Wednesday, December 7, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Ayodhya Deepotsav 2022: 15 लाख से ज्यादा दीपक जलाकर अयोध्या ने बनाया विश्व रिकॉर्ड, पीएम मोदी बने साक्षी

पीएम नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में राम जन्मभूमि पर रामलला की पूजा की। 5 अगस्त, 2020 को राम मंदिर के निर्माण के भूमि पूजन के बाद मोदी की यह पहली अयोध्या यात्रा है।

Ayodhya Deepotsav 2022: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अयोध्या (Ayodhya) जिले ने सरयू के तट (राम की पैड़ी) पर 15 लाख से ज्यादा मिट्टी के दीपक जला कर एक नया गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड (Guinness World Record) बनाया है। इतना ही नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) भी रविवार को दिवाली की पूर्व संध्या पर इस ऐतिहासिक दीपोत्सव (Ayodhya Deepotsav) समारोह के साक्षी बने। इस अवसर पर मोदी और मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने गिनीज रिकॉर्ड प्रमाण पत्र प्रदर्शित किया।

मोदी ने ‘जय श्री राम’ के साथ अपने भाषण की शुरुआत करते हुए दीपोत्सव के अवसर पर सभा को संबोधित किया। मोदी ने कहा कि भगवान राम के पवित्र जन्मस्थान से मैं अपने देशवासियों को दिवाली की शुभकामनाएं देता हूं। इस मौके पर उन्होंने कहा कि लोगों को जितना हो सके भगवान राम से सीखना चाहिए। भगवान राम किसी को पीछे नहीं छोड़ते, किसी से मुंह नहीं मोड़ते।

राम मंदिर के भूमि पूजन के बाद पहली बार पहुंचे अयोध्या

इससे पहले मोदी ने अयोध्या में राम जन्मभूमि पर राम लला की पूजा की। बता दें कि 5 अगस्त, 2020 को राम मंदिर के निर्माण के लिए “भूमि पूजन” के बाद मोदी की यह पहली अयोध्या यात्रा है। मोदी ने कहा कि मुझे उनके आशीर्वाद से भगवान राम के दर्शन का अवसर मिला। खुशी है कि दुनिया भर के लोग अयोध्या में दीपोत्सव समारोह देख रहे हैं।

राज्यपाल और सीएम ने की आगवानी

जानकारी के मुताबिक दीपोत्सव समारोह के लिए अयोध्या पहुंचने के तुरंत बाद पीएम अस्थायी राम मंदिर पहुंचे। राम लला की पूजा की। उन्होंने वहां मिट्टी का दीया जलाया और आरती की। मंदिर के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने पीएम मोदी के माथे पर सिंदूर लगाया। यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और सीएम योगी आदित्यनाथ ने पीएम नरेंद्र मोदी की अगवानी की। अधिकारियों ने पीएम को स्थल पर भव्य राम मंदिर के निर्माण के बारे में जानकारी दी।

इसके बाद मोदी ने अयोध्या में प्रतीकात्मक भगवान राम का राज्याभिषेक भी किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा की श्री रामलला के दर्शन और फिर राजा राम के राज्याभिषेक, यह सौभाग्य भगवान राम की कृपा से ही प्राप्त होता है। यह दीपावली ऐसे समय में है जब हमने आजादी के 75 साल पूरे कर लिए हैं। भगवान राम की ‘संकल्प शक्ति’ भारत को नई ऊंचाइयों पर ले जाएगी।

22 हजार स्वयं सेवकों ने लिया हिस्सा

अयोध्या संभागीय आयुक्त नवदीप रिनवा ने बताया था कि सरयू घाट के पास राम की पैड़ी में 22,000 से अधिक स्वयंसेवकों द्वारा दीपोत्सव समारोह के हिस्सा लेकर 15 लाख से अधिक मिट्टी के दीपक जलाए जाएंगे। बाकी दीपकों को शहर के अन्य महत्वपूर्ण चौराहों और स्थानों पर लगाया जाएगा।

दीपोत्सव के दौरान विभिन्न राज्यों की पांच एनिमेटेड झांकियां और 11 रामलीला झांकियां भी प्रदर्शित की गईं। वहीं कार्यक्रम में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अयोध्या का दीपोत्सव 6 साल पहले पीएम नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन और प्रेरणा से शुरू हुआ था। यूपी का यह महोत्सव अब देश का त्योहार बन गया। आज यह सफलता की नई ऊंचाइयों को छू रहा है।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -