---विज्ञापन---

हनुमानगढ़ में पाउडर वाला दूध पीने से कई बच्चे बीमार, बाल गोपाल योजना पर उठे सवाल

हनुमानगढ़: राजस्‍थान के हनुमानगढ़ से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां के हनुमानगढ़ के एक सरकारी स्‍कूल में दूध पीने के बाद शुक्रवार को 27 स्‍कूली छात्राएं बीमार हो गई। दूध पीने के बाद बच्चियों ने घबराहट, सिरदर्द और उल्टी होने की लगी जिसके बाद बच्चियों को तुरंत आनन-फानन में जिला चिकित्सालय […]

Edited By : Nirmal Pareek | Updated: Dec 2, 2022 23:41
Share :
Many children ill after drinking milk in Hanumangarh
हनुमानगढ़ के सरकारी स्कूल में दूध पीने से कई बच्चे बीमार

हनुमानगढ़: राजस्‍थान के हनुमानगढ़ से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां के हनुमानगढ़ के एक सरकारी स्‍कूल में दूध पीने के बाद शुक्रवार को 27 स्‍कूली छात्राएं बीमार हो गई। दूध पीने के बाद बच्चियों ने घबराहट, सिरदर्द और उल्टी होने की लगी जिसके बाद बच्चियों को तुरंत आनन-फानन में जिला चिकित्सालय के ट्रामा सेंटर में भर्ती में एडमिट करवाया गया। हालांकि इनमें से 22 लड़कियों की तबीयत सुधरने पर उन्‍हें अस्‍पताल से डिस्‍चार्ज कर घर भेज दिया है।

वहीं इस घटना से जिला प्रशासन और शिक्षा विभाग के अधिकारियों में हड़कंप मच गया है। बड़ी बात यह है कि हनुमानगढ़ जिले में मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना का शुभारंभ इसी स्कूल से जिला कलक्टर रुक्मणि रियार ने किया था।

दरअसल जिले में टाउन इलाके में स्थित राधाकिशन बिहानी राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में यह घटनाक्रम हुआ। आज करीब 10:00 बजे बाद जब बच्चे स्कूल पहुंचे तो उन्हें पाउडर का दूध दिया गया। पानी में मिलाकर दूध को गर्म किया और बच्चों को दिया गया तो कुछ देर बाद ही बच्चों की तबीयत खराब होने लगी।

बता दें राजस्थान सरकार ने पिछले दिनों ही पूरे प्रदेश में बाल गोपाल योजना शुरू की है। इस स्कीम के तहत प्रदेश के सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों को सरकार की ओर से मुफ्त दूध पीने के लिए दिया जाना है । इस योजना को इसी सप्ताह से मूर्त रूप दिया गया है और सोमवार से ही बच्चों के लिए दूध का प्रबंधन शुरू किया है।

मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना में मिड-डे-मील योजना के तहत सरकारी स्कूलों, मदरसों और विशेष प्रशिक्षण केन्द्रों के कक्षा 1 से 8वीं तक के छात्र-छात्राओं को सप्ताह में 2 दिन मंगलवार और शुक्रवार को पाउडर से तैयार दूध उपलब्ध कराया जाएगा। कक्षा 1 से 5वीं तक के स्टूडेंट को 150 मिलीलीटर और कक्षा 6 से 8वीं तक के स्टूडेंट को 200 मिलीलीटर दूध उपलब्ध कराया जाएगा।

First published on: Dec 02, 2022 05:06 PM
संबंधित खबरें