Friday, 23 February, 2024

---विज्ञापन---

कैबिनेट में 1 वैश्य, 2 ब्राह्मण, 3 राजपूत और 4 जाट; पढ़िए भजनलाल के मंत्रिमंडल का पूरा विश्लेषण

Rajasthan Cabinet Analysis in Hindi: मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा के मंत्रिमंडल में केवल एक महिला को जगह मिली है। वहीं जाट समुदाय के सबसे ज्यादा चार नेताओं को मंत्री बनाया गया है।

Edited By : News24 हिंदी | Updated: Dec 30, 2023 19:56
Share :
राजस्थान में हुआ कैबिनेट विस्तार

Rajasthan Cabinet Analysis in Hindi : राजस्थान में मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा की कैबिनेट का विस्तार शनिवार को हो गया। कुल 22 नेताओं ने मंत्री पद की शपथ ली जिनमें 12 कैबिनेट मंत्री हैं, पांच राज्य मंत्री हैं और पांच राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हैं। मुख्य मंत्री और दो उप मुख्यमंत्रियों (दीया कुमारी और प्रेमचंद बैरवा) को मिलाकर राजस्थान सरकार में 25 मंत्री हो गए हैं। पढ़िए इस कैबिनेट का पूरा विश्लेषण।

जातिवार कुछ ऐसा है कैबिनेट का गणित

कैबिनेट में दो ब्राह्मण हैं जिनमें से एक खुद मुख्यमंत्री शर्मा और दूसरे राज्य मंत्री बने संजय शर्मा हैं। वहीं, तीन राजपूत हैं जिनमें उपमुख्यमंत्री दीया कुमारी और कैबिनेट मंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर व राज्यवर्धन सिंह राठौड़ हैं।

जाट समुदाय के चार नेताओं को मंत्री बनाया गया है जिनमें कन्हैया लाल चौधरी और सुमित गोदारा कैबिनेट में शामिल किए गए हैं। झाबर सिंह खर्रा को राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और विजय सिंह चौधरी को राज्य मंत्री बनाया गया है।

इसके अलावा अनुसूचित जनजाति के तीन नेता मंत्री बनाए गए हैं। ये नेता हैं किरोड़ीलाल मीणा, बाबूलाल खराड़ी और हेमंत मीणा, तीनों को ही कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया है।

एससी-एसटी के तीन-तीन नेता बने मंत्री

अनुसूचित जाति के भी तीन नेता मंत्री बने हैं जिनमें से एक उपमुख्यमंत्री प्रेमचंद बैरवा हैं। वहीं, मदन दिलावर को कैबिनेट मंत्री और मंजू बाघमार को राज्य मंत्री बनाया गया है। मंजू वाघमार नए मंत्रिमंडल में शामिल अकेली महिला नेता हैं।

वैश्य समुदाय के नेता गौतम कुमार दक राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), पटेल समुदाय के जोगाराम पटेल कैबिनेट मंत्री और विश्नोई समुदाय के केके विश्नोई राज्य मंत्री बनाए गए हैं। भजनलाल शर्मा की कैबिनेट में केवल एक महिला को मंत्री पद दिया गया है।

बाकी समुदायों के ये नेता हैं मंत्रिमंडल में

इनके अलावा धाकड़ समाज से हीरालाल नागर (राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार), देवासी समाज से ओटाराम देवासी (राज्य मंत्री), गुर्जर समाज से जवाहर सिंह बेड़म (राज्य मंत्री), रावत समाज से सुरेश सिंह रावत (कैबिनेट मंत्री), सैनी समाज से अविनाश गहलोत (कैबिनेट मंत्री) और कुमावत समाज से जोराराम कुमावत (कैबिनेट मंत्री) हैं।

22 में से 17 नेता पहली बार बने हैं मंत्री

कैबिनेट मंत्री का पद पाने वाले राज्यवर्धन सिंह राठौड़, जोगाराम पटेल, बाबूलाल खराड़ी, सुरेश सिंह रावत, अविनाश गहलोत, जोराराम कुमावत, हेमंत मीणा, कन्हैयालाल चौधरी और सुमित गोदारा पहली बार मंत्री बने हैं। वहीं, स्वतंत्र प्रभार पाने वाले संजय शर्मा, गौतम कुमार दक, झाबर सिंह खर्रा और हीरालाल नागर को पहली बार मंत्री पद मिला है। राज्य मंत्री पद पाने वाले पांच में से चार नेता भी पहली बार मंत्री बने हैं।

ये भी पढ़ें: एक मंत्री ऐसे भी, जिन्होंने चुनाव लड़ने से पहले ही ले ली शपथ

ये भी पढ़ें: कौन हैं कच्चे घर में रहने वाले बाबूलाल खराड़ी, जो बने कैबिनेट मंत्री

First published on: Dec 30, 2023 06:05 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें