---विज्ञापन---

चीन ने मध्य अमेरिका की यात्रा के दौरान यूएस हाउस स्पीकर से मिलने के खिलाफ ताइवान के राष्ट्रपति को चेतावनी दी

China Taiwan Tension: चीन और ताइवान के बीच जारी टेंशन के बीच एक बार फिर चीन ने ताइवान की राष्ट्रपति को चेतावनी दी है। अपनी चेतावनी में चीन ने कहा कि है कि मध्य अमेरिका की यात्रा के दौरान ताइवान की राष्ट्रपति त्साई इंग वेन यूएस हाउस स्पीकर केविन मैकार्थी से न मिलें। ताइवान की […]

Edited By : Om Pratap | Updated: Mar 31, 2023 13:01
Share :
Taiwan President, Taiwan, Taiwanese President, Tsai Ing-wen, China

China Taiwan Tension: चीन और ताइवान के बीच जारी टेंशन के बीच एक बार फिर चीन ने ताइवान की राष्ट्रपति को चेतावनी दी है। अपनी चेतावनी में चीन ने कहा कि है कि मध्य अमेरिका की यात्रा के दौरान ताइवान की राष्ट्रपति त्साई इंग वेन यूएस हाउस स्पीकर केविन मैकार्थी से न मिलें।

ताइवान की राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन ने बुधवार को मध्य अमेरिका की 10 दिवसीय यात्रा शुरू की। कहा जा रहा है कि इस दौरान त्साई इंग वेन अमेरिका भी जाएंगी। इसकी जानकारी के बाद चीन ने ताइवान के राष्ट्रपति को यूएस हाउस के स्पीकर केविन मैकार्थी से मिलने के खिलाफ चेतावनी दी है।

और पढ़िए – ‘भारत की तरफ निगाह करने की हिम्मत मत करना…’, कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला ने PAK के पूर्व मंत्री शेख रशीद को दिया करारा जवाब

मुलाकात के खिलाफ क्या बोले चीनी प्रवक्ता

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता माओ निंग ने कहा कि अमेरिकी पक्ष ताइवान की स्वतंत्रता की अलगाववादी ताकतों का समर्थन करने के लिए सांठगांठ करता रहता है। सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार, मध्य अमेरिका के राजनयिक मिशन पर रवाना होने के दौरान त्साई इंग-वेन ने कहा कि ताइवान को दुनिया से जुड़ने का पूरा अधिकार है।

त्साई की रवानगी से पहले चीन ने यात्रा के खिलाफ बुधवार को कहा कि अगर ताइवान की राष्ट्रपति अमेरिकी सदन के अध्यक्ष केविन मैक्कार्थी से मिलती हैं तो ये ठीक नहीं होगा। चीन ने अमेरिका की आलोचना भी की।

पिछले साल तत्कालीन यूएस हाउस स्पीकर ने किया था दौरा

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता माओ निंग ने सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार कहा, “यह चीनी पक्ष नहीं है जो ओवररिएक्ट करता है, बल्कि अमेरिकी पक्ष है जो ताइवान की स्वतंत्रता के अलगाववादी ताकतों का समर्थन करता रहता है।”

बता दें कि पिछले साल तत्कालीन यूएस हाउस स्पीकर नैन्सी पेलोसी ने ताइवान का दौरा किया था। इसके बाद चीन ने ताइवान सीमा के पास मिलिट्री ड्रील को अंजाम दिया था। इस दौरान चीन ने कई मिसाइलें दागीं और ताइवान के आसपास सैन्य अभ्यास शुरू किया था।

और पढ़िए – दुनिया से जुड़ी अन्य बड़ी ख़बरें यहाँ पढ़ें

First published on: Mar 30, 2023 08:47 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें