इजराइल से एक हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इजराइल स्वास्थ्य मंत्रालय ने अनुमति दी है कि माता-पिता, जिनके बेटे युद्ध में शहीद हो गए हैं, वे उनके शुक्राणु प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें किसी भी कानूनी प्रक्रिया से नहीं गुजरना पड़ेगा। युद्ध में विधवा हुईं महिलाओं को भी ऐसी ही छूट दी गई है।

इजराइली स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी किए निर्देश

न्यूज साइट एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के मुताबिक इजराइली स्वास्थ्य मंत्रालय ने माता-पिताओं को अपने बेटों (सैन्य अभियानों में शामिल) के शुक्राणुओं को प्राप्त करने के लिए कानूनी प्रक्रियाओं से बचने की अनुमति दी है, जो हमास के खिलाफ चल रहे युद्ध के दौरान मारे गए थे। मंत्रालय ने निर्देश दिए हैं कि उन्हें दफनाने से पहले शुक्राणु प्राप्त कर लें।

यह भी पढ़ेंः हमास के आतंकियों ने एक और ‘इजराइली’ का किया अपहरण; गला काटने की दी धमकी, Video जारी

शुक्राणु बैंककर्मी कर रहे हैं 24 घंटे काम

टाइम्स ऑफ इजराइल के अनुसार पिछले महीने से युद्ध के दौरान 33 शहीदों के शुक्राणु लिए गए थे। रिपोर्ट में बताया गया है कि मारे गए इन लोगों में से चार आम नागरिक थे, जबकि बाकी सभी सैनिक थे। इजराइल रक्षा बलों (आईडीएफ) और शुक्राणु बैंक वाले चार अस्पतालों के साथ एक विशेष टीम 24 घंटे काम कर रही हैं।

बताया गया है कि सामान्य प्रयासों के दौरान जो माता-पिता अपने मृत बेटे के शुक्राणु पुनर्प्राप्ति (पीएसआर) की मांग करते थे, उन्हें फैमिली कोर्ट से आदेश प्राप्त करने की जरूरत होती थी, जबकि विधवाएं बिना किसी कानूनी प्रक्रिया के ऐसा कर सकती थीं। लेकिन सरकार अब इस प्रक्रिया को अस्थायी तौर पर समाप्त कर दिया है।

यह भी पढ़ेंः हमास का गाजा पर नियंत्रण खत्म! 50 हजार गाजावासियों ने छोड़ा इलाका, इजराइल का बड़ा दावा

शुक्राणुओं को किया जा रहा है फ्रीज

मंत्रालय ने कहा है कि शुक्राणु को मृत्यु के 24 घंटे में एकत्र किया जाना चाहिए, ताकि उन्हें फ्रीज किया जा सके और अंडे को निषेचित करने के लिए उपयोग किया जाए। हालांकि विशेषज्ञों का कहना है कि पीएसआर मृत्यु के कई दिनों बाद भी किया जा सकता है जब शुक्राणु गतिशील नहीं रह जाता है।

कपलान मेडिकल सेंटर में आईवीएफ यूनिट के प्रमुख डॉ. युवल ने कहा है कि हम ऐसे शुक्राणुओं की तलाश करते हैं और उन्हें पसंद करते हैं जो गतिशील हों, लेकिन जो शुक्राणु गतिशील नहीं है उसका मतलब यह नहीं है कि वह जीवित नहीं है। हम जानते हैं कि इसके जमने के बाद इसे कैसे चलाया जाए।

हमास के हमले में मारे गए थे 1400 इजराइली

हमास के आतंकवादियों ने 7 अक्टूबर को गाजा पट्टी की ओर से इजराइल पर अभूतपूर्व हमला किया था, जिसमें इजराइल के 1,400 से ज्यादा लोग मारे गए थे। इसी दौरान 200 से ज्यादा लोगों को बंधक बनाकर ले गए थे। तभी से इजराइल हमास को खत्म करने के लिए गाजा पट्टी पर लगातार हमला कर रहा है। गाजा पट्टी में अभी तक 10500 से ज्यादा लोग मारे गए हैं।

दुनिया की खबरों के लिए यहां क्लिक करेंः-

First published on: Nov 09, 2023 09:43 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें