Thursday, 29 February, 2024

---विज्ञापन---

Good News For Noida: बॉटेनिकल गार्डन पर जल्द खुलेगा प्राइवेट बस स्टैंड, इन शहरों के लिए खूब मिलेंगी बसें

Uttar Pradesh News in Hindi: नोएडा। उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) और उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (UPSRTC) की ओर से पहली बार चार महत्वपूर्ण एक्सप्रेसवे पर निजी ऑपरेटरों द्वारा बस चलाए जाने की इजाजत दी है। इन बस ऑपरेटरों से परमिट देने के लिए आवेदन मांगे हैं। इन रूटों में दो रूट नोएडा […]

Edited By : Naresh Chaudhary | Updated: Nov 17, 2022 23:53
Share :

Uttar Pradesh News in Hindi: नोएडा। उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) और उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (UPSRTC) की ओर से पहली बार चार महत्वपूर्ण एक्सप्रेसवे पर निजी ऑपरेटरों द्वारा बस चलाए जाने की इजाजत दी है। इन बस ऑपरेटरों से परमिट देने के लिए आवेदन मांगे हैं। इन रूटों में दो रूट नोएडा होकर गुजरेंगे। योजना के तहत नोएडा के सेक्टर-37 स्थित बॉटेनिकल गार्डन में प्राइवेट बस अड्डा बनाया जाएगा।

एक मेरठ तो दूसरा लखनऊ के लिए होगा रूट

जानकारी के मुताबिक प्राइवेट बस सेवा के दो रूट नोएडा को लखनऊ, गाजियाबाद और मेरठ जैसे महत्वपूर्ण शहरों से जोड़ेंगे। बॉटनिकल गार्डन से दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे (कौशांबी होकर), परतापुर-मेरठ एक्सप्रेसवे बाईपास और घंटाघर का रूट है। वहीं दूसरा रूट लखनऊ से नोएडा के लिए (यमुना एक्सप्रेसवे, आगरा में कुबेरपुर से लखनऊ एक्सप्रेसवे) है। बाकी दो अन्य रूट पूर्वांचल एक्सप्रेसवे और बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे पर हैं।

नोएडावासियों के लिए काफी फायदेमंद होगा

सहायक क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी (एआरटीओ) सियाराम वर्मा ने बताया कि राज्य परिवहन विभाग प्रदेश के चार महत्वपूर्ण एक्सप्रेसवे पर प्राइवेट बस संचालन सेवा मार्ग खोल रहा है। जल्द ही इसके लिए परमिट जारी होंगे। आवेदन प्राप्त होने के बाद मेरिट के आधार पर परमिट जारी किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि यह सेवा गौतमबुद्ध नगर (नोएडा) के लोगों के लिए विशेष रूप से फायदेमंद होगी, क्योंकि इनमें से दो मार्ग नोएडा से होकर गुजरेंगे।

लखनऊ में ही जमा होंगे आवेदन

अधिकारियों ने कहना है कि निजी ऑपरेटर 22 नवंबर तक लखनऊ के महात्मा गांधी मार्ग स्थित यूपीएसआरटीसी कार्यालय में अपने आवेदन जमा कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि अभी ऑनलाइन आवेदन स्वीकार नहीं किए जा रहे हैं। आवेदकों को 1,200 रुपये के आवेदन शुल्क के अलावा 200 रुपये का अदालती शुल्क भी जमा करना होगा।

डग्गेमार बसों पर लगेगी लगाम

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नोएडा बस यूनियन के अध्यक्ष संदीप धूपर ने कहा है कि स्टेज कैरिज परमिट जारी करने से अनधिकृत बस ऑपरेटरों पर लगाम लगेगी। इसके लिए उन्हें सही परमिट प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। इन सभी मार्गों पर यात्री वाहनों की मांग बहुत समय से है। यह केवल बस ऑपरेटरों को वैद्य परमिट प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित करेगी।

First published on: Nov 17, 2022 11:53 PM
संबंधित खबरें